Asianet News HindiAsianet News Hindi

क्या Aryan Khan की गिरफ्तारी के बाद समीर वानखेड़े पर हमला हुआ, जानें क्या है मैसेज का सच?

सोशल मीडिया पर NCB ऑफिसर समीर वानखेड़े पर हमले को लेकर एक मैसेज वायरल हो रहा है। जानें इस वायरल मैसेज का सच क्या है?

False claim of attack on NCB officer Sameer Wankhede and his team goes viral
Author
New Delhi, First Published Oct 27, 2021, 9:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वायरल पोस्ट में क्या है: शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) को गिरफ्तार करने वाले एनसीबी (NCB) अधिकारी समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) सुर्खियों में हैं। उन्हें लेकर सोशल मीडिया पर कई पोस्ट वायरल हो रही हैं। एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि हाल ही के दिनों में गोरेगांव में 60 लोगों की भीड़ ने एनसीबी अधिकारियों की एक टीम पर हमला कर दिया। पोस्ट में लिखा है, हमले को मीडिया ने नहीं दिखाया। एनसीबी की टीम अपने तेज तर्रार ऑफिसर समीर वानखेड़े के साथ गोरेगांव पहुंची। वहां पहुंचकर पैडलर का इंतजार करने लगी। जैसे ही पेडलर (Drug Peddler) माल की डिलीवरी देने आया, एनसीबी की टीम ने उन्हें दबोच लिया। 

ये रही वायरल पोस्ट...

False claim of attack on NCB officer Sameer Wankhede and his team goes viral

पोस्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र के गोरेगांव में कल बड़ी बहादुरी की घटना हुई, लेकिन हमारे मीडिया ने शायद ही इस पर ध्यान दिया। समीर वानखेड़े के नेतृत्व में एनसीबी के छह अधिकारियों की एक टीम सूचना पाकर गोरेगांव गई। एक ड्रग पेडलर के बारे में। जैसे ही पैडलर दवा देने के लिए पहुंचा, टीम ने उसे पकड़ लिया और अपनी कार के अंदर जबरदस्ती कर लिया। वह चिल्लाने लगा और 60 लोगों की भीड़ ने एनसीबी टीम पर हमला कर दिया। फिर वानखेड़े से एक दिमागी चाल आई। उसने अपनी पिस्तौल निकाली और कार में बैठे पैडलर को मारने की धमकी दी। यह महसूस कर रहा था कि वह खतरनाक है, भीड़ वापस चली गई। जल्द ही मुंबई पुलिस पहुंची और स्थिति को नियंत्रण में कर लिया। पैडलर को गिरफ्तार कर लिया गया और एनसीबी की टीम वापस आ गई। यह घटना उद्धव ठाकरे सरकार और मुंबई पुलिस की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठाती है। उनकी नाक के नीचे इतना बड़ा ड्रग रैकेट कैसे फल-फूल रहा था?

वायरल पोस्ट का सच क्या है?

- Asianet News Hindi वायरल पोस्ट की पड़ताल की तो पता चला कि ये पूरी तरह से फेक है। वायरल पोस्ट का पता लगाने के लिए कुछ कीवर्ड से सर्चिंग की। तब पता चला कि 22 नवंबर 2020 को मुंबई के गोरेगांव में एलएसडी पर छापे के दौरान एनसीबी के छह अधिकारियों पर भीड़ ने हमला किया था। ऑपरेशन की अगुवाई वानखेड़े कर रहे थे। तभी करीब 60 लोग वहां जमा हो गए और टीम पर हमला कर दिया। घटना में एनसीबी के दो अधिकारी घायल हो गए थे। हालांकि समय पर पुलिस की मदद से स्थिति पर काबू पा लिया गया था। 

- वायरल वीडियो के मुताबिक घटना को कवर नहीं किया गया, लेकिन सर्चिंग में पता चला कि इस घटना को मीडिया ने व्यापक रूप से कवर किया था। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में समीर वानखेड़े ने इस घटना का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि ऐसी घटनाएं होती रहती हैं। लेकिन ये घटना पुरानी है। इससे पहले इस साल अगस्त में मुंबई के मानखुर्द में एक करोड़ रुपए की ड्रग्स बरामद की गई थी। इस दौरान एक नाइजीरियाई गिरोह ने NCB टीम पर हमला किया गया था। 

निष्कर्ष : वायरल पोस्ट की पड़ताल करने पर पता चला कि समीर वानखेड़े को लेकर किया जा रहा दावा झूठा है। ये सच है कि उनके और उनकी टीम पर हमला हुआ था, लेकिन ये हमला आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें.

इस TV चैनल पर न्यूज दिखाते वक्त अचानक चलने लगी पॉर्न फिल्म, वीडियो देखकर मच गया हंगामा

कोरोना के बाद अब प्याज से फैल रही है नई बीमारी, यहां 37 राज्यों में 650 लोग बीमार, 129 हॉस्पिटल में भर्ती

खून से लथपथ फर्श पर पड़ी थी महिला, 15 बार मारा गया था चाकू, जांच में पता चली एक लड़के की घिनौनी करतूत

स्टडी: बच्चों के सोने के तरीके से पता करें, भविष्य में कैसी होगी आपके बच्चे की हेल्थ

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios