Asianet News HindiAsianet News Hindi

घर भूल आए हैं हेलमेट तो ना करें चिंता, Helmet man फ्री में करायेगा उपलब्ध, Greater Noida में मिलेगी सुविधा

हेलमेट मैन (Helmet man) राघवेंद्र  Road Accident  में जान गंवाने वालों की सुरक्षा करने 7 दिनों के लिए फ्री में हेलमेट उपलब्ध करायेंगे। Traffic Police का कहना है कि वे राघवेंद्र की इस कोशिश में सहयोग करेंगे। गौतम बुद्ध नगर के परी चौक पर ये हेलमेट बैंक सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक साल के 365 दिन हेलमेट बैंक  खुला रहेगा। 

Helmet man Raghavendra in Greater Noida will give you the helmet at no charge auto news  rps
Author
Bhopal, First Published Nov 16, 2021, 6:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ऑटो डेस्क । राजधानी दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में आप दो पहिया वाहन चला रहे हैं, जल्दबाजी में आप अपना हेलमेट (Helmet) घर या ऑफिस में  भूल गए हैं, तो चिंता ना करें। वाहन (Vehicle) चलाते वक्त आपके पास हेलमेट नहीं है तो आप हेलमेट बैंक से एक हेलमेट बिना किसी भुगतान के ले सकते हैं। इस हेलमेट बैंक में वयस्कों से लेकर  में 4 साल के बच्चे तक को हेलमेट मिल जाएगा। गौतम बुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में पहला हेलमेट बैंक ओपन होने जा रहा है।  

हेलमेट मैन (Helmet man) राघवेंद्र रोड एक्सीडेंट (Road Accident) में जान गंवाने वालों की सुरक्षा के लिए इसकी तैयारियों में लगे हुए हैं। ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) का कहना है कि वे राघवेंद्र की इस कोशिश में सहयोग करेंगे। यातायात पुलिस के मुताबिक ये हेलमेट बैंक गौतम बुद्ध नगर के परी चौक  पर  सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक साल के 365 दिन हेलमेट बैंक  खुला रहेगा। गौतम बुद्ध नगर के अलावा दूसरा हेलमेट बैंक नोएडा (Noida) में खोलने की तैयारी जारी है।
 
फ्री उपलब्ध होगा हेलमेट

हेलमेट बैंक की व्यवस्था के अनुसार आधार कार्ड या दूसरी आईडी दिखाने पर 7 दिन के लिए हेलमेट उपलब्ध कराया जाएगा। इस हेलमेट के लिए रेंट भी नहीं लिया जाएगा। बाइक में दूसरी सवारी को भी हेलमेट उपलब्ध कराया जाएगा। हेलमेट मैन राघवेंद्र ने इसके लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से 200 वर्ग फुट जमीन देने की मांग की है। वहीं ट्रैफिक पुलिस का कहना है कि हेलमेट मैन के मांग पत्र को संबंधित विभागों को भेजा जाएगा। 

जिला प्रशासन ने नहीं दी क्रेडिट
राघवेंद्र बताते हैं कि गौतमबुद्ध नगर जिले में दो साल पहले नो हेलमेट नो पेट्रोल की शुरुआत जिला प्रशासन के सहयोग से शुरू किया था। लेकिन इसका मुझे क्रेडिट नहीं दिया गया। वहीं उनका कहना है कि कहीं पर भी हेलमेट बांटने जाओ तो पहले आदेश की जरुरत पड़ती है। इससे काम प्रभावित होता है। 

राघवेंद्र ने छेड़ी बड़ी मुहिम
अपने सबसे अच्छे दोस्त की सड़क दुर्घटना में मुत्यु हो जाने के बाद ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के रहने वाले  हेलमेट मैन (Helmet man) राघवेन्द्र की जिंदगी का मकसद सड़क पर जीवन बचाना बन गया है। सड़क दुर्घटना (Road Accident) में किसी बाइक या मोपेड सवार की मौत (Death) न हो, इसका बीड़ा उन्होंने उठाया  है। राघवेन्द्र ने इसके लिए पूरे देश में मुहिम छेड़ दी है। वे इसके लिए खुद का घर, पुश्तैनी जमीन, पत्नी के गहने तक बेच चुके हैं। राघवेंद्र का कहना है कि जब तक मैं हूं, कोशिश करता रहूंगा किसी के घर का चिराग न बुझे, किसी की सड़क दुर्घटना में मौत न हो। राघवेंद्र कीइस जिद की वजह से लोग उन्हें हेलमेट मैन कहने लगे हैं। 

एक्सीडेंट के समय नहीं लगाया था हेलमेट
बता दें कि  बिहार के कैमूर के रहने वाले राघवेंद्र का एक दोस्त रोड एक्सीडेंट में घायल हो गया था। जिसके 12 दिन बाद उसकी मौत हो गई थी। जिस समय उसका एक्सीडेंट हुआ वो हेलमेट नहीं लगाया हुआ था। इससे राघवेंद्र इतने व्यथित हुए कि उन्होंने सड़क दुर्घटना को रोकने के लिए मुहिम छेड़ दी। 
ये भी पढ़ें-
आ गई Repsol Honda Team Edition, नए मॉडल में किए गए बड़े बदलाव, देखें इसके शानदार फीचर
अब आ रहा New Maruti Celerio का CNG वेरिएंट, देखें इसके धांसू फीचर्स और दमदार इंजन
PQWL, GNWL, PNR, WL, RSWL रेलवे में इन शॉर्टफॉर्म का क्या है Meaning, देखें पूरी डिटेल
Renault Kiger कारों के इन 23 वेरिएंट्स की है जबरदस्त डिमांड, कीमत इतनी कम की आप भी कर देंगे बुक
ओला के सीईओ Bhavish Aggarwal ने क्यों कहा- अब रुलाओगे क्या, देखें कैसी रही Ola S1 की Ride

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios