Asianet News HindiAsianet News Hindi

lunar eclipse 2021: चंद्रग्रहण 19 नवंबर को, जिन लोगों की कुंडली में है ये अशुभ योग, उन्हें भी रहना होगा बचकर

इस बार कार्तिक पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण (lunar eclipse 2021) का योग बन रहा है, जो 19 नवंबर, शुक्रवार को है। हालांकि ये ग्रहण भारत के कुछ ही हिस्सों में दिखाई देगा, शेष भारत में ये ग्रहण कहीं भी दिखाई नहीं देगा। इसलिए यहां इसका कोई धार्मिक महत्व जैसे सूतक आदि मान्य नहीं होंगे।

Lunar Eclipse 2021 on 19th November Astrology Jyotish Horoscope Kundli Remedies to avoid inauspicious effect MMA
Author
Ujjain, First Published Nov 18, 2021, 7:00 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिषिय दृष्टिकोण से 19 नवंबर को होने वाला चंद्रग्रहण महत्वपूर्ण रहेगा। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, ये ग्रहण वृषभ राशि के कृत्तिका नक्षत्र में होगा। इसलिए इस राशि और नक्षत्र में जिन लोगों का जन्म हुआ है, उन्हें इस समय थोड़ा बचकर रहना होगा, उनके साथ कोई अनहोनी घटना हो सकती है। इसके अलावा जिन स्थानों पर ये ग्रहण दिखाई देगा, वहां गर्भवती महिलाओं को भी इस ग्रहण में घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए।

ये रहेगा ग्रहण का समय
19 नवंबर, शुक्रवार को लगने वाला यह चंद्रग्रहण खंडग्रास चंद्र ग्रहण होगा। भारतीय समय के अनुसार ये ग्रहण 19 नवंबर की सुबह 11:34  मिनट से आरंभ होगा और इसका समापन शाम 05:33 मिनट पर होगा। ग्रहणकाल की कुल अवधि लगभग 05 घंटे 59 मिनट रहेगी। ये ग्रहण भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम और अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्सो में दिखाई देगा। वहीं विदेशों में अमेरिका, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया और प्रशांत महासागर क्षेत्र में दिखाई पड़ेगा। 

इन लोगों पर भी होता है ग्रहण का अशुभ प्रभाव
ज्योतिषाचार्य पं. द्विवेदी के अनुसार, कुंडली में चंद्रमा और राहु का संबंध हो या एक ही घर में ये दोनों ग्रह स्थित हो, तो ग्रहण योग का निर्माण होता है। जिन लोगों की कुंडली में ये योग हो, उन्हें चंद्रग्रहण के दौरान बचकर रहना चाहिए। चंद्रग्रहण के कारण इन लोगों पर मानसिक रूप से प्रभाव पड़ता है। चंद्रमा के साथ राहु के संबंध से चंद्रमा दूषित हो जाता है जिससे व्यक्ति को मन में नकारात्मक, काल्पनिक ख्याल आने लगते हैं। व्यक्ति को मानसिक समस्याएं होने लगती हैं।

अशुभ फल से बचने के लिए ये उपाय करें
1.
जिन लोगों की कुंडली में ग्रहण योग है, उन्हें चंद्रग्रहण के अशुभ योग से बचने के लिए शिवजी की पूजा करनी चाहिए।
2. चंद्रग्रहण समाप्त होने के बाद चंद्रमा से संबंधित चीजों जैसे चावल, दूध, चांदी आदि चीजों का दान करना चाहिए।
3. चंद्रग्रहण के दौरान घर से बाहर न निकलते हुए चंद्रमा और शिवजी के मंत्रों का जाप करें।

ये भी पढ़ें

19 नवंबर को होगा साल का अंतिम चंद्रग्रहण, इन 4 राशियों पर हो सकता है बुरा प्रभाव

580 साल बाद सबसे लंबा चंद्रग्रहण 19 नवंबर को, पृथ्वी की छाया से 97 प्रतिशत ढंक जाएगा चंद्रमा

19 नवंबर को चंद्र और 4 दिसंबर को होगा सूर्यग्रहण, लगातार 2 ग्रहण से आ सकती हैं प्राकृतिक आपदाएं

19 नवंबर को वृषभ राशि में होगा साल का अंतिम चंद्रग्रहण, अशुभ फल से बचने के लिए ये उपाय करें

साल का अंतिम चंद्रग्रहण 19 नवंबर को, भारत के कुछ हिस्सों में देगा दिखाई, ग्रहण के बाद करें ये काम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios