Asianet News HindiAsianet News Hindi

UPSC Interview में भारत की आजादी से जुड़ा ऐसा सवाल, जिसका जवाब एक या दो कैंडिडेट ही दे पाते हैं

प्री-मेंस के बाद यूपीएससी इंटरव्यू क्रैक करने के बाद ही आपका सपना पूरा हो सकता है। इंटरव्यू में कई बार ऐसे ट्रिकी सवाल पूछ लिए जाते हैं, जो होते तो बेहद आसान हैं लेकिन दिमाग चकरा जाता है और कई कैंडिडेट्स उनका जवाब नहीं दे पाते और अफसर बनने से चूक जाते हैं।

75th Independence Day 2022 UPSC IAS Interview Questions of freedom stb
Author
New Delhi, First Published Aug 8, 2022, 11:24 AM IST

करियर डेस्क : हर साल यूपीएससी (UPSC Exam) क्रैक करने का सपना लिए लाखों की संख्या में युवा दिन-रात कड़ी मेहतन करते हैं। इनमें से कुछ प्री-मेंस क्लीयर कर इंटरव्यू तक पहुंचते हैं लेकिन यूपीएससी के इंटरव्यू (Interview) में पूछे गए सवाल से उनका दिमाग चकरा जाता है और कई को वहीं से वापस आना पड़ता है जबकि कुछ ऐसे सवालों का जवाब देकर देश की सबसे बड़ी परीक्षा पास कर लेते हैं और अफसर बन जाते हैं। इस वक्त देश में आजादी का अमृत महोत्सव (Azadi ka Amrit Mahotsav) मनाया जा रहा है। ऐसे में UPSC इंटरव्यू में पूछे जाना वाला देश की आजादी से जुड़ा एक ऐसा सवाल, जिसका जवाब कम कैंडिडेट्स ही दे पाते हैं।

सवाल- स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के दिन झंडा फहराने में क्या अंतर होता है?
1.  स्वतंत्रता दिवस हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है। इस दिन झंडे को नीचे से रस्सी के सहारे खींचकर ऊपर ले जाया जाता है। इसके बाद इसे खोलकर फहराया जाता है। इस प्रक्रिया को ध्वजारोहण (Flag Hoisting) कहते हैं। 15 अगस्त, 1947 के ऐतिहासिक क्षण के दौरान ऐसा किया गया था और हर साल प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से ध्वजारोहण करते हैं। जबकि गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी के मौके पर झंडा ऊपर ही बंधा रहता है और इसे खोलकर फहराया जाता है। इसे झंडा फहराना (Flag Unfurling) कहते हैं।

2. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ध्वजारोहण करते हैं, जबकि गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं। ऐसे इसलिए क्योंकि जब 15 अगस्त, 1947 को देश आजाद हुआ था, तब भारत का संविधान लागू नहीं हुआ था और राष्ट्रपति का संवैधानिक पद नहीं था और किसी राष्ट्रपति ने पदभार ग्रहण नहीं किया था। स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या यानी एक दिन पहले 14 अगस्त की शाम को राष्ट्रपति राष्ट्र के नाम अपना संदेश देते  हैं। वहीं, 26 जनवरी, 1950 को देश का संविधान लागू होने के उपलक्ष्य में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। इस दिन संवैधानिक प्रमुख यानी राष्ट्रपति झंडा फहराते हैं।

3. स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त के दिन लाल किला (Red Fort) की प्राचीर से ध्वजारोहण किया जाता है। इस दिन प्रधानमंत्री को सुनने देश-विदेश से लोग पहुंचते हैं। वहीं, गणतंत्र दिवस के दिन राजपथ पर झंडा फहराया जाता है। यहां झांकिया निकाली जाती हैं। भारत का शौर्य का प्रदर्शन होता है।

इसे भी पढ़ें
इंडिया गेट की जगह कभी हुआ करता था रेलवे ट्रैक, दिलचस्प हैं इस स्मारक से जुड़े फैक्ट्स

आजादी के बाद गेटवे ऑफ इंडिया से होकर ही यूरोप वापस गई थी अंतिम ब्रिटिश सेना, ऐसा रहा है इतिहास

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios