Asianet News HindiAsianet News Hindi

36 की उम्र में खतरनाक कैंसर की मैं हो गई शिकार,ये है 11 लक्षण जिन्हें सभी को चाहिए जानना

कैंसर होने के बाद एक महिला की जिंदगी पूरी तरह बदल गई। महज 36 साल की उम्र में उसे सर्वाइकल कैंसर का पता चला। वो कई कॉम्प्लिकेशन के साथ जिंदगी के पलों को जी रही है।

mother diagnosed with deadly cancer at just 36 here are the 12 symptoms everyone should know NTP
Author
First Published Oct 2, 2022, 12:57 PM IST

हेल्थ डेस्क. ऑस्ट्रेलिया के सिडनी की रहने वाली 36 साल की ब्रुक गोल्ड (Brooke Gold) सर्वाइकल कैंसर से पीड़ित हैं। उन्होंने कैंसर के सफर को साझा किया है। वो हमेशा स्मीयर टेस्ट करता थी। लेकिन बिजी लाइफस्टाइल और कैंसर के फैमिली हिस्ट्री को देखते हुए वो इतना डर गई थी कि पिछले पांच सालों में स्मीयर टेस्ट नहीं कराया। जब उनके पीरियड्स के बीच स्पॉटिंग का अनुभव हुआ तो उन्होंने इस टेस्ट को कराने का फैसला किया।

स्मीयर टेस्ट में पता चला कि उन्हें सर्वाइकल कैंसर हैं और वो  गर्भाशय ग्रीवा (cervix uteri) पर चार सेंटीमीटर की बढ़ोतरी कर चुका हैं। नवंबर 2020 में उन्हें स्टेज 4 का सर्वाइकल कैंसर का पता चला था। डॉक्टर का कहना था कि अगर वो टेस्ट कराने में एक महीने की देरी करते तो उनकी मौत भी हो सकती थी।

नहीं बच पाई फर्टिलिटी

ब्रुक ने कहा कि डॉक्टरों ने उनकी फर्टिलिटी को बचाने के लिए सर्जरी की कोशिश की। लेकिन वो नहीं हो पाया क्योंकि कैंसर पहले ही उके लिफ् नोड्स तक फैल चुका था। मतलब वो शरीर के दूसरे हिस्सों में भी फैल चुका था।  हालांकि वो अब ठीक हो चुकी हैं। लेकिन वो अभी भी इसके कॉम्प्लिकेशन से जूझ रही हैं।

वजाइना में होता है असहनीय दर्द

रेडियोथेरेपी की वजह से यूरिन ब्लैडर में छेद हो गया है। जिसकी वजह से योनी के अंदर गंभीर जलन होती है। 36 की उम्र में ही वो मेनोपॉज से भी गुजर रही हैं। इसके पीछे डैमिजिंग रेडिएशन है। डॉक्टर ने  ब्रुक को बताया है कि वह 'कैंसर से ठीक हो गई है', लेकिन अगले पांच वर्षों तक हर तीन महीने में पूरे शरीर की स्कैन की आवश्यकता होती है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि ये फिर से फैल तो नहीं रहा है। वो बताती हैं कि भले ही इलाज खत्म हो गया है, लेकिन लड़ाई लंबी है। वो सभी महिलाओं को स्मीयर टेस्ट  कराने की सलाह देती हैं।

चलिए बताते हैं सर्वाइकल कैंसर के 12 लक्षण
1. असामान्य ब्लीडिंग
2.सेक्स के दौरान दर्द और बेचैनी
3.असामान्य वजाइनल डिस्चार्ज
4.आपकी पीठ के निचले हिस्से या पेल्विस में दर्द
5.आपकी किडनी की वजह से पीठ में तेज दर्द
6.कब्जिय
7.सामान्य से ज्यादा पेशाब होना
8.अपने मूत्राशय या आंतों पर नियंत्रण खोना
9.पेशाब में खून का आना
10.पैरों में सूजन आना
11.वजाइना में बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होना

और पढ़ें:

अगर आप सेक्सुअली एक्टिव हैं, तो सर्वाइकल कैंसर को लेकर जानें ये जरूरी 5 बातें

IAS अतहर को माननी पड़ी डॉक्टर महरीन की ये 3 'शर्तें', फिर हुआ निकाह, देखें VIDEO

फेस्टिवल के बीच आ रहा है पीरियड्स, तो बिना दवा खाएं भी कर सकते हैं डेट आगे, अपनाएं ये 5 नुस्खे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios