'आज मिला अवसर, तब फिर क्यों मैं न छकूं जी-भर हाला'...ये तस्वीरें लॉकडाउन की सख्ती की हकीकत दिखाती हैं

First Published 7, May 2020, 10:52 AM

गुरुग्राम, हरियाणा. लॉकडाउन के बीच कवि हरिवंशराय बच्चन की कविता 'मधुशाला' एक बार फिर से चर्चाओं में हैं। ये पंक्तियां उसी कविता का एक अंश हैं। लॉकडाउन फेज-3 में जैसे ही लिकर शॉप्स खोलने की परमिशन मिली, दुकानों पर लोग यूं टूट पड़े..जैसे कोई ऑफर आया हो। इन तस्वीरों ने उन लोगों को हैरान कर दिया, जो कोरोना संक्रमण से बचने अपने-अपने घरों से नहीं निकल रहे। शराब की दुकानों पर लगी भीड़ न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रही और न ही सैकड़ों लोग मास्क पहने देखे गए। लोग शराब ऐसे खरीदकर ले जाते देखे गए, जैसे लॉकडाउन के पहले फेज में किराना और सब्जियां खरीदते देखे गए थे। इनमें से ज्यादातर तस्वीरें हरियाणा के गुरुग्राम की हैं। हरियाणा में बुधवार से शराब की दुकानें खोल दी गईं। 41 दिन बाद दुकानें खुलते ही भीड़ टूट पड़ी। कई जगह पुलिस को व्यवस्था संभालने बड़ी दिक्कत हुई। उधर, पंजाब में ऐसी कई तस्वीरें सामने आई थीं, जिसमें शराबी की दुकानों बाहर भीड़ देखी गई थी। इसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने होम डिलीवरी के आदेश संबंधी फाइल पर हस्ताक्षर कर दिए। यानी 7 मई से सुबह 9 से दोपहर 1 बजे तक शराब का ऑर्डर देकर शाम 6 बजे तक घर पर होम डिलीवरी कराई जा सकती है। आगे देखिए मधुशालाओं के बाहर का हैरान करने वाला मंजर...

<p>ये तस्वीर दिखाती है कि लोगों को लॉकडाउन होने से एक तकलीफ यह भी थी। ये तस्वीरें गुरुग्राम की हैं। लेकिन ऐसी हालत जहां-जहां भी लिकर शॉप्स खुलीं, वहां-वहां देखी गई।</p>

ये तस्वीर दिखाती है कि लोगों को लॉकडाउन होने से एक तकलीफ यह भी थी। ये तस्वीरें गुरुग्राम की हैं। लेकिन ऐसी हालत जहां-जहां भी लिकर शॉप्स खुलीं, वहां-वहां देखी गई।

<p>लोगों ने ऐसे शराब खरीदी, जैसे कोई सब्जी-भाजी खरीदता है।</p>

लोगों ने ऐसे शराब खरीदी, जैसे कोई सब्जी-भाजी खरीदता है।

<p>यह तस्वीर गुरुग्राम है। महिलाएं भी ऐसे शराब की बोतलें भर-भरकर ले गईं।</p>

यह तस्वीर गुरुग्राम है। महिलाएं भी ऐसे शराब की बोतलें भर-भरकर ले गईं।

<p>शराब की दुकानें खुलने का मानों महिलाएं भी बेसब्री से इंतजार कर रही थीं।</p>

शराब की दुकानें खुलने का मानों महिलाएं भी बेसब्री से इंतजार कर रही थीं।

<p>यह तस्वीर गुरुग्राम की है। जिसको जैसे चपेटते बना, वो वैसे बोतले ले गया।</p>

यह तस्वीर गुरुग्राम की है। जिसको जैसे चपेटते बना, वो वैसे बोतले ले गया।

<p>यह तस्वीर गुरुग्राम की है। लोग ऐसे शराब खरीदकर ले गए।</p>

यह तस्वीर गुरुग्राम की है। लोग ऐसे शराब खरीदकर ले गए।

<p>यह तस्वीर नई दिल्ली की है। शराब के लिए लोग कोरोना संक्रमण को भी भूल गए।</p>

यह तस्वीर नई दिल्ली की है। शराब के लिए लोग कोरोना संक्रमण को भी भूल गए।

<p>यह तस्वीर सुराप्रेमियों की पूरी कहानी बयां कर देती है।&nbsp;यह तस्वीर गुरुग्राम की है। महिलाएं भी शराब खरीदने में पीछे नहीं रहीं।</p>

यह तस्वीर सुराप्रेमियों की पूरी कहानी बयां कर देती है। यह तस्वीर गुरुग्राम की है। महिलाएं भी शराब खरीदने में पीछे नहीं रहीं।

<p>यह तस्वीर भी गुरुग्राम की है। देखिए किस तरह लोग शराब खरीदकर ले गए।</p>

यह तस्वीर भी गुरुग्राम की है। देखिए किस तरह लोग शराब खरीदकर ले गए।

<p>यह तस्वीर बताती है कि लोग शराब के लिए बैचेन थे।</p>

यह तस्वीर बताती है कि लोग शराब के लिए बैचेन थे।

<p>यह तस्वीर गुरुग्राम की है। लोगों ने मानों कई दिनों का कोटा एक साथ खरीद लिया।</p>

यह तस्वीर गुरुग्राम की है। लोगों ने मानों कई दिनों का कोटा एक साथ खरीद लिया।

<p>यह तस्वीर गुरुग्राम की है। ये हैं डिप्टी एक्साइज और टेक्सेशन कमिश्नर(ईस्ट) अरुणा सिंह। शराब बिक्री के दौरान गड़बड़ी रोकने ये लिकर शॉप पर पहुंचीं।</p>

यह तस्वीर गुरुग्राम की है। ये हैं डिप्टी एक्साइज और टेक्सेशन कमिश्नर(ईस्ट) अरुणा सिंह। शराब बिक्री के दौरान गड़बड़ी रोकने ये लिकर शॉप पर पहुंचीं।

<p>लोग ऐसे शराब खरीदकर ले गए, जैसे कोई ऑफर हो।</p>

लोग ऐसे शराब खरीदकर ले गए, जैसे कोई ऑफर हो।

<p>यह तस्वीर बताती है कि लोग शराब के लिए भी लॉकडाउन खुलने का इंतजार कर रहे थे।<br />
&nbsp;</p>

यह तस्वीर बताती है कि लोग शराब के लिए भी लॉकडाउन खुलने का इंतजार कर रहे थे।
 

<p>कुछ जगहों पर इतनी भीड़ उमड़ी कि पुलिस को संभालना मुश्किल पड़ गया।</p>

कुछ जगहों पर इतनी भीड़ उमड़ी कि पुलिस को संभालना मुश्किल पड़ गया।

loader