Asianet News HindiAsianet News Hindi

आशीष चतुर्वेदी की हालत नाजुक: हजारों का करियर बचाने वाला मौत से जूझ रहा, सबने छोड़ दिया अकेला

सोशल मीडिया पर आशीष चतुर्वेदी को मेडिकल हेल्प दिलाने के लिए मुहीम चल रही है। आशीष चतुर्वेदी की पिछले कुछ दिनों से तबीयत बेहद चिंताजनक बनी हुई है। वह कई दिनों ग्वालियर के कल्याण अस्पताल में भर्ती थे।

Madhya Pradesh Vyapam Scam whistle blower Ashish Chaturvedi critical condition in Hospital, need help, DVG
Author
New Delhi, First Published Aug 20, 2022, 8:41 PM IST

भोपाल। मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले (Vyapam Scam) का खुलासा करने वाले व्हिसल ब्लोअर आशीष चतुर्वेदी (Ashish Chaturvedi) जीवन-मौत से जूझ रहे हैं। हजारों युवाओं के भविष्य को बचाने के लिए अपनी जान की बाजी लगाने वाले इस युवा को अब लोगों के मदद की जरूरत है तो कोई सामने नहीं आ रहा है। सरकार पर तो गुहार का कोई असर पड़ नहीं रहा है लेकिन इस घोटाले के बल पर माइलेज लेने वाला विपक्ष भी इस युवा को बचाने के लिए फिक्रमंद नहीं है। 

ग्वालियर अस्पताल के बाद दिल्ली किया गया शिफ्ट

आशीष चतुर्वेदी की पिछले कुछ दिनों से तबीयत बेहद चिंताजनक बनी हुई है। वह कई दिनों ग्वालियर के कल्याण अस्पताल में भर्ती थे। हालत बेहद खराब होने के बाद उनको दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। परिवार इस युवा एक्टीविस्ट को बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है लेकिन बेहतर ट्रीटमेंट की आवश्यकता है। परिजन का आरोप है कि जिस सिस्टम के खिलाफ था, उसमें शामिल लोग तो कभी मदद करेंगे नहीं, जो लोग उसकी लड़ाई में शामिल होकर राजनीतिक लाभ लेते रहे वह भी बेपरवाह हैं। 

सोशल मीडिया पर चल रही मदद की अपील

सोशल मीडिया पर आशीष चतुर्वेदी को मेडिकल हेल्प दिलाने के लिए मुहीम चल रही है। ट्वीटर पर एक यूजर राज रावत ने लिखा है कि छोटे भाई आशीष चतुर्वेदी जीवन-मौत से जूझ रहे हैं। उनकी मदद की गुहार लगाते हुए रावत ने उनके जल्द सामाजिक कार्य के लिए लौटने की दुआ मांगी है। इसी तरह कुंवर राज्यवर्धन सिंह नामक एक यूजर ने आशीष चतुर्वेदी के मदद की अपील करते हुए जल्द स्वस्थ होने की दुआ मांगी है। राज्यवर्धन सिंह ने कहा कि आशीष के पिता ने राज्य सरकार से गुहार लगाई लेकिन वह लोग मदद में कोई रूचि नहीं दिखा रहे हैं। आशीष के पिता ने पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह व कमलनाथ से भी मदद की गुहार लगाई है। दिग्विजय सिंह का फोन ही नहीं उठा और कमलनाथ पूरी तरह से अनजान हैं। उन्होंने कांग्रेस के दोनों पूर्व सीएम को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह वह नाम है जो सरकार बनाने के लिए उसकी मदद के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहते थे लेकिन अब उसकी जरूरत है तो कोई नहीं है।

राज्यसभा सांसद ने ट्वीट कर दी जानकारी

राज्यसभा सांसद विवेक तनखा ने परिवार के सदस्यों से बीते दिनों बात कर इलाज के लिए हर संभव प्रयास किए जाने की बात कही है। सांसद विवेक तनखा ने 13 अगस्त को ट्वीट किया कि...
आशीष चतुर्वेदी ( व्यापम विसल ब्लोअर ) की तबियत अत्यंत चिंताजनक है। ग्वालियर कल्याण अस्पताल में अड्मिट है। दिल्ली शिफ़्ट करने का प्रयास हो रहा है। आशीष के पिता जी से बात हुई। आशीष को बेस्ट ट्रीटमेंट दिलवाने का हर सम्भव प्रयास होगा। आशीष की साइकल Vyapam का प्रतीक चिन्ह रहा।

क्या है व्यापम घोटाला?

मध्य प्रदेश का व्यापम घोटाला 2013 में हुआ था। प्री मेडिकल टेस्ट में धांधली का खुलासा होने के बाद हड़कंप मच गया था। इस घोटाले से जुड़े तमाम लोगों की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत भी हुई थी। सीबीआई जांच में इस घोटाले में तीन मेडिकल कॉलेजों के अध्यक्षों समेत 160 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई थी। 

आशीष चतुर्वेदी ने किया था यह खुलासा

व्यापम घोटाले का खुलासा व्हिसल ब्लोअर आशीष चतुर्वेदी ने किया था। साइकिल से चलने वाले इस एक्टीविस्ट के खुलासे से राज्य शासन-प्रशासन परेशान हो गया था। आशीष पर इस खुलासे के बाद कई हमले हुए, तमाम धमकियां मिली। आशीष को सुरक्षा भी बाद में मिला। लेकिन उनके सुरक्षाकर्मी साइकिल पर चलने वाले एक्टीविस्ट की सुरक्षा को लेकर हमेशा परेशान रहते थे। आशीष चतुर्वेदी पर एक वेबसीरीज भी आई थी जिसका नाम व्हिसल ब्लोअर था।

यह भी पढ़ें:

AD पर बवाल: Zomato से मंदिर के पुजारी की दो टूक: दूसरा समुदाय कंपनी फूंक देता, हम केवल माफी को कह रहे

भारत के सामने अपनी मजबूरियों को श्रीलंका ने किया साझा, कहा-हम छोटे देश हैं, चीन को नहीं दे सकते जवाब

दिल्ली में अब शोर नहीं...पुलिस ने चलाया अभियान तो लोग भी आने लगे साथ, दे रहे खूब सुझाव

CBI ने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का mobile व computer किया जब्त, दिन भर चली तलाशी

जम्मू-कश्मीर में आतंक के लिए हवाला के जरिए फिर आ रहा धन, टेरर फंडिंग का दिल्ली एजेंट अरेस्ट

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios