Asianet News HindiAsianet News Hindi

Chanakya Niti: इन 3 से संतुलित व्यवहार करना चाहिए, इनके ज्यादा निकट न जाएं और न ही अधिक दूर

आचार्य चाणक्य को विष्णु गुप्त और कौटिल्य के नाम से भी जाना जाता है। आचार्य चाणक्य (Chanakya) को कूटनीति, राजनीति और अर्थशास्त्र में महारत हासिल थी। इनके द्वारा लिखित नीति शास्त्र की बातें मनुष्य के जीवन को बहुत ही करीब से स्पर्श करती हैं।

Chanakya Niti Life Management keep balance in behavior with these people MMA
Author
Ujjain, First Published Nov 23, 2021, 7:01 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. आज भी चाणक्य नीति की बातें लोगों में बहुत लोकप्रिय हैं। चाणक्य नीति (Chanakya Niti) में आचार्य ने सुखी जीवन के रहस्य बताए हैं और ऐसी कई बातों का जिक्र किया है जो लोगों के लिए उनके दुख की वजह बन सकती हैं। आचार्य ने अपने ग्रंथ नीति शास्त्र में तीन चीजों का जिक्र किया है जिनसे न तो ज्यादा दूरी अच्छी है और न ही नजदीकी। आगे जानिए वो कौन-सी 3 चीजें और उनसे हमें क्या नुकसान हो सकता है…

श्लोक
अत्यासन्ना विनाशाय दूरस्था न फलप्रदा:,
सेवितव्यं मध्याभागेन राजा बहिर्गुरू: स्त्रियं:

इस श्लोक में आचार्य चाणक्य ने आर्थिक या सामाजिक रूप से शक्तिशाली व्यक्ति, आग और स्त्री तीनों से ही संतुलित व्यवहार करने की नसीहत दी है। आचार्य का कहना था कि इनसे न तो बहुत ज्यादा दूरी अच्छी है और न ही इनके बहुत ज्यादा करीब होना चाहिए। ऐसा होने पर आपको ही नुकसान पहुंच सकता है।

शक्तिशाली व्यक्ति
यदि व्यक्ति अत्यंत शक्तिशाली और नामी शख्सियत के करीब हो जाए तो उसका स्वयं का वर्चस्व समाप्त हो जाता है। कई बार उसे शक्तिशाली व्यक्ति के अधीन काम करना पड़ता है। ऐसे में उसका इस्तेमाल भी हो सकता है, लेकिन अगर वो उनसे बहुत ज्यादा दूरी बना ले तो उसे कई तरह के लाभ नहीं मिल पाएंगे। शक्तिशाली व्यक्ति से आपके कई काम भी निकल जाते हैं। इसलिए ऐसे लोगों से ज्यादा दूरी और करीबी, दोनों ही ठीक नहीं होते।

अग्नि
अग्नि को लेकर आचार्य चाणक्य ने कहा अग्नि से ही भोजन पकता है। यदि बर्तन को अग्नि से दूर रखा जाएगा तो खाना नहीं पक पाएगा। लेकिन अगर इसे बहुत ज्यादा करीब रखा जाएगा तो इससे जलने का डर रहता है। इसलिए अग्नि से संतुलित व्यवहार रखना चाहिए नहीं तो इससे नुकसान हो सकता है।

स्त्री
आचार्य चाणक्य स्त्री को लेकर कहते हैं कि स्त्री को कभी कमजोर नहीं समझना चाहिए। समाज में स्त्री की भी उतनी ही भूमिका है जितनी एक पुरुष की. लेकिन इनके ज्यादा करीब जाने से आप गलत राह पर जा सकते हैं या ईर्ष्या के शिकार हो सकते हैं। इससे आपकी गलत छबि बन सकती है। वहीं ज्यादा दूरी से भी आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए महिलाओं के साथ संतुलित व्यवहार करें तो अच्छा है।

चाणक्य नीति के बारे में ये भी पढ़ें

Chanakya Niti: पैसा आने के बाद क्या करना चाहिए और किन बातों से बचना चाहिए, जानिए

Chanakya Niti: जिस व्यक्ति की पत्नी में होते हैं ये 3 गुण, वो होता है किस्मत वाला

Chanakya Niti: लाइफ में सक्सेस पाने के लिए सभी को याद रखना चाहिए ये 10 बातें

चाणक्य नीति: जिन घरों में होते हैं ऐसे काम वहां नहीं ठहरतीं देवी लक्ष्मी, बनी रहती है दरिद्रता

चाणक्य नीति: इन 8 पर कभी नहीं होता दूसरों के दु:ख-दर्द का असर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios