Asianet News HindiAsianet News Hindi

सावन के हर सोमवार को बन रहे हैं खास योग, इस दिन पूजा के साथ खरीदारी भी रहेगी शुभ

शिव पूजा का महीना सावन 25 जुलाई से शुरू हो चुका है, जो 22 अगस्त तक रहेगा। सावन का पहला सोमवार निकल चुका है, अब 3 सोमवार शेष हैं। इनमें से 2 शुक्लपक्ष और 2 कृष्णपक्ष में रहेंगे।

Sawan 2021, every monday of this month is auspicious for shopping and puja KPI
Author
Ujjain, First Published Jul 28, 2021, 10:04 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र के अनुसार, आने वाले हर सोमवार पर तिथि-नक्षत्रों से मिलकर विशेष संयोग बन रहा है। जिससे शिव पूजा और व्रत का फल और भी बढ़ जाएगा। साथ ही खरीदारी और नए कामों की शुरुआत के लिए भी हर सोमवार अपने आप में एक शुभ मुहूर्त है। तिथि-नक्षत्रों से मिलकर बनने वाले इन शुभ योगों में किए गए कामों में सफलता और फायदा मिलेगा। साथ ही हर सोमवार को किए गए दान का कई गुना फल भी मिलेगा।

दूसरा सोमवार, 2 अगस्त
- इस दिन चंद्रमा कृत्तिका नक्षत्र में रहेगा और सर्वार्थसिद्धि योग भी इस दिन बन रहा है। कृतिका नक्षत्र के स्वामी अग्निदेव हैं। इसे सूर्य का नक्षत्र भी कहा जाता है।
- इस नक्षत्र में शिव पूजा करने से जाने-अनजाने में हुए पाप, दोष, डर और बीमारियां दूर होती हैं। इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग में किए गए कामों में सफलता भी मिलती है।
- इस नक्षत्र और शुभ मुहूर्त में जॉब और बिजनेस के जरूरी काम निपटाए जाएं तो तरक्की और फायदा मिलता है।

तीसरा सोमवार, 9 अगस्त
- तीसरे सोमवार को चंद्रमा अश्लेषा नक्षत्र में रहेगा। साथ ही वरीयान योग भी बन रहा है। इस नक्षत्र के स्वामी सर्प होते हैं। इसलिए इस नक्षत्र में की गई शिव पूजा विशेष फलदायी होती है।
- अश्लेषा नक्षत्र में शिव पर जल और दूध चढ़ाने से पितृ संतुष्ट होते हैं। इससे पितृ दोष में राहत मिलती है। वरीयान का अर्थ होता है, अपेक्षाकृत श्रेष्ठ। इसलिए इस योग में किया गया काम बिना रुकावट के पूरा होता है।
- इस दिन जॉब और बिजनेस से जुड़े जरूरी काम निपटाए जा सकते हैं। इस शुभ योग और नक्षत्र में शिव पूजा से सेहत में लाभ होता है और मनोकामना पूरी होती है।

चौथा सोमवार, 16 अगस्त
- चौथे सोमवार को अनुराधा नक्षत्र और ब्रह्म योग का विशेष संयोग बन रहा है। इस नक्षत्र के देवता मित्र नाम के आदित्य हैं। जो कि 12 आदित्यों में एक हैं।
- इस नक्षत्र पर शनि का प्रभाव ज्यादा होता है। इसलिए अनुराधा नक्षत्र में शिव पूजा से रोग, शोक और दोष खत्म हो जाते हैं।
- इस दिन ब्रह्म योग बनने से शिव पूजा का फल और बढ़ जाएगा। इस शुभ योग में शिव पूजा से कोर्ट केस और विवाद खत्म हो जाते हैं। साथ ही दुश्मनों पर जीत भी मिलती है।
- इस दिन प्रॉपर्टी संबंधी लेन-देन, निवेश और व्हीकल खरीदारी के लिए मुहूर्त रहेगा।

सावन मास के बारे में ये भी पढ़ें

सावन में 17 दिन बनेंगे शुभ योग, इसके अलावा शिव पूजा के लिए 8 दिन रहेंगे खास

सावन में राशि अनुसार करें ये आसान उपाय, जीवन में बनी रहेगी सुख-समृद्धि

श्रावण मास में पेड़-पौधे लगाने और दान करने से प्रसन्न होते हैं पितृ और देवता

श्रवण नक्षत्र से बना सावन, स्कंद पुराण से जानिए शुभ फल पाने के लिए इस महीने में क्या करना चाहिए

सावन के पहले दिन करिए उज्जैन के महाकालेश्वर भगवान के अद्भुत श्रृंगारों के दर्शन

सावन स्पेशल: इस मंदिर में शिवजी के अंगूठे की होती है पूजा, दिन में 3 बार रंग बदलता है शिवलिंग

25 जुलाई से शुरू होगा सावन मास, जानिए इस महीने से कौन-से काम करने से बचें व अन्य खास बातें

सावन आज से: भगवान शिव को चढाएं ये 5 खास चीजें, हर परेशानी हो सकती है दूर

सावन मास में इस आसान विधि से रोज करें शिवजी की पूजा, जीवन में बनी रहेगी सुख-समृद्धि

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios