Asianet News HindiAsianet News Hindi

Muzaffarpur Eye Hospital: एक दिन में हुआ था 65 लोगों का ऑपरेशन, 16 की निकालनी पड़ी आंखें

मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में 22 नवंबर को मोतियाबिंद कैंप लगा था। एक दिन में 65 लोगों की आंख का ऑपरेशन हुआ। इनमें से 26 के एक आंख की रोशनी चली गई। 16 लोगों की आंखें निकालनी पड़ी।

Muzaffarpur Eye Hospital people lost eyesight after cataract operation VVA
Author
Muzaffarpur, First Published Dec 2, 2021, 8:25 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुजफ्फरपुर: मोतियाबिंद के चलते आंखों से दिखना कम हुआ तो नई रोशन की उम्मीद लिए मरीज बिहार के मुजफ्फरपुर के आई हॉस्पिटल (Muzaffarpur Eye Hospital) में लगे कैंप में पहुंचे। उम्मीद थी कि डॉक्टर साहब ऑपरेशन करेंगे और फिर से सबकुछ साफ-साफ दिखना शुरू हो जाएगा, लेकिन 26 लोगों के लिए आंख का ऑपरेशन किसी भयानक सपने के सच होने जैसा साबित हुआ। 

सभी की एक आंख की रोशनी चली गई। आंख में इन्फेक्शन फैल जाने के चलते 16 लोगों की आंखें निकालनी पड़ी। कहा जा रहा है कि यह आंकड़ा बढ़ सकता है। 22 नवंबर को आई हॉस्पिटल में लगे मोतियाबिंद कैंप में 65 लोगों का ऑपरेशन हुआ था। कई मरीजों को चार घंटे बाद ही आंख में दर्द शुरू हो गया था। अगले दिन मरीजों की जब पट्टी खुली तो उन्हें दिखाई नहीं दे रहा था।

ऑपरेशन के बाद हुए संक्रमण के कारण 23 नवंबर को गुपचुप तरीके से चार लोगों की आंखें निकाली गई थी। एक दिन पहले दो लोगों की आंखें निकालनी पड़ी थी। आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद आंख गंवाने वालों की संख्या जैसे-जैसे बढ़ रही है, लोगों का गुस्सा भी बढ़ रहा है। 29 नवंबर को सिविल सर्जन तक शिकायत पहुंची तो मामला उजागर हुआ। गंभीर संक्रमण के शिकार 15 मरीजों को पटना भेजा गया है।

चल रही जांच
मामले ने तूल पकड़ा तो सरकार नींद से जागी और जांच का आदेश दिया। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि सिविल सर्जन के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई है। टीम मामले की जांच कर रही है। जो भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें बख्सा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। 

बिहार स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद कैंप से जुड़े मामले की जांच रिपोर्ट जिला स्वास्थ्य प्रशासन से मांगी है। बुधवार को सिविल सर्जन डॉ. विनय कुमार शर्मा ने मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल और एसकेएमसीएच में भर्ती मरीजों से पूछताछ की। उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच में मामला लापरवाही का लग रहा। अस्पताल को फिलहाल बंद कर दिया गया है।  

 

ये भी पढ़ें

Omicron: 24 देशों में पहुंचा कोरोना का नया वैरिएंट, WHO ने किया डराने वाला दावा

Omicron: कोरोना के नए वैरिएंट की चपेट में आया अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका से लौटा था संक्रमित

पुतिन की दिल्ली यात्रा के दौरान AK-203 सौदे पर भारत-रूस करेंगे साइन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios