Asianet News Hindi

बंद कमरे में खतरनाक हो सकता है ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर का उपयोग? जानिए क्या वायरल मैसेज की सच्चाई

ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर वो मशीन होती है आस-पास की हवा से ऑक्सीजन को केंद्रित करने में मदद करती है और नाइट्रोजन को हटाकर वातावरण में शुद्ध ऑक्सीजन वितरित करती है। 

Is it safe to use oxygen concentrator in a closed room Fact Check and expert opinion PWA
Author
New Delhi, First Published May 6, 2021, 6:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

फैक्ट चैक डेस्क. कोरोना संक्रमण (Covid-19) के कारण देशभर में ऑक्सीजन (oxygen) की कमी है। अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी है। जो मरीज होम आइसोलेट हैं उन्हें भी ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। ऐसे में कई मरीज  के कारण ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर (oxygen concentrator) का उपयोग कर रहे हैं। फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने भी ट्वीट कर लोगों को सलाह दी है कि वे खुली हवा के साथ ऑक्सीजन को बाहर निकालने के लिए दरवाजों और खिड़कियों के साथ ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर का उपयोग करें। ये मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है जिसमें सोनू के ट्वीट का स्क्रीनशॉट शामिल है, एक पोस्ट में दावा किया गया है कि ऑक्सीजन का उपयोग करने वाले लोगों को दरवाजे और खिड़कियां खुली रखनी चाहिए क्योंकि यह खुली हवा से ऑक्सीजन निकालता है। क्या है सच जानिए फैक्ट चेक में। 

 

इसे भी पढ़ें- बिना वैक्सीन इंजेक्शन लगाने का वीडियो भारत का नहीं है, आप से बोला जा रहा बड़ा झूठ

क्या है ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर?
ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर वो मशीन होती है आस-पास की हवा से ऑक्सीजन को केंद्रित करने में मदद करती है और नाइट्रोजन को हटाकर वातावरण में शुद्ध ऑक्सीजन वितरित करती है। जांच करने पर पाया गया कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का उपयोग करने पर कमरे में ऑक्सीजन के स्तर में कमी होने का कोई खतरा नहीं होता।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट
फोर्टिस अस्पताल, बसंत कुंज के निदेशक और विभाग के प्रमुख डॉ जेसी सूरी के अनुसार, कोरोना संक्रमित मरीजों को हमेशा सलाह दी जाती है कि वो वैंटिलेटर वाले कमरे का प्रयोग करें। लेकिन ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर के प्रयोग को लेकर ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है।

कब होती है ऑक्सीजन की आवश्यकता
दिल्ली एम्स (AIIMS) के चीफ डॉक्टर रणदीप गुलेरिया (Dr Randeep Guleria) ने हाल ही में घर पर ऑक्सीजन का प्रयोग करने वालों को सावधानियां बरतने को कहा था। गुलेरिया ने कहा था कि ऑक्सीजन सेचुरेशन (oxygen saturation) 92 या 94 के बीच है उन्हें इससे ज्यादा ऑक्सीजन लेने की आवश्यकता नहीं है। यदि सैचुरेशन 95 से ऊपर है तब भी आपको ऑक्सीजन लेने की जरूरत नहीं है। वहीं यदि 94 से कम है, तो आपको ऑक्सीजन लेवल को मॉनिटर करना जरूरी है लेकिन अभी भी ये जरूरी नहीं कि आपको ऑक्सीजन की आवश्यकता है।

इसे भी पढ़ें- गर्म पानी में नींबू और बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से खत्म हो जाएगा कोरोना? जानें क्या है मैसेज का सच

 

क्या हो रहा है वायरल
बंद कमरे में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का उपयोग हो सकता है खतरनाक।

वायरल मैसेज का सच
वायरल मैसेज में जो दावा किया जा रहा है कि वह पूरी तरह से गलत है। ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर का उपयोग कहीं भी किया जा सकता है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios