Asianet News HindiAsianet News Hindi

MP में दिल दहला देने वाला एक्सीडेंट: पलभर में तीन भाई-बहनों की दर्दनाक मौत, देखने वालों का भी कांप गया कलेजा

यह भयानक एक्सीडेंट शनिवार शाम  राजगढ़ जिले के खिलचीपुर में जयपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे पर हुआ। जहां सगे भाई-बहन और चाचा की लड़की के साथ खिलचीपुर के प्रसिद्ध शनि मंदिर में दर्शन कर घर लौट रहे थे। इसी दौरान ट्रक ने बाइक को टक्कर मार दी। जिससे तीनों की मौके पर ही मौत हो गई।

Madhya Pradesh 3 brothers and sisters die painful road accident in rajgarh
Author
Rajgarh, First Published Dec 4, 2021, 10:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


राजगढ़. मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले से एक दर्दनाक हादसे की खबर सामने आई है। जहां एक बाइक को सामने से आ रहे ट्रक ने जबरदस्त टक्कर मार दी। जिसमें तीन भाई-बहनों की मौक पर ही दर्दनाक मौत हो गई। इतना ही नहीं सड़क पर गिरते ही तीनों के ऊपर से ट्रक के पहिए गुजर गए। जिससे वह बुरी तरह नीचे दब गए।

ट्रक के पहिए के नीचे आ गई बहन की खोपड़ी
दरअसल, यह भयानक एक्सीडेंट शनिवार शाम  राजगढ़ जिले के खिलचीपुर में जयपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे पर हुआ। जहां सगे भाई-बहन और चाचा की लड़की के साथ खिलचीपुर के प्रसिद्ध शनि मंदिर में दर्शन कर घर लौट रहे थे। इसी दौरान  बाबड़ीखेड़ा गांव पास ट्रक ने बाइक को टक्कर मार दी। जिससे बाइक अनिंयत्रित होकर सड़क पर जा गिरी। जिसके बाद ट्रक एक युवती को रौंदते हुए निकल गया। 

हादसे मंजर देख लोगों के रोंगटे खड़े हो गए
यह हादसा इतना भयानक था कि देखने वालों के रोंगटे खड़े हो गए। क्योंकि ट्रक के पहिए के नीचे आई एक महिला खून से लथपथ हो चुकी थी। खोपड़ी और चेहरा देख लोगों का कलेजा कांप गया। हालांकि लोगों ने हिम्मत करके तीनों को ट्रक के नीचे से  काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला। इसके बाद तत्काल पुलिस को बुलाकर मामले की पूरी जानकारी दी। 

तीनों भाई-बहन 21 साल से कम उम्र के थे
पुलिस ने तीनों के शव बरामद कर अस्पताल भेजे और मृतकों की पहचान कर परिजनों को बुलाया गया। मृतकों की पहचान 21 साल का भाई कमल, 19 साल की बहन रेखा और 16 साल की काका की बेटी  निशा के रुप में हुई। वहीं मौके पर मौजूद भीड़ ने ट्रक के क्लीनर को पकड़ लिया। जबकि ड्राइवर भागने में कामयाब रहा।


यह भी पढ़ें-Rajasthan: South Africa से लौटे एक ही परिवार के 4 सदस्य कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए 5 रिश्तेदार भी संक्रमित

MP: हे निर्दयी मां... मैं अभी जिंदा हूं, 3 दिन के बच्चे को जिंदा दफनाया, एक चमत्कार से बच गई नन्हीं जान

दिल को छू लेने वाली खबर: बिल्लियों ने बचाई नवजात की जान, माता-पिता ने मासूम को छोड़ दिया था मरने

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios