Asianet News HindiAsianet News Hindi

Fact Check: लिट्टे जैसी नहीं सेना की नई Combat Pattern Uniform, सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही गलत जानकारी

जब से भारतीय सेना के लड़ाकू पैटर्न की नई वर्दी की झलक सामने आई है, इसे लेकर बड़े पैमाने पर अटकलें लगाई जा रही हैं। सोशल मीडिया पर कुछ लोग इस संबंध में गलत जानकारी फैला रहे हैं।  नई आर्मी कॉम्बैट पैटर्न यूनिफॉर्म को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की मदद से विकसित किया गया है।

Fact check Army new combat pattern uniform is not the same as LTTE
Author
New Delhi, First Published Jan 14, 2022, 12:48 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। जबसे भारतीय सेना (Indian Army) के लड़ाकू पैटर्न की नई वर्दी (Combat Pattern Uniform) की झलक सामने आई है, इसे लेकर बड़े पैमाने पर अटकलें लगाई जा रही हैं। सोशल मीडिया पर कुछ लोग इस संबंध में गलत जानकारी फैला रहे हैं। वे फर्जी खबरों की मदद से यह बात फैला रहे हैं कि नई वर्दी प्रतिबंधित श्रीलंकाई विद्रोही संगठन लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) की वर्दी जैसी है। 

इस संबंध में सरकारी सूत्रों ने स्थिति स्पष्ट की है। सरकारी सूत्रों के अनुसार दुर्भावनापूर्ण इरादे से सोशल मीडिया पर भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही है। झूठी जानकारी फैलाने वाले अधिकतर सोशल मीडिया हैन्डल्स पाकिस्तान के हैं। ये भारतीय सेना के नए यूनिफॉर्म के बारे में फर्जी खबरें फैला रहे हैं। सेना दिवस के अवसर पर नई लड़ाकू पैटर्न वर्दी का अनावरण किया जाएगा। 15 जनवरी को पैराशूट रेजिमेंट की टुकड़ी नई छलावरण (Camouflage) वर्दी पहनेगी। यह 'डिजिटल' पैटर्न पर आधारित है। नई आर्मी कॉम्बैट पैटर्न यूनिफॉर्म को अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुरूप नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की मदद से विकसित किया गया है।

पिछली वर्दी की तुलना में बेहतर है छलावरण
सूत्रों ने कहा कि इसे 15 पैटर्न, आठ डिजाइन और चार फैब्रिक के विकल्पों से गुजारा गया। बता दें कि एशियानेट ने पहले ही बताया था कि नई वर्दी अमेरिकी सैनिकों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली वर्दी की तरह होगी। सेना के नए लड़ाकू पैटर्न की वर्दी के संबंध में निर्णय हाल ही में आयोजित सेना कमांडरों के सम्मेलन में लिया गया था। सेना के अधिकारियों के अनुसार, बदली हुई वर्दी का छलावरण पिछली वर्दी की तुलना में बेहतर है। अधिकारी ने कहा कि सेना के लड़ाकू पैटर्न की नई वर्दी को आराम के स्तर को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है।

नई वर्दी मौजूदा समय की यूनिफॉर्म के मुकाबले अधिक हल्की, मौसमों के अनुरूप और विषम परिस्थितियों में भी पहनने लायक है। देश की नौसेना अपने सैनिकों के लिए पिछले साल नई कैमोप्लाज वर्दी लागू कर चुकी है। उसने अपनी लाइट ब्लू हाफ शर्ट और नेवी ब्लू ट्राउजर को बदला था। थल सेना, नौसेना और वायुसेना के जवानों के पास अलग-अलग मौकों पर पहनने के लिए वर्दी के अलग-अलग सेट होते हैं।

 

ये भी पढ़ें

Fact Check: क्या सच में Sushmita Sen ने गोद लिया तीसरा बच्चा, एक्ट्रेस ने खुद बताई हकीकत

महिला ने कार चलाया तो तालिबान ने पूरे परिवार की हत्या कर दी? जानें क्या है वीडियो का सच

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios