Asianet News HindiAsianet News Hindi

Kartik Purnima 2021: आज छत्र योग में करें दीपदान, तीर्थ स्नान और दान, जीवन में बनी रहेगी खुशहाली

आज (19 नवंबर, शुक्रवार) कार्तिक पूर्णिमा है यानी आज इस महीने का अंतिम दिन है। धर्म ग्रंथों में इस तिथि का विशेष महत्व बताया गया है। कार्तिक पूर्णिमा पर तीर्थ स्नान, व्रत, भगवान विष्णु-लक्ष्मी की पूजा और दीपदान करने की परंपरा है। इस दिन किए गए स्नान और दान से कभी न खत्म होने वाला पुण्य मिलता है।

Kartik Purnima on 19th November Astrology Jyotish Hinduism deep daan for happiness in life MMA
Author
Ujjain, First Published Nov 19, 2021, 6:30 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. कार्तिक पूर्णिमा पर व्रत, पूजा-पाठ और दीपदान करने से जाने-अनजाने में हुए हर तरह के पाप खत्म हो जाते हैं। पुराणों में भी इस दिन को पुण्य देने वाला पर्व बताया गया है। पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार, इस बार कार्तिक पूर्णिमा पर छत्र योग और चंद्रमा अपनी उच्च राशि में रहेगा। साथ ही चंद्रमा पर गुरु की दृष्टि रहेगी। इस शुभ संयोग में भगवान विष्णु की पूजा और व्रत का फल और बढ़ जाएगा।

दीपदान का महत्व
ज्योतिषाचार्य डॉ. मिश्र के अनुसार, पुराणों में कार्तिक महीने के आखिरी दिन दीपदान का बहुत महत्व बताया गया है। इस महीने में दीपदान करने से कई पर्व का फल मिलता है। दीपदान का अर्थ होता है आस्था के साथ दीपक प्रज्वलित करना। अग्निपुराण में कहा गया है कि दीपदान से बढ़कर न कोई व्रत है, न था और न होगा। पद्मपुराण में भी भगवान शिव ने भी अपने पुत्र कार्तिकेय जी को दीपदान का माहात्म्य बताया है।

घी या तिल के तेल का दीपक जलाकर करें दीपदान
कार्तिक मास में अपने घर के आंगन में तुलसी जी के पास, अपने घर के पूजन स्थान पर, मंदिरों में या गंगा घाट पर इत्यादि जगहों पर घी का एवं तिल के तेल का दीपक जला कर दीप दान कर सकते हैं। ऐसा करने से सभी व्रत का पुण्य फल प्राप्त किया जा सकता है। व अपने पितरों को प्रसन्न कर सकते हैं।

कार्तिक पूर्णिमा को गंगा स्नान से मिलता है फल
कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान करने से सालभर किए गए सभी पाप खत्म होते हैं। मन से बुरी भावनाओं का विनाश होता है व अच्छे विचारों का वास होता है। माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से सालभर के गंगा स्नान का फल मिलता है। इस दिन सिर्फ गंगा ही नहीं बल्कि अलग-अलग क्षेत्रों में पवित्र मानी जाने वाली व पूजी जाने वाली नदियों और सरोवरों में भी श्रद्धालु स्नान कर पुण्य अर्जित करते हैं।

कार्तिक मास के बारे में ये भी पढ़ें

Kartik Purnima 2021: कार्तिक पूर्णिमा पर भगवान विष्णु ने लिया था मत्स्य अवतार, इसे देव दीपावली भी कहते हैं

Kartik Purnima 2021: कार्तिक पूर्णिमा 19 नवंबर को, धन लाभ के लिए इस दिन करें देवी महालक्ष्मी स्तुति का पाठ

19 नवंबर तक रहेगा कार्तिक मास, इस महीने में दान करनी चाहिए ये ये खास चीजें, इस विधि से करें नदी स्नान

30 दिनों का रहेगा कार्तिक मास, 5 गुरुवार होना शुभ, इस महीने 12 दिन रहेंगे महिलाओं के व्रत-उपवास

शुरू हो चुका है कार्तिक मास, शुभ फल पाने के लिए इस महीने में क्या करें और क्या करने से बचें

कार्तिक मास में किया जाता है तारा स्नान और तारा भोजन, जानिए क्या है ये परंपरा?

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios