वाशिंगटन डीसी. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने अन्य देशों के साथ क्षेत्रीय विवादों को उकसाने के लिए चीन पर तीखा हमला किया। पोम्पियो ने कहा, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने हाल ही में भूटान के साथ सीमा विवाद किया। हिमालय की पर्वत श्रेणियों से लेकर वियतनाम के जलक्षेत्र के सेनककु द्वीपों और उससे आगे तक का यह विवाद है। बीजिंग के पास क्षेत्रीय सीमा विवादों को भड़काने का एक पैटर्न है। दुनिया को चीन को इस तरह की बदमाशी की अनुमति नहीं देनी चाहिए।

"अपने ही लोगों से डरता है चीन"
उन्होंने कहा, बीजिंग अपने ही लोगों को खुली सोच के लिए आजादी देने से डरता है। पोम्पियो ने कहा, सीसीपी में एक बहुत बड़ी विश्वसनीयता की समस्या है।

"चीन ने कोरोना की सच्चाई नहीं बताई"
उन्होंने कहा, चीन दुनिया को इस वायरस के बारे में सच्चाई बताने में विफल रहा। अब सैकड़ों लोग मर चुके हैं।  

भारत से चल रहे विवाद पर क्या कहा?
पोम्पियो ने भारत और चीन से विवाद पर कहा, मैंने इस संबंध में विदेश मंत्री एस जयशंकर से कई बार बात की है। चीन ने इस मामले में अविश्वसनीय रूप से आक्रामक कार्रवाई की और भारतीयों ने उस पर बेहतरीन प्रतिक्रिया दी।  

पोम्पियो ने टिक टॉक को लेकर क्या कहा?
टिक टॉक को लेकर पोम्पियो ने कहा, मैं इसे एक व्यापक संदर्भ में रखना चाहता हूं। हम यह सुनिश्चित करने के लिए निरंतर मूल्यांकन में लगे हुए हैं कि हम अमेरिकी नागरिकों की गोपनीयता और उनकी जानकारी की रक्षा करें।