Asianet News HindiAsianet News Hindi

आधी कीमत पर मिलेंगी दवाइयां, 169 शहरों में खुलेंगे 188 मेडिकल स्टोर्स, देखें डिटेल

देश में सबसे महंगा इलाज है, कोरोनाकाल में आम आदमी  की जब कमाई पर असर पड़ा है ऐसे में उसे घर में किसी के बीमार हो जाने पर पूरी जमा पूंजी इलाज में खर्च हो रही है, गांवों में को ग्रामीण दमीन-मकान बेचकर इलाज कराने मजबूर हो जाता हैं, वहीं इस राज्य में अब सरकार आधी कीमत पर दवा उपलब्ध कराने 169 शहरों में खुलेंगे 188 मेडिकल स्टोर्स खोलने जा रही है, इससे आम लोगों को निश्चित ही बड़ी रिलीफ मिलेगी...
 

Medicines will be available at half price,  188 medical stores to open in 169 cities, View Details
Author
Bhopal, First Published Oct 15, 2021, 1:07 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बिजनेस डेस्क। छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करते हुए राज्य में श्री धन्वंतरी दवा योजना शुरु की जा रही है। इस योजना के तहत 169 शहरों में 188 ऐसे मेडिकल स्टोर्स खोले जाएंगे, जिनमें मरीजों को अधिकतम खुदरा बिक्री मूल्य (एमआरपी) में 50 प्रतिशत से अधिक छूट दी जाएगी। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल 20 अक्टूबर को इस योजना का शुभारंभ करेंगे। योजना की शुरुआत 85 श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स के साथ की जाएगी। शेष दुकानें भी इस माह के अंत तक प्रारम्भ हो जाएंगी। आगामी चरण में इन दुकानों से घर पहुंच दवा डिलीवरी की भी व्यवस्था की जायेगी।
 ये भी पढ़ें- FACEBOOK पर अब सोच-समझकर करें कमेंट, 1,259 अकाउंट के खिलाफ कार्रवाई, कहीं आपका नाम भी तो नहीं इस लिस्ट में

 सभी की पहुंच में होंगी सस्ती दवाएं 
छत्तीसगढ़ सरकार ने गरीबों और वंचित वर्गों तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने हेतु अनेक प्रभावी कदम उठाए हैं। इसी दिशा में एक और पहल करते हुए श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स शुरू करने जा रहे हैं। अब सस्ती दवाएं सभी की पहुंच में होंगी। इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। इससे दवाइयों पर होने वाले खर्च का बोझ कम हो सकेगा। सरकार ने कहा कि सरार इस योजना के माध्यम से  सब्बो स्वस्थ-जम्मो सुग्घर की परिकल्पना को साकार करने में सफल होंगे। 

 ये भी पढ़ें-15 अक्टूबर से शुरू हो रही 7 बड़ीं कंपनियां, 65,000 करोड़ रुपए के एडवांस ऑर्डर मिले, देखें डिटेल
 उच्च गुणवत्ता वाली होंगी रियायती दवा 
 गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सुविधओं का विस्तार राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। इस दिशा में ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में कई पहल की गई है। शहरी क्षेत्रों में मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना,  सिटी डायग्नोस्टिक सेंटर, दाई दीदी क्लीनिक आदि के माध्यम से जमीनी स्तर तक सुविधाओं का विस्तार किया गया है। इसी क्रम में अब आम नागरिकों को उच्च गुणवत्ता की रियायती दवा उपलब्ध कराने के लिए श्री धन्वंतरी योजना प्रारम्भ की जा रही है। 

251 दवाइयां, 27 सर्जिकल आइटम उपलब्ध कराए जाएंगे
योजना अंतर्गत राज्य के सभी 169 नगरीय निकायों में शासन के सहयोग से श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर खोले जा रहे हैं। नगरीय निकायों द्वारा 188 दुकानों का चिन्हांकन किया गया है। इन दुकानों में 251 दवाइयों, 27 सर्जिकल आइटम साहित विभिन्न सामग्री उपलब्ध रहेगी। लघु वनोपज संघ द्वारा निर्मित गुणवत्तापूर्ण हर्बल उत्पाद भी इन दुकानों में उपलब्ध रहेंगे। इन दुकानों में देश की ख्यातिप्राप्त कंपनियों की जेनरिक दवाइयों की बिक्री की जाएगी। सर्दी, ख़ासी,  बुखार, ब्लड प्रेशर जैसी आम बीमारियों के साथ-साथ गंभीर बीमारियों की दवाएं, एंटीबायोटिक, सर्जिकल आइटम भी उपलब्ध रहेंगे।
 ये भी पढ़ें-#GmailDown : जीमेल की सर्विस हुई डाउन ! यूजर्स के निशाने पर आया गूगल, देखें क्या है समस्या

एमआरपी पर 50 प्रतिशत से भी अधिक की छूट 
यह सभी सामग्री अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) में 50 प्रतिशत से भी अधिक की छूट के साथ उपलब्ध होंगे। नागरीय निकायों द्वारा छूट की दर प्राप्त करने हेतु प्रतिस्पर्धात्मक निविदा का आमंत्रण किया गया था जिसमे सभी निकायों में 50 % से ज्यादा छूट की दर प्राप्त हुई। इसका प्रमुख कारण इस हेतु शासन द्वारा तैयार बिजनेस मॉडल रहा। 
 ये भी पढ़ें-सेंसेक्स पहली बार 61 हजार के पार, इन शेयरों का रहा बोलबाला, डॉलर के मुकाबले रुपया में तेजी

किराये पर  उपलब्ध कराई जा रही दुकानें
श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर संचालकों को 2 रुपए प्रति वर्गफुट की आकर्षक दर से नगर पालिक निगम द्वारा किराये पर दुकानें उपलब्ध कराई जा रही हैं। साथ ही इन मेडिकल स्टोर्स से अन्य योजनाओं में भी दवाइयां खरीदने का आश्वासन भी दिया गया है । योजना के सफल संचालन की जिम्मेदारी जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित यूपीएसएस को प्रदान की गई है।
 ये भी पढ़ें-अब LIC, पवन हंस, BPCL की लगेगी बोली, इस साल सरकार बेच सकती है ये 6 से अधिक बड़ी सरकारी कंपनियां

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios