Asianet News HindiAsianet News Hindi

Virat Kohli Birthday: 13 साल के क्रिकेट करियर के बाद भी आज तक भी अधूरी है विराट की ये एक ख्वाहिश

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) शुक्रवार को 33 साल के हो गए हैं। विराट यूएई (UAE) में आयोजित हो रहे टी20 वर्ल्ड कप 2021 (T20 World Cup 2021) में टीम इंडिया की कमान संभाल रहे हैं। शुक्रवार को विराट के जन्मदिन पर ही टीम इंडिया को वर्ल्ड कप में स्कॉटलैंड के खिलाफ अहम मुकाबला खेलना है। इस खास मौके पर विराट बड़ी पारी खेलकर पूरे देश को जन्मदिन का तोहफा देना चाहेंगे। भारतीय टीम के लिए स्कॉटलैंड के खिलाफ मुकाबला बेहद अहम है इस मैच को बड़े अंतर से जीत के बाद ही टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदें जिंदा रहेंगी। 

Virat Kohli Birthday: Virat turns 33, fans are waiting for a big innings on his birthday T20 World Cup 2021 IND vs SCO
Author
Dubai - United Arab Emirates, First Published Nov 5, 2021, 3:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

स्पोर्ट्स डेस्क: यूएई में आयोजित हो रहे टी20 वर्ल्ड कप 2021 (T20 World Cup 2021) में टीम इंडिया शुक्रवार को स्कॉटलैंड क्रिकेट टीम (Scotland Cricket Team) का सामना करेगी। वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए टीम को यह मुकाबला बड़े अंतर से जीतना होगा। ऐसा करने पर ही टीम सेमीफाइनल की रेस में बनी रहेगी। वैसे शुक्रवार का दिन एक अन्य वजह से भी खास है। शुक्रवार 5 नवंबर को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) अपना 33वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस दिन को और खास बनाने के लिए विराट कोहली स्कॉटलैंड के खिलाफ बड़ी पारी खेलना चाहेंगे। हालांकि टी20 वर्ल्ड कप 2021 में टीम इंडिया और खुद विराट कोहली का प्रदर्शन उम्मीद के अनुरूप नहीं रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ पहला मुकाबला 10 विकेट से हारने के बाद दूसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 8 विकेट से शर्मनाक हार झेलनी पड़ी। तीसरे मैच में अपेक्षाकृत कमजोर अफगानिस्तान टीम के खिलाफ टीम ने 66 रनों से जीत दर्ज कर खाता खोला। 

2008 से शुरू हुआ विराट का शानदार सफर: 
असल मायने में विराट कोहली का क्रिकेट में उदय 2008 से माना जाएगा। तब उन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को अंडर-19 वर्ल्ड कप में खिताबी जीत दिलाई थी। अपने शानदार प्रदर्शन के बलबूते विराट इसी साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखने में कामयाब रहे। उन्हें 2008 में ही श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज में खेलने का मौका मिला। ठीक इसके दो साल बाद 2010 में उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ पहला टी20 मुकाबला खेला। फिर इसके एक साल बाद उन्हें टेस्ट टीम में भी जगह मिल गई। उन्होंने अपना पहला टेस्ट मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। तब से लेकर अब तक विराट भारतीय टीम के सबसे मजबूत आधार स्तम्भ बने हुए हैं। क्रिकेट के हर फॉर्मेट में उनका कोई जवाब नहीं है। विराट ने अपने क्रिकेट करियर में कई बड़ी उपलब्धि हासिल की है लेकिन उनके मन में एक बात की कसक बाकि है। वे अपनी कप्तानी में भारत को सीनियर लेवल पर आईसीसी का कोई बड़ा खिताब नहीं दिला पाए हैं। 

जन्मदिन पर फैंस को बड़ी पारी का इंतजार:  
विराट कोहली का इस टी20 वर्ल्ड कप में प्रदर्शन औसत ही रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में विराट वन मैन शो रहे लेकिन उनकी धीमी बल्लेबाजी ने टीम को संकट में डाल दिया। क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में उन्होंने 116 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 49 गेंदों में 57 रन बनाए। उन्होंने मैच की शुरुआत से लगभग अंत तक बल्लेबाजी की लेकिन टीम को इसका कोई खास फायदा नहीं हुआ। विराट के खाते में तो एक अर्धशतक दर्ज हुआ लेकिन टीम के यह किसी काम नहीं आया। न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे मैच में भी विराट की बल्लेबाजी काफी धीमी रही वे 14 गेंदों में 14 रन बनाकर टीम को संकट में छोड़कर चले गए। इसका नतीजा ये हुआ कि टीम को शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। अफगानिस्तान के खिलाफ तीसरे मैच में विराट को बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिला। अब स्कॉटलैंड के खिलाफ शुक्रवार को होने वाले मुकाबले में विराट कोहली को आगे होकर जिम्मेदारी लेनी होगी। 

भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान: 
विराट कोहली के क्रिकेट करियर में सबसे बड़ी उपलब्धि के रूप में अगर किसी चीज को याद रखा जाएगा वह होगी भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान होने की। सीके नायडू से लेकर नवाब पटौदी तक, कपिल देव से लेकर मोहम्मद अजहरुद्दीन तक, फिर सौरव गांगुली से लेकर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में समय-समय पर भारतीय क्रिकेट टीम की कमान रही। लेकिन ये सभी दिग्गज जो कारनामा न कर पाए वो विराट ने अपनी कप्तानी में कर दिखाया। विराट ने अपनी कप्तानी में भारत को सबसे अधिक टेस्ट मैचों में जीत दिलाई है। उन्होंने 65 मैचों में भारत की कप्तानी करते हुए 38 मैचों में जीत दर्ज की। 16 मुकाबलों में टीम को हार का सामना भी करना पड़ा और 11 मैच ड्रॉ रहे। 

सबसे सफल भारतीय टेस्ट कप्तान:  

कप्तान - मैच - जीत - हार - ड्रॉ - जीत %

विराट कोहली- 65 - 38 - 16 - 11 - 58.46 %
महेंद्र सिंह धोनी- 60 - 27 - 18 - 15 - 45 %
सौरव गांगुली-  49 - 21 - 13 - 15 - 42.85 %
मोहम्मद अजहरुद्दीन- 47 - 14 - 14 - 19 - 29.78 %
सुनील गावस्कर- 47 - 9 - 8 - 30 - 19.14 %
एम. के. पटौदी- 40 - 9 - 19 - 12 - 22.50 %

विराट कोहली का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर: 

         मैच - रन - उच्च - 200 - 100 - 50 - औसत

टेस्ट:  96 - 7765 - 254 - 7 - 27 - 27 - 51.09 

वनडे: 254 - 12169 - 183 - 0 - 43 - 62 - 59.07 

टी20: 92 - 3225 - 94 - 0 - 0 - 29 - 52.02 
 

यह भी पढ़ेंः 

Virat Kohli Birthday: बेटी संग पहली बार जन्मदिन मना रहे कप्तान कोहली, 10 महीनों में ऐसे बदली विरुष्का की लाइफ
 

T20 World Cup 2021 IND vs SCO: पहली बार आईसीसी के किसी बड़े टूर्नामेंट में आमने-सामने होंगे भारत-स्कॉटलैंड
 

T20 World Cup 2021: सेमीफाइनल की रेस में अब भी बना हुआ है भारत, यहां देखें ऐसे बनता है समीकरण
 

Unmukt Chand: बिग बैश लीग में खेलेगा भारत का वर्ल्ड कप विजेता कप्तान
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios