Asianet News HindiAsianet News Hindi

बीजेपी का मिशन यूपी: 50 सीटों पर मुस्लिम कैंडिडेट्स उतार सकती है पार्टी, अल्पसंख्यक वोटों को लिए प्लान रेडी

पार्टी हर विधानसभा क्षेत्र में 50 एक्टिव कार्यकर्ताओं की पहचान कर रही है। उन्हें ट्रेनिंग देने के बाद हर गलियों से 100 वोट लाने का लक्ष्य दिया जाएगा।

BJP  mission UP: Party can field Muslim candidates in 50 seats, plan ready for minority votes
Author
New Delhi, First Published Aug 17, 2021, 7:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.  उत्तरप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। यूपी में मुस्लिम समुदाय की वोट पाने के लिए भाजपा की योजना तैयार हो गई है। बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष जमाल सिद्दीकी ने बताया कि पार्टी का फोकस हर विधानसभा में 5 हजार मुस्लिम वोटों को अपने फेवर में लाने की तैयारी में है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय के वोटों को सुरक्षित करने के लिए, भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा अपने सक्रिय सदस्यों को उनके नाम पर पार्टी के लिए वोट मांगने के लिए प्रशिक्षित करने के लिए तैयार कर रही है।

इसे भी पढ़ें- राहुल के दौरे पर नड्डा का कमेंट, कहा- अमेठी से हार गए इसलिए वायनाड गए पर व्यवहार नहीं बदला

उन्होंने बताया कि पार्टी हर विधानसभा क्षेत्र में 50 एक्टिव कार्यकर्ताओं की पहचान कर रही है। उन्हें ट्रेनिंग देने के बाद हर गलियों से 100 वोट लाने का लक्ष्य दिया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि पार्टी प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 5,000 मुस्लिम वोटों को क्यों सुरक्षित करना चाहती के सवाल पर उन्होंने कहा- हमने पिछले चुनावों का विश्लेषण किया है। लगभग 20 प्रतिशत विधानसभा सीटें हम 5,000 मतों के अंतर से हारे थे। उन्होंने कहा कि यहां तक कि बंगाल में भी हमने कम अंतर से काफी सीटें गंवाईं हैं।

उन्होंने कहा कि इस बार के विधानसभा चुनाव में पार्टी अपने मुस्लिम कैंडिडेट्स के लिए भी वोट मांगेगी। सिद्दीकी ने कहा कि मोर्चा ने उत्तर प्रदेश में 50 सीटों की पहचान की है जहां 60 प्रतिशत से अधिक मुस्लिम आबादी है और उनके समुदाय के लिए टिकट सुरक्षित करने की योजना है। भाजपा के मुस्लिम कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए पार्टी का एक नारा है "जो चुनाव लड़ेगा वही आएगा बढ़ेगा।"

इसे भी पढे़ं- योगी सरकार ने लेखपालों के लिए दिया बड़ा तोहफा, खत्म हुआ उनका सालों का इंतजार..जानिए पूरी डिटेल

सिद्दीकी ने कहा- हमारा समर्थन करना हमारे समुदाय की जिम्मेदारी है। हम पार्टी से अधिक प्रतिनिधित्व चाहते हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करना कि हमारे उम्मीदवारों की जीत हमारे समुदाय की जिम्मेदारी है। पिछले विधानसभा चुनाव में, भाजपा ने उत्तर प्रदेश में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को एक भी टिकट नहीं दिया था। लेकिन उनका मानना है कि इस चुनाव में चीजें बदलने की संभावना है।

उन्होंने कहा कि हमें टिकट इसलिए नहीं मिलता क्योंकि हमारे पास ऐसे कैंडिडेट्स नहीं हैं जो चुनाव जीत सकें। हमें मुस्लिम बाहुल्य सीटों से लड़ना चाहिए। हम समुदाय से जुड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। मुसलमानों की भाजपा में 25 प्रतिशत हिस्सेदारी है क्योंकि इसके संस्थापक सदस्यों में से एक सिकंदर बख्त थे। हमारा समुदाय इन तथ्यों को नहीं जानता है। अगर हम भाजपा के दुश्मन हैं, तो ऐसा क्यों है कि भाजपा हमारे लिए भी काम कर रही है।' 

इसे भी पढे़ं- UP के चर्चित पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर की राजनीति में एंट्री, CM योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने का किया ऐलान

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios