Salaam Venky review : काजोल, विशाल जेठवा ने दर्शकों को किया इमोशनल, देखें कहां कमज़ोर हुई कहानी

| Dec 09 2022, 01:38 PM IST

Salaam Venky review : काजोल, विशाल जेठवा ने दर्शकों को किया इमोशनल, देखें कहां कमज़ोर हुई  कहानी

सार

रेवती द्वारा निर्देशित, यह फिल्म 24 वर्षीय शतरंज खिलाड़ी कोलावेन्नु वेंकटेश ( Kolavennu Venkatesh ) की ट्रू स्टोरी से इंस्पायर है । ये मूवी  काल्पनिक उपन्यास द लास्ट हुर्रा ( The Last Hurrah ) पर बेस्ड है। 

एंटरटेनमेंट डेस्क, Salaam Venky review : सलाम वेंकी एक इमोशनल फिल्म है । यह आपको रोने पर मजबूर कर देती है, इसे देखते हुए आप मानवीय भावनाओं शिखर पर पहुंचते हैं। यह एक ट्रू और इंस्पायर करने वाली कहानी है, जो बताती हैं कि ना केवल जीने बल्कि यहां मरने की अनुमति दी जानी चाहिए, ये फिल्म ठीक तरह से कनेक्ट नहीं करती है, ये बहुत गहरा असर नहीं छोड़ती है। 

इस फिल्म में कैमियो करने वाले आमिर खान  को भी इस मूवी ने बहुत प्रभावित किया है।  मिस्टर परफेक्सनिस्ट ने इस मूवी के लेकर अपना रिव्यू  दिया है। 

Subscribe to get breaking news alerts

 

 

सच्ची कहानी से इंस्पायर है सलाम वेंकी 

रेवती द्वारा निर्देशित, यह फिल्म 24 वर्षीय शतरंज खिलाड़ी कोलावेन्नु वेंकटेश ( Kolavennu Venkatesh ) की ट्रू स्टोरी से इंस्पायर है । ये मूवी  काल्पनिक उपन्यास द लास्ट हुर्रा ( The Last Hurrah ) पर बेस्ड है। सलाम वेंकी इच्छामृत्यु जैसे विषय को उजागर करने की कोशिश करने वाली एक दिलचस्प कहानी है, हालांकि इसकी एडीटिंग कमज़ोर है। फ़र्स्ट हाफ़ में ये साफ नज़र आता है, कुछ जगह बेवजह ड्रामा देखने को मिलता है। 

वेंकी की मां नहीं मानती हार

इस फिल्म में गंभीर रूप से बीमार वेंकटेश कृष्णन उर्फ ​​वेंकी (विशाल जेठवा) की कहानी है, जो ड्यूचेन मस्कुलर डिस्ट्रॉफी से पीड़ित है, और उसकी मां सुजाता प्रसाद (काजोल) उनको लेकर बहुत इमोशनल है। वहीं डॉक्टरों ने भविष्यवाणी की थी कि वेंकी 16 साल की उम्र के बाद जीवित नहीं रहेगा, हालांकि वह 24 साल की उम्र में मेडीकल साइंस को चुनौती देना जारी रखता है।  वहीं उनकी मां वेंकी को हर हाल में बेहतर देखना चाहती हैं ।

इच्छामुत्यु को वैध करने पर कानूनी लड़ाई 

वहीं वेंकी मरने से पहले अपने अंग दान करना चाहता है, और अपनी मां से इच्छामृत्यु की अपील करने का आग्रह करता है, लेकिन सुजाता उसकी ये  अंतिम इच्छा पूरी नहीं कर सकती। सलाम वेंकी अंत तक  राज्य बल्कि देश के कानून को चुनौती देते हुए सभी के दिलों पर एक छाप छोड़ते हैं। 

काजोल की दमदार एक्टिंग

एक सिंगल मदर के रूप में काजोल ने इस किरदार में अपना सब कुछ झोंक दिया है। इसमें उनकी कशमकश दिखाई देती है, जहां वह अपने बेटे की इच्छा से मृत्यु की अंतिम इच्छा को पूरा करे या नहीं । इसमें  उनके पास एक बेहद मजबूत स्क्रीन प्रेजेंस दिखती है। वहीं विशाल जेठवा भी अपने  किरदार में बेहतर दिखे हैं। 


ये भी पढ़ें- 
5 PHOTOS में देखें आखिर बॉलीवुड के इस सुपरस्टार को देखकर क्यों हो रहा लोगों को कन्फ्यूजन
विजय-अजित-चिंरजीवी की होगी BOX OFFICE पर जबरदस्त भिंड़त, एक साथ रिलीज हो रही तीनों की
शत्रुघ्न सिन्हा ने इस एक्ट्रेस से की बेइंतहा मोहब्बत, पूनम से शादी के बाद भी नहीं छोड़ा था पहली वाली का पीछा
पवन कल्याण के क्रेजी फैंस ने इस वजह से सुसाइड करने की दी धमकी, देखें डिटेल

 
Read more Articles on