Asianet News Hindi

अमेरिका का चीन पर आरोपः वैश्विक साइबर हैकिंग अभियान चला रहा चीनी सुरक्षा मंत्रालय

सोमवार की घोषणा में, अमेरिकी अधिकारियों ने औपचारिक रूप से चीनी सरकार को हैक करने के लिए दोषी ठहराया, जिसने माइक्रोसॉफ्ट ईमेल सेवा का उपयोग करके संयुक्त राज्य में व्यवसायों और सरकारी एजेंसियों को हैक किया। 

US and its allies alleged china for Global cyber hacking programme, White house released Fact sheet DHA
Author
Washington D.C., First Published Jul 19, 2021, 7:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाशिंगटन। यूएसए ने चीन पर साइबर हैकिंग अभियान का आरोप लगाया है। अमेरिका ने आरोप लगाया कि चीन का राज्य सुरक्षा मंत्रालय साइबर हैकिंग का एक ग्लोबल अभियान चला रहा है। विशेष रूप से इस साल की शुरुआत में बीजिंग की ओर से काम करने वाले हैकर्स के लिए एक बड़े माइक्रोसॉफ्ट हमले का खुलासा किया। 

सोमवार की सुबह व्हाइट हाउस से जारी किए गए फैक्ट शीट में कहा गया है कि चीन ने एक और साजिश शुरू कर दी है।  अमेरिका इन आरोपों के साथ नाटो, यूरोपीय संघ, ब्रिटेन, आस्ट्रेलिया, जापान, न्यूजीलैंड और कनाडा के साथ खड़ा है।

अमेरिकी वरिष्ठ प्रशासन अधिकारी ने घोषणा से पहले संवाददाताओं से कहा, ‘संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे सहयोगी और साझेदार दुर्भावनापूर्ण साइबर गतिविधियों के पीआरसी (पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के) पैटर्न के विवरण को उजागर करने के साथ इसका मुकाबला करने के लिए आगे की कार्रवाई कर रहे हैं।‘

अधिकारी ने कहा कि अमेरिकी संघीय एजेंसियां, जिनमें राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद, एफबीआई और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी शामिल हैं, 50 से अधिक तकनीकों और प्रक्रियाओं की रूपरेखा तैयार करेंगी, जिनका उपयोग चीनी एजेंसी अमेरिकी नेटवर्क को टारगेट करने में करते हैं।

उधर, चीनी अधिकारियों ने पहले ही कहा है कि चीन भी हैकिंग का शिकार है और सभी प्रकार के साइबर हमलों का विरोध करता है।

जबकि यूएस के अधिकारी ने कहा, ‘हम दिखाएंगे कि कैसे पीआरसी का एमएसएस, राज्य सुरक्षा मंत्रालय, आपराधिक अनुबंध हैकर्स का उपयोग अपने निजी लाभ सहित वैश्विक स्तर पर बिना लाइसेंस के साइबर संचालन करने के लिए करता है।‘

सोमवार की घोषणा में, अमेरिकी अधिकारियों ने औपचारिक रूप से चीनी सरकार को हैक करने के लिए दोषी ठहराया, जिसने माइक्रोसॉफ्ट ईमेल सेवा का उपयोग करके संयुक्त राज्य में व्यवसायों और सरकारी एजेंसियों को हैक किया। माइक्रोसॉफ्ट Microsoft (MSFT.O) पहले ही चीन पर जिम्मेदारी लेने का आरोप लगा चुका है। 

ऑपरेशन ने विशेष रूप से माइक्रोसॉफ्ट के एक्सचेंज प्रोग्राम, एक सामान्य ईमेल सॉफ्टवेयर में कमजोरियों का फायदा उठाया।  बाइडेन प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चीनी साइबर गतिविधियों के बारे में अमेरिकी चिंताओं को वरिष्ठ चीनी अधिकारियों के साथ उठाया गया है।

यह भी पढ़ें:

मुख्तार अब्बास नकवी होंगे राज्यसभा में बीजेपी के उपनेता

Pegasus Spyware मामलाः अश्विनी वैष्णव ने कहा- मानसून सत्र के पहले रिपोर्ट आना संयोग नहीं, सोची समझी साजिश

आजादी की 75वीं वर्षगांठः रेलवे दे सकता है 10 वंदेभारत ट्रेनों का तोहफा

मानसून सत्र: PM मोदी ने यूं किया विपक्ष को चैलेंज-'जिसे बाहों में टीका लग जाता है, वो बाहुबली बन जाता है'

संसद का मानसून सत्र: आक्रामक मूड में विपक्ष, पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से नाराज TMC सांसद साइकिल से पहुंचे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios