Asianet News HindiAsianet News Hindi

अलीबाबा ने 3 महीने में अपने 10000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, ये रही बड़ी वजह

अलीबाबा ने अपने 10,000 कर्मचारियों को अलविदा कह दिया है। कंपनी के खर्च में कटौती करने के लिए अलीबाबा ने यह फैसला लिया है। साथ ही कहा है कि इस साल कंपनी 6000 नए यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट को अपने साथ जोड़ेगी।

Alibaba Lays Off 10000 Employees In 3 Months know detail MAA
Author
New Delhi, First Published Aug 11, 2022, 11:41 AM IST

बिजनेस डेस्कः चीन की बड़ी टेक्नोलॉजी ग्रुप अलीबाबा ने देश में 10,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। धीमी रफ्तार से हो रही बिक्री और गिरती अर्थव्यवस्था के बीच खर्च में कटौती करने के लिए कंपनी ने यह फैसला लिया है। साउथ चाइना मॉर्निग पोस्ट के मुताबिक जून तिमाही के दौरान 9,241 से अधिक कर्मचारियों ने कंपनी को अलविदा कह दिया है। कंपनी ने अपने कुल कर्मचारियों की संख्या को घटाकर 2,45,700 कर दिया है।

फर्म की पहली गिरावट
रिपोर्ट के मुताबिक इससे दक्षिण चीन मॉर्निग पोस्ट के मालिक अलीबाबा के कर्मचारियों की संख्या में काफी गिरावट दर्ज की गई है। इस वर्ष जून तक 13,616 कर्मचारियों ने कंपनी को अलविदा कहा। मार्च 2016 के बाद से कंपनी की यह पहली गिरावट है। अलीबाबा के चेयरमैन और सीईओ डेनियल झांग योंग ने कहा कि कंपनी इस साल करीब 6,000 नए यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट्स को अपने साथ लाएगी।

अलीबाबा के इनकम में गिरावट
अलीबाबा ने जून तिमाही में शुद्ध आय में 50 फीसदी की गिरावट दर्ज की है। 22.74 अरब युआन (3.4 अरब डॉलर) की गिरावट हुई है। पिछले साल इस वक्त इनकम 45.14 अरब युआन थी। चीन में बिजनेस एक्टिविटी का हाल काफी बुरा है। इसी का असर अलीबाबा के कारोबार पर भी पड़ा है। 

चीनी रेगुलेटर कर रहे हैं कड़ी कार्रवाई
चीनी रेगुलेटर ऑथोरिटी इंटरनेट क्षेत्र में अपना प्रभुत्व समाप्त करने के लिए अलीबाबा और एंट ग्रुप जैसे घरेलू टेक्निकल जाएंट पर कार्रवाई कर रही है। पिछले महीने एक रिपोर्ट की काफी चर्चा हुई थी। रिपोर्ट में आया था कि अलीबाबा के फाउंडर और अरबपति जैक मा (Jack Ma) एंट ग्रुप (Ant Group) का नियंत्रण अपने हाथों से छोड़ने वाले हैं। कहा गया था कि जैक मा पर सरकारी रेगुलटरी काफी दबाव दे रही है। बता दें कि अलीबाबा 1999 में स्थापित की गई थी। 

यह भी पढ़ें- Mukesh Ambani Salary: मुकेश अंबानी ने दो सालों से नहीं ली है सैलरी, 11 साल पहले भी लिया था ऐसा ही एक फैसला

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios