Asianet News Hindi

जब सोनाक्षी सिन्हा के पापा की कार को इस वजह से अमिताभ को लगाना पड़ा था धक्का, हुआ था बुरा हाल

First Published Apr 28, 2020, 11:27 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. दुनियाभर में कोरोना की वजह से दहशत फैली हुई है। हजारों की संख्या में रोज लोग मौत के मुंह जा रहे हैं। भारत में कोरोना से बचाव के लिए उपाय किए जा रहे हैं। 3 मई तक देशभर में लॉकडाउन घोषित किया हुआ है। आमजनों की तरह ही सेलिब्रिटीज भी अपने-अपने घरों में कैद है। ऐसे में सोशल मीडिया पर सेलेब्स से जुड़ कई किस्सा और कहानियां सुनने को मिल रहे हैं। एक किस्सा अमिताभ बच्चन और शत्रुघ्न सिन्हा को लेकर वायरल हो रहा है। हालांकि, आपको बता दें कि दोनों ही स्टार्स के बीच रिश्ते कभी अच्छे नहीं रहे हैं।

अमिताभ और शत्रुघ्न बॉलीवुड के दो दिग्गज स्टार्स हैं। दोनों एक जमाने में सुपरस्टार हुआ करते थे। दोनों स्टार्स ने फिल्मों में भी साथ काम किया है। हालांकि, प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में भी दोनों एक-दूसरे से दूर ही रहे। एक किस्सा है जब अमिताभ ने शत्रुघ्न की गाड़ी को धक्का दिया था।

अमिताभ और शत्रुघ्न बॉलीवुड के दो दिग्गज स्टार्स हैं। दोनों एक जमाने में सुपरस्टार हुआ करते थे। दोनों स्टार्स ने फिल्मों में भी साथ काम किया है। हालांकि, प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में भी दोनों एक-दूसरे से दूर ही रहे। एक किस्सा है जब अमिताभ ने शत्रुघ्न की गाड़ी को धक्का दिया था।

एक शो में अमिताभ ने इस किस्से का जिक्र किया था। उन्होंने बताया कि उन दिनों सिर्फ शत्रुघ्न के पास ही गाड़ी हुआ करती थी। पर वो गाड़ी बहुत टूटी फूटी थी। जब भी वे लोग फिल्म देखने जाते थे तो बीच रास्ते में ही गाड़ी खराब हो जाती थी। ऐसे में शत्रुघ्न कहते थे 'चलो यार धक्का लगाओ' और शत्रुघ्न को छोड़कर सभी लोग नीचे उतरकर गाड़ी को धक्का लगाते थे। गाड़ी को धक्क लगाकर बुरा हाल हो जाता था।

एक शो में अमिताभ ने इस किस्से का जिक्र किया था। उन्होंने बताया कि उन दिनों सिर्फ शत्रुघ्न के पास ही गाड़ी हुआ करती थी। पर वो गाड़ी बहुत टूटी फूटी थी। जब भी वे लोग फिल्म देखने जाते थे तो बीच रास्ते में ही गाड़ी खराब हो जाती थी। ऐसे में शत्रुघ्न कहते थे 'चलो यार धक्का लगाओ' और शत्रुघ्न को छोड़कर सभी लोग नीचे उतरकर गाड़ी को धक्का लगाते थे। गाड़ी को धक्क लगाकर बुरा हाल हो जाता था।

एक किस्से का और जिक्र करते हुए अमिताभ ने बतायाथा- जब भी दोनों सेट पर किसी फिल्म की शूट‍िंग के लिए जाते थे तो शत्रुघ्न हमेशा लेट आते थे। अगर शाम की शूट‍िंग है तो अमिताभ सेट पर 7 बजे पहुंच जाते थे जबकि शत्रुघ्न 11 बजे आते थे। उनके आने के बाद शूट‍िंग शुरू होती थी। 

एक किस्से का और जिक्र करते हुए अमिताभ ने बतायाथा- जब भी दोनों सेट पर किसी फिल्म की शूट‍िंग के लिए जाते थे तो शत्रुघ्न हमेशा लेट आते थे। अगर शाम की शूट‍िंग है तो अमिताभ सेट पर 7 बजे पहुंच जाते थे जबकि शत्रुघ्न 11 बजे आते थे। उनके आने के बाद शूट‍िंग शुरू होती थी। 

शत्रुघ्न ने 4 साल पहले अपनी बायोग्राफी ‘एनीथिंग बट खामोश’ लॉन्च की थी। इस इवेंट के दौरान दोनों ही स्टार्स ने उनकी दोस्ती और फिर रिश्ते में आई दरार पर खुलकर बात की थी।

शत्रुघ्न ने 4 साल पहले अपनी बायोग्राफी ‘एनीथिंग बट खामोश’ लॉन्च की थी। इस इवेंट के दौरान दोनों ही स्टार्स ने उनकी दोस्ती और फिर रिश्ते में आई दरार पर खुलकर बात की थी।

खासकर शत्रुघ्न ने बिग बी के सामने ही इस बात का खुलासा किया था कि कैसे अमिताभ को उनके स्टारडम को लेकर जलन होने लगी थी और कैसे वे उन्हें अपनी कार में बैठाना भी पसंद नहीं करते थे।

खासकर शत्रुघ्न ने बिग बी के सामने ही इस बात का खुलासा किया था कि कैसे अमिताभ को उनके स्टारडम को लेकर जलन होने लगी थी और कैसे वे उन्हें अपनी कार में बैठाना भी पसंद नहीं करते थे।

खबरों की मानें तो बॉलीवुड कभी अमिताभ व शत्रु के दोस्ताना का गवाह रहा है। 70 के दशक में इस दोस्ती में दरार पड़ गई थी। दोस्ती दुश्मनी में कैसे बदली? इस सवाल का जवाब शॉटगन ने अपनी बायोग्राफी में दिया है। शॉटगन आज भी अमिताभ से दोस्ती टूटने को भूल नहीं पाए हैं।

खबरों की मानें तो बॉलीवुड कभी अमिताभ व शत्रु के दोस्ताना का गवाह रहा है। 70 के दशक में इस दोस्ती में दरार पड़ गई थी। दोस्ती दुश्मनी में कैसे बदली? इस सवाल का जवाब शॉटगन ने अपनी बायोग्राफी में दिया है। शॉटगन आज भी अमिताभ से दोस्ती टूटने को भूल नहीं पाए हैं।

शत्रुघ्न मानते हैं कि 70 के दशक में बॉलीबुड में उनका कद अमिताभ से बड़ा था। इस कारण ही दोस्ती में दरार पड़ी। अपनी किताब में उन्होंने लिखा- "तब लोग कहते थे कि अमिताभ और मेरी ऑनस्क्रीन जोड़ी सुपरहिट है, पर वो मेरे साथ काम नहीं करना चाहते थे। उनको लगता था कि 'नसीब', 'काला पत्थर', 'शान' और 'दोस्ताना' मेंमैं उनपर भारी पड़ गया, लेकिन इससे मुझे कभी फर्क नहीं पड़ा।"

शत्रुघ्न मानते हैं कि 70 के दशक में बॉलीबुड में उनका कद अमिताभ से बड़ा था। इस कारण ही दोस्ती में दरार पड़ी। अपनी किताब में उन्होंने लिखा- "तब लोग कहते थे कि अमिताभ और मेरी ऑनस्क्रीन जोड़ी सुपरहिट है, पर वो मेरे साथ काम नहीं करना चाहते थे। उनको लगता था कि 'नसीब', 'काला पत्थर', 'शान' और 'दोस्ताना' मेंमैं उनपर भारी पड़ गया, लेकिन इससे मुझे कभी फर्क नहीं पड़ा।"

हालांकि, अब दोनों स्टार्स के बीच मनमुटाव खत्म हो गया है।

हालांकि, अब दोनों स्टार्स के बीच मनमुटाव खत्म हो गया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios