नपुंसकता से लेकर अस्थमा में कारगर है यह छोटी सी काली चीज, बस इस तरह अपनी डाइट में करें शामिल

| Dec 07 2022, 10:06 AM IST

नपुंसकता से लेकर अस्थमा में कारगर है यह छोटी सी काली चीज, बस इस तरह अपनी डाइट में करें शामिल

सार

क्या आप भी शीघ्रपतन, नपुंसकता, खून की कमी या अस्थमा जैसी समस्या से जूझ रहे हैं, तो अपनी डाइट में इस छोटी सी काली चीज को शामिल करें और इन सभी बीमारियों को दूर करें।

हेल्थ डेस्क : भारतीय खजाने में कई ऐसी चीजें हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होती है। उनमें से एक है पीपली। काले रंग की लंबी सी जड़ जैसी दिखने वाली यह पीपली बेहद फायदेमंद होती है। आयुर्वेद में इसका औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, जो कई बीमारियों से हमें बचाता है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं पीपली के फायदे और इसे खाने का तरीका...

इन बीमारियों में फायदेमंद है पीपली
अस्थमा 

अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, खांसी, गले में खराश, फेफड़ों की समस्या या सांस लेने में तकलीफ जैसी चीजों को कम करने के लिए पीपली बहुत कारगर है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सांस संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करती है।

Subscribe to get breaking news alerts

पेट दर्द 
अगर आप पेट दर्द की समस्या से परेशान है या खाना ठीक से पचता नहीं है, कॉन्स्टिपेशन की दिक्कत है तो आपको पीपली का सेवन करना चाहिए। खाली पेट पीपली के पानी को पीने से पेट संबंधी समस्याओं से निजात मिलती है।

खून की कमी 
खून की कमी से जूझ रहे लोग या जो लोग एनीमिया से पीड़ित हैं उनके लिए पीपली के चूर्ण का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। आप आधी चम्मच पीपली के पाउडर में थोड़ा सा शहद मिलाकर इसका सेवन करें। इससे ना सिर्फ खून की कमी दूर होती है बल्कि खून साफ भी होता है।

नपुंसकता 
जी हां शीघ्रपतन या नपुंसकता की समस्या को दूर करने के लिए पीपली बहुत कारगर है। आप खाना खाने से 1 घंटे पहले एक चम्मच पीपली के पाउडर में थोड़ा सा गाय का घी और शहद डालकर इसका सेवन करें। इससे शीघ्रपतन और नपुंसकता को दूर किया जा सकता है।

माहवारी के दर्द में मिले आराम 
महिलाओं के मासिक धर्म या माहवारी में पीपली का काढ़ा या पीपली के पानी का सेवन करने से पीरियड्स के अनियमित दर्द को कम किया जा सकता है। साथ गी कमर दर्द और हाथ पैर की जकड़न में भी आराम मिलता है।

ध्यान रखने योग्य बात
पीपली का इस्तेमाल करने से पहले जान लें की इसकी तासीर गर्म होती है। ऐसे में हमें नियमित मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए। खासकर गर्मियों में इसका सेवन नहीं करना चाहिए। सर्दियों के दिनों में आप एक या दो पीपली से ज्यादा इसका सेवन नहीं करें, नहीं तो खुजली और एलर्जी की समस्या हो सकती है।

और पढ़ें: टैटू का शौक 5 बच्चों की मां को ले डूबा, अंधी होने के कगार पर पहुंची, भूलकर भी ना पाले ऐसा शौक

300mg एस्प्रिन की गोली बचा सकती है सीरियस हार्ट अटैक, जानें क्या कहते हैं डॉक्टर