Asianet News Hindi

तीन फीट का दूल्हा और ढाई फीट की दुल्हन, ऐसे हुई ये अनोखी शादी

First Published Jun 3, 2020, 5:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुजफ्फरपुर (Bihar)। लॉकडाउन में अनोखे तरीके से शादियां हो रहीं हैं। लेकिन, आज हम आपको एक ऐसी शादी के बारे में बता रहे हैं वैसी शादी निश्चित है आपने पहले कभी नहीं देखी होगी, क्योंकि इस शादी में दूल्हा मात्र तीन फीट और दुल्हन ढाई फीट की है, जिनकी शादी लॉकडाउन की वजह से ही हो सकी है। जी हां दोनों लॉकडाउन में फैक्ट्री बंद होने पर घर आए तो लोगों की नजर पड़ी। इसके बाद लोगों ने पहल कर एक दिन पहले शादी करा दी। 


मुजफ्फरपुर के वार्ड 33 निवासी मोहम्मद फूल बाबू की बचपन से ही लंबाई में कम हैं। 45 की उम्र में उनकी पूरी लंबाई तीन फीट से भी कम है, जबकि वार्ड वार्ड 34 की असगरी बेगम की 30 साल के बाद भी लंबाई ढाई फीट ही है। 
 


मुजफ्फरपुर के वार्ड 33 निवासी मोहम्मद फूल बाबू की बचपन से ही लंबाई में कम हैं। 45 की उम्र में उनकी पूरी लंबाई तीन फीट से भी कम है, जबकि वार्ड वार्ड 34 की असगरी बेगम की 30 साल के बाद भी लंबाई ढाई फीट ही है। 
 


दोलनों की शादी नहीं हुई थी। फू बाबू एक फैक्ट्री में काम करते हैं, जबकि असगरी लहठी पर कढाई करती है। 


दोलनों की शादी नहीं हुई थी। फू बाबू एक फैक्ट्री में काम करते हैं, जबकि असगरी लहठी पर कढाई करती है। 

लॉकडाउन में जब काम बंद हुआ तो दोनों घर आए और समाज के कुछ लोगों की नजर उनपर पड़ी। लोगों ने कहा कि दोनों की जोड़ी खूब जमेगी। बस कुछ लोग आगे आए और इन दोनों को निकाह कर लेने की सलाह दी। जिसपर वे भी अपने राजी हो गए।
 

लॉकडाउन में जब काम बंद हुआ तो दोनों घर आए और समाज के कुछ लोगों की नजर उनपर पड़ी। लोगों ने कहा कि दोनों की जोड़ी खूब जमेगी। बस कुछ लोग आगे आए और इन दोनों को निकाह कर लेने की सलाह दी। जिसपर वे भी अपने राजी हो गए।
 


पूर्व वार्ड पार्षद मोहम्मद अब्दुल्ला की अगुवाई में कुई लोग सामने आए और निकाह का पूरा खर्च उठा लिया।


पूर्व वार्ड पार्षद मोहम्मद अब्दुल्ला की अगुवाई में कुई लोग सामने आए और निकाह का पूरा खर्च उठा लिया।

लॉकडाउन के बीच 15 लोगों की मौजूदगी में काजी मौलाना अकरम रहमानी साहब नें इनका निकाह पढ़ाया और इस तरह दोनों नें एक दूसरे को अपना हमराह कबूल कर लिया।

लॉकडाउन के बीच 15 लोगों की मौजूदगी में काजी मौलाना अकरम रहमानी साहब नें इनका निकाह पढ़ाया और इस तरह दोनों नें एक दूसरे को अपना हमराह कबूल कर लिया।

सादपुरा मस्जिद में ताला बंद करके इनका निकाह पढ़ाया गया फिर भी मौके पर देखने वालों की भीड़ तबतक जुटी रही जब तक इस नायाब जोड़ी चली नहीं गई।

सादपुरा मस्जिद में ताला बंद करके इनका निकाह पढ़ाया गया फिर भी मौके पर देखने वालों की भीड़ तबतक जुटी रही जब तक इस नायाब जोड़ी चली नहीं गई।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios