उज्जैन. विदेश यात्रा के कारक ग्रह चंद्र, शुक्र और राहु माने गए हैं। हस्तरेखा में विदेश यात्रा का योग चंद्र पर्वत, चंद्र रेखा, भाग्य रेखा और जीवन रेखा को देखकर बताया जाता है। हथेली में चंद्र पर्वत कनिष्ठिका यानी सबसे छोटी अंगुली के नीचे बुध पर्वत के बाद से लेकर मणिबंध तक का क्षेत्र होता है। इस पर मौजूद खड़ी रेखाएं चंद्र रेखाएं होती हैं। आगे जानिए कैसे बनते हैं विदेश यात्रा के योग…

1. चंद्र पर्वत उन्नत, लालिमा लिए हुए, चिकना, कोमल और रेखाओं के जाल युक्त स्पष्ट सुंदर हो तथा इस पर एक स्पष्ट गहरी लाल रेखा हो तथा साथ में भाग्य रेखा भी बिना कटी-फटी हो तो व्यक्ति निश्चित रूप से विदेश यात्राएं करता है।
2. चंद्र पर्वत के ठीक मध्य में वर्ग का चिन्ह हो और भाग्य के उद्गम स्थल पर मछली के आकार का चिन्ह हो तो व्यक्ति समुद्र पारीय देशों की यात्रा करता है।
3. जिस व्यक्ति की भाग्य रेखा स्पष्ट, लालिमा लिए हुए हो और अपने अंतिम स्थान पर गुरु पर्वत की ओर झुक जाए वह व्यक्ति विदेशी व्यापार से धन अर्जित करता है।
4. भाग्य रेखा जिस स्थान पर जीवन रेखा से मिलती हो और ठीक उसी स्थान पर चंद्र पर्वत से आकर एक रेखा मिलती हो तो व्यक्ति का अधिकांश समय विदेश में व्यतीत होता है।
5. चंद्र पर्वत पर मछली के आकार का चिह्न हो तो व्यक्ति शिक्षा के क्षेत्र में विदेशों में विशेष सफलता हासिल करता है।
6. चंद्र पर्वत पर स्वस्तिक का चिह्न हो तो व्यक्ति न केवल अपने देश, बल्कि विदेशों में भी बड़ा पद और प्रतिष्ठा प्राप्त करता है।
7. जीवन रेखा, भाग्य रेखा स्पष्ट हो और इन पर नक्षत्र, त्रिभुज, जाल आदि चिह्न न हो और चंद्र पर्वत उन्नत हो तो व्यक्ति जीवन में कई बार हवाई और समुद्री यात्राएं करता है।
8. चंद्र पर्वत से अनेक रेखाएं निकलकर ऊपर की ओर बढ़ रही हों तथा उनमें से कोई एक रेखा सूर्य रेखा से जाकर मिले तो ऐसा व्यक्ति विदेशों में किसी बड़े सरकारी पद पर प्रतिष्ठित होता है।

हस्त शास्त्र के बारे में ये भी पढ़ें

हस्तरेखा: हथेली में क्रॉस का निशान बताता है किस वजह से हो सकती है आपकी मृत्यु

हथेली में जिस स्थान पर होता है मछली जैसा निशान उसी के अनुसार देता है शुभ फल

हस्तरेखा: विवाह रेखा कटी-फटी हो या अशुभ चिह्नों से युक्त हो तो वैवाहिक जीवन में बनी रहती हैं परेशानियां

भविष्य में आने वाले संकट की सूचना देते हैं नाखून पर उभर आए काले निशान

जानिए हथेली पर सर्प का निशान किस स्थान पर हो तो उसका क्या फल मिलता है

शुभ और अशुभ दोनों तरह के फल देता है हथेली पर बना तारे का चिह्न, जानिए इससे जुड़ी खास बातें

हस्तरेखा: जानिए कब शुभ और कब अशुभ फल प्रदान करती है दोहरी भाग्य रेखा

हथेली में यहां होती है स्वास्थ्य रेखा, इससे जान सकते हैं आपको कौन-सी बीमारी हो सकती है

जिस व्यक्ति की हथेली में बनता है बुध योग, उसे हर बिजनेस में मिलती है सफलता

बहुत ही शुभ होता है हथेली में शंख का चिह्न, जानिए किस स्थान पर होने से क्या फल मिलता है

हस्तरेखा: लड़की की हथेली देखकर जान सकते हैं उसके होने वाले पति के बारे में ये खास बातें