Asianet News HindiAsianet News Hindi

Dussehra 2022: मरने से पहले रावण ने किसे दिया था उपदेश? जानें वो 3 बातें जो आपके लिए भी हैं काम की

Dussehra 2022: हर साल विजयादशमी पर रावण को पुतलों का दहन कर ये पर्व मनाया जाता है। ये उत्सव बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। इस दिन भगवान श्रीराम के जीवन के साथ-साथ रावण से भी कुछ बातें सीखनी चाहिए। 
 

Dussehra 2022 Vijayadashami 2022 Interesting facts about Ravana MMA
Author
First Published Oct 5, 2022, 9:13 AM IST

उज्जैन. जब भगवान श्रीराम ने रावण पर तीर चलाकर उसका वध किया तो कुछ देर तक रावण चेतन अवस्था में था यानी होश में था। उस समय भगवान श्रीराम ने लक्ष्मण से कहा कि रावण महाज्ञानी है। उसकी मृत्यु से पहले तुम जाकर उससे उपदेश प्राप्त करो। तब लक्ष्मण मरणासन्न अवस्था में पड़े रावण के सिर के नजदीक जाकर खड़े हो गए। कुछ देर बाद लक्ष्मणजी वापस रामजी के पास लौटकर आए। तब भगवान ने कहा कि यदि किसी से ज्ञान प्राप्त करना हो तो उसके चरणों के पास खड़े होना चाहिए। यह बात सुनकर लक्ष्मण जाकर इस रावण के पैरों की ओर खड़े हो गए। तब रावण ने ये 3 बातें लक्ष्मण को बताई…

शुभ काम में देरी नहीं
राक्षसराज रावण ने लक्ष्मण से कहा कि “शुभ काम में कभी देरी नहीं करना चाहिए। शुभ काम में जितनी देर करेंगे, उतनी ही परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। शुभ कार्य जितनी जल्दी हो कर डालना और अशुभ को जितना टाल सकते हो टाल देना चाहिए यानी शुभस्य शीघ्रम्। मैंने प्रभु श्रीराम को पहचानने में देर कर दी, इसी के चलते आज मेरी ये हालत हुई है।

दुश्मन को कम न आंकें
रावण ने दूसरी बात लक्ष्मण से कही कि “अपने प्रतिद्वंद्वी यानी दुश्मन को कभी कमजोर नहीं  समझना चाहिए, मैंने यह भूल कर गया। मैंने जिन्हें साधारण वानर और भालू समझा उन्होंने मेरी पूरी सेना को नष्ट कर दिया। मैंने जब ब्रह्माजी से अमरता का वरदान मांगा था तब मनुष्य और वानर के अतिरिक्त कोई मेरा वध न कर सके ऐसा कहा था क्योंकि मैं मनुष्य और वानर को तुच्छ समझता था। मेरी मेरी गलती हुई।”

अपने रहस्य किसी को न बताएं
रावण ने तीसरी बात लक्ष्मण से कही “ अगर अपने जीवन का कोई राज हो तो उसे किसी को भी नहीं बताना चाहिए। यहां भी मैं चूक गया क्योंकि विभीषण मेरी मृत्यु का राज जानता था। ये मेरे जीवन की सबसे बड़ी गलती थी। मैंने उसका अपमान कर राज्य से निकाल दिया और उसने मेरे सारे रहस्य श्रीराम को बता दिए, जिसके चलते आज लंका का सर्वनाश हो गया।”
 

ये भी पढ़ें-

Happy Dussehra 2022: अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ शेयर करें ये बधाई संदेश और दें ’दशहरे की शुभकामनाएं’


Dussehra 2022: सभी को सीखनी चाहिए रावण की गलतियों से ये 5 बातें, लाइफ रहेगी टेंशन फ्री

Dussehra 2022: रावण से जुड़े ये 6 रहस्य चौंका देंगे आपको, कोई मानता है सच-कोई झूठ
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios