Asianet News Hindi

UN महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने ली दूसरी बार शपथ, बोले-बड़े और छोटे राष्ट्रों के बीच विश्वास कायम करूंगा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा कि वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों को बेहतर ढंग से जवाब देने के लिए यूएन को अपने साझा एजेंडा को आगे बढ़ाना है। इसके लिए कुछ मौलिक परिवर्तन की जरूरत है।

UN Secretary General Antonio Guterres takes oath for second term, cleared his goals DHA
Author
New York, First Published Jun 18, 2021, 10:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

न्यूयार्क। एंटोनियो गुटेरेस को दूसरी बार संयुक्त राष्ट्र संघ का महासचिव चुना गया। दूसरे कार्यकाल के लिए महासचिव पद की शपथ लेने के बाद एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की सेवा करना एक बहुत ही महान कर्तव्य है। हम सभी प्रकार के मतभेदों-विभाजनों के बावजूद यह दिखाया है कि हम साझा लक्ष्यों पर सहमत होने और आम समस्याओं को हल करने के लिए एक साथ आ सकते हैं। 

यह भी पढ़ेंः Nestle और Cargill को अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट से राहतः बाल मजदूरी और श्रमिकों के शोषण का नहीं चलेगा केस

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा कि वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों को बेहतर ढंग से जवाब देने के लिए यूएन को अपने साझा एजेंडा को आगे बढ़ाना है। इसके लिए कुछ मौलिक परिवर्तन की जरूरत है। हम एक ऐसी दुनिया में हैं जो बहुत बदल चुकी है। संयुक्त राष्ट्र चार्टर के वादे, सिद्धांत और मूल्य कायम हैं लेकिन हमें इसके वादों को जीवित रखने के लिए पूरी तरह से नए तरीकों से मिलकर काम करना होगा। 
एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि हमारे अस्तित्व और विकास के लिए मानवीय गरिमा को बनाए रखने वाले मानदंड कायम होने चाहिए। मैं यह सुनिश्चित करने के लिए अपना सबकुछ दूंगा कि बड़े और छोटे राष्ट्रों के बीच विश्वास का विकास हो, सहयोग के पुलों का निर्माण और विश्वास का सिलसिला मजबूत होता रहे। हम मिलकर चीजों को बदल सकते हैं, असंभव को संभव किया जा सकता है। 
उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा अपने पूरे जीवन में सार्वजनिक पद को हमेशा एक सेवा के रूप में देखा है। और यह जारी रहेगा। मैं हमेशा से यह मानता हूं और कहूंगा कि महासचिव को सभी सदस्य देशों की समान रूप से सेवा करनी चाहिए। महासचिव के पास कोई अपना एजेंडा नहीं है लेकिन संयुक्त राष्ट्र के चार्टर में शामिल है। हम मिलकर सभी स्थितियों से निपट सकते हैं। एक अकेले महासचिव के पास न तो सभी उत्तर हैं न ही अपने विचारों को थोपना चाहता है। वह संयुक्त राष्ट्र की एक अनूठी संयोजन की भूमिका का उपयोग करता है और एक मध्यस्थ, पुल या ट्रस्ट के रूप में काम करता है। 

यह भी पढ़ेंः ATS की बड़ी कार्रवाईः फेक रिफ्यूजी कार्ड बनाने वाले रोहिंग्या गिरोह का भंड़ाफोड़, यूपी में चार रोहिंग्या अरेस्ट

मानवीय गरिमा को सुनिश्चित करने के प्रयास सबसे महत्वपूर्ण: बोजकिर

महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर ने कहा कि एंटोनियो गुटेरेस ने संयुक्त राष्ट्र के इतिहास में एक चुनौतीपूण अवधि में संगठन का नेतृत्व किया है। आपने दूसरे कार्यकाल में अपना दृष्टिकोण निर्धारित करते समय महामारी से उबरने को प्राथमिकता देना उचित था। मुझे यह संदेह नहीं कि आप संयुक्त राष्ट्र की हमारी सबसे कमजोर कड़ी को मजबूत करने के लिए संबंध और सहयोग को बढ़ावा देने के लिए साथ रहेंगे और किसी को भी पीछे नहीं छोड़ेंगे। आपने महामारी के दौरान हर चुनौतियों में काम करते हुए सबको मदद के लिए प्रेरित किया। मानवीय गरिमा को सुनिश्चित करने के लिए आपने जो प्रयास किए वह सबसे महत्वपूर्ण है। सतत विकास, शांति और सुरक्षा हमारे प्रयासों के मूल में होनी चाहिए। 

यह भी पढ़ेंः मानसून सत्र की तैयारीः लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला बोले-बिना रुकावट के चले सत्र, कम हो नारेबाजी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios