Asianet News Hindi

राबड़ी आवास के बंद नंबर से टिकट के बदले मांगे जा रहे थे पैसे, ट्रू कॉलर पर आ रहा लालू के इस बेटे का नाम

First Published Oct 6, 2020, 11:09 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Polls) को लेकर अब सनसनीखेज आरोपों का दौर भी शुरू हो चुका है। इस कड़ी में लालू यादव (Lalu Yadav) की पार्टी आरजेडी (RJD) की ओर से टिकट के बदले दावेदारों से पैसे मांगने के आरोप लगे हैं। जिस फोन नंबर से पैसे मांगे जा रहे हैं वो कभी पूर्व मुख्यमंत्री और लालू की पत्नी राबड़ी देवी (Rabari Devi) के आवास पर लगा था। आरजेडी ने पूरे मामले के पीछे विरोधी दलों पर बदनाम करने के लिए साजिश का गंभीर आरोप लगाया है। उधर, बीजेपी ने दलित नेता शक्ति मलिक की हत्या को लेकर लालू परिवार से सवाल पूछे हैं। 

जानकारी के मुताबिक पटना के लैंडलाइन नंबर 0612-22117*** से पिछले महीने 19 सितंबर को सीतामढ़ी जिले में एक दावेदार को फोन किया गया। टिकट के बदले फोन पर उसके साथ पैसों की डील हुई और निर्देश दिया गया कि वो रकम लेकर लालगंज होते हुए आए। उसे पांच देशरत्न मार्ग पहुंचने को कहा गया। ऐसा ही फोन मुजफ्फरपुर जिले में भी एक दावेदार के पास आया। 
 

जानकारी के मुताबिक पटना के लैंडलाइन नंबर 0612-22117*** से पिछले महीने 19 सितंबर को सीतामढ़ी जिले में एक दावेदार को फोन किया गया। टिकट के बदले फोन पर उसके साथ पैसों की डील हुई और निर्देश दिया गया कि वो रकम लेकर लालगंज होते हुए आए। उसे पांच देशरत्न मार्ग पहुंचने को कहा गया। ऐसा ही फोन मुजफ्फरपुर जिले में भी एक दावेदार के पास आया। 
 

जिस फोन नंबर से पैसे मांगे गए वो बीएसएनएल का लैंडलाइन नंबर है। HT की एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्रूकॉलर पर संबंधित नंबर के साथ नेता प्रतिपक्ष और लालू-राबड़ी के छोटे बेटे तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) का नाम आ रहा है। अब इस पूरे मामले में आरजेडी ने विपक्ष पर साजिश का आरोप लगाया है। पार्टी ने बीएसएनएल से नंबर की पूरी कॉल डिटेल मांगी है। मामले को लेकर पार्टी के राज्यसभा सांसद मनोज झा (Manojh Jha) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। 

जिस फोन नंबर से पैसे मांगे गए वो बीएसएनएल का लैंडलाइन नंबर है। HT की एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्रूकॉलर पर संबंधित नंबर के साथ नेता प्रतिपक्ष और लालू-राबड़ी के छोटे बेटे तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) का नाम आ रहा है। अब इस पूरे मामले में आरजेडी ने विपक्ष पर साजिश का आरोप लगाया है। पार्टी ने बीएसएनएल से नंबर की पूरी कॉल डिटेल मांगी है। मामले को लेकर पार्टी के राज्यसभा सांसद मनोज झा (Manojh Jha) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। 

मनोज झा ने बताया कि जिस नंबर से टिकट के बदले पैसे मांगे गए वो चार साल पहले ही बंद किया जा चुका है। उन्होंने दावा किया कि ये नंबर किसी दूसरे को आवंटित भी नहीं किया गया है फिर उसका इस्तेमाल कैसे हो रहा है? मनोज झा ने आरोप लगाया कि बिहार में सत्ता जाता देख डर चुके जेडीयू और उनके सहयोगी दल इस साजिश के पीछे हैं। 

मनोज झा ने बताया कि जिस नंबर से टिकट के बदले पैसे मांगे गए वो चार साल पहले ही बंद किया जा चुका है। उन्होंने दावा किया कि ये नंबर किसी दूसरे को आवंटित भी नहीं किया गया है फिर उसका इस्तेमाल कैसे हो रहा है? मनोज झा ने आरोप लगाया कि बिहार में सत्ता जाता देख डर चुके जेडीयू और उनके सहयोगी दल इस साजिश के पीछे हैं। 

मनोज झा ने दावा किया कि राबड़ी आवास पर लगे नंबर को 21 नवंबर 2016 को ही कटवाया जा चुका है। बाद में इस नंबर को वन विभाग में आवंटित किया था। वहां से भी 2019 में इसे बंद करा दिया गया था। आरजेडी नेता के मुताबिक तब से बीएसएनएल ने ये नंबर किसी को भी आवंटित नहीं किया है। 

मनोज झा ने दावा किया कि राबड़ी आवास पर लगे नंबर को 21 नवंबर 2016 को ही कटवाया जा चुका है। बाद में इस नंबर को वन विभाग में आवंटित किया था। वहां से भी 2019 में इसे बंद करा दिया गया था। आरजेडी नेता के मुताबिक तब से बीएसएनएल ने ये नंबर किसी को भी आवंटित नहीं किया है। 

उधर, पूर्णिया में दलित की हत्या मामले में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी को नामजद किए जाने के सवाल पर झा ने कहा ये हार से बौखलाए लोगों की साजिश है। अगर आरजेडी नेता जांच में दोषी साबित साबित पाए जाएं तो फांसी पर चढ़ा देना।

उधर, पूर्णिया में दलित की हत्या मामले में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी को नामजद किए जाने के सवाल पर झा ने कहा ये हार से बौखलाए लोगों की साजिश है। अगर आरजेडी नेता जांच में दोषी साबित साबित पाए जाएं तो फांसी पर चढ़ा देना।

दलित नेता शक्ति मलिक की हत्या पर बीजेपी प्रवक्ता सांबित पात्रा ने आरजेडी से सवाल पूछे। पात्रा ने कहा कि आरजेडी को जवाब देना होगा। शक्ति मलिक पहले आरजेडी केईई अनुसूचित जाति मोर्चा के महासचिव थे। उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था। वो निर्दलीय चुनाव लड़ने की तैयारी में थे। उनकी हत्या मामले में तेजस्वी और उनके तेज प्रताप समेत छह लोगों के खिलाफ नामजद एफ़आईआर हुई है।  
 

दलित नेता शक्ति मलिक की हत्या पर बीजेपी प्रवक्ता सांबित पात्रा ने आरजेडी से सवाल पूछे। पात्रा ने कहा कि आरजेडी को जवाब देना होगा। शक्ति मलिक पहले आरजेडी केईई अनुसूचित जाति मोर्चा के महासचिव थे। उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था। वो निर्दलीय चुनाव लड़ने की तैयारी में थे। उनकी हत्या मामले में तेजस्वी और उनके तेज प्रताप समेत छह लोगों के खिलाफ नामजद एफ़आईआर हुई है।  
 

बता दें कि आरजेडी राज्य में मुख्य विपक्षी दल है। एनडीए के खिलाफ पार्टी ने कांग्रेस, सीपीआई, सीपीआई एमएल और सीपीएम के साथ महागठबंधन बनाया है। पिछले चुनाव में आरजेडी ने 81 सीटें जीती थीं। इस बार पार्टी 144 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ रही है। 

बता दें कि आरजेडी राज्य में मुख्य विपक्षी दल है। एनडीए के खिलाफ पार्टी ने कांग्रेस, सीपीआई, सीपीआई एमएल और सीपीएम के साथ महागठबंधन बनाया है। पिछले चुनाव में आरजेडी ने 81 सीटें जीती थीं। इस बार पार्टी 144 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ रही है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios