Asianet News HindiAsianet News Hindi

Parliament session: धारा 370 हटने के बाद J&K में 366 आतंकवादी मारे गए, मुंद्रा पोर्ट के बारे में कही ये बात

संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session) के दौरान राज्यसभा में गृहमंत्रालय ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370(Article 370)  हटने के बाद से अब नवंबर तक 366 आतंकवादी मारे गए हैं। इस बीच गुजरात के मुद्रा पोर्ट पर मिली ड्रग्स को लेकर भी एक जानकारी दी गई।

civilians & 81 security personnel lost their lives in Kashmir between Aug 5, 2019 and Nov 30, Rajya Sabha KPA
Author
New Delhi, First Published Dec 8, 2021, 1:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली.संसद के शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session) के दौरान राज्यसभा में गृहमंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर को लेकर जानकारी दी। गृहमंत्रालय ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370(Article 370) हटने के बाद से 5 अगस्त, 2019 (अनुच्छेद 370 को निरस्त करना) और 30 नवंबर, 2021 के बीच कश्मीर में 366 आतंकवादी मारे गए। इसके अलावा 96 नागरिक और 81 सुरक्षाकर्मियों की भी जान गई। वहीं, यह भी बताया गया कि धारा 370 के निरस्त होने के बाद घाटी से कोई भी कश्मीरी पंडित/हिंदू विस्थापित नहीं हुआ है।

एक और आतंकवादी ढेर
इस बीच खबर है कि शोपियां मुठभेड़ में एक अज्ञात आतंकवादी मारा गया है। कश्मीर जोन पुलिस ने बताया कि ऑपरेशन अभी चल रहा है। जानकारी के अनुसार, सुरक्षाबलों को बुधवार सुबह सूचना मिली थी कि शोपिया जिले के चक ए चौलाद इलाके में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी)-द रेजिस्टेंस फ्रंट ( टीआरएफ ) के तीन आतंकी छिपे हुए हैं। पुलिस और सेना ने इलाके को घेरकर ऑपरेशन शुरू किया। जब आतंकवादियों को सरेंडर करने को कहा गया, तो उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया।

उप राज्यपाल मानते हैं कि घाटी से आतंकवाद खत्म होने की स्थिति में
नवंबर में जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा(Lt Governor Manoj Sinha) का एक बयान सामने आया था। इसमें  उन्होंने कहा था कि जम्मू-कश्मीर में अगले दो साल में आतंकवाद खत्म हो जाएगा। सिन्हा ने कहा था कि स्थितियां बदल गई हैं। कुछ तत्व स्थितियां बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन सरकार इस दिशा में सकारात्मक काम कर रही है।

मुंद्रा पोर्ट के बारे में दी गई ये जानकारी
राज्यसभा में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एनसीबी रिकॉर्ड के आधार पर बताया कि 2988.21 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती से पहले गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह से कोई ड्रग्स जब्त नहीं किया गया था। बता दें अक्टूबर में गुजरात (Gujrat) के कच्छ में स्थित मुंद्रा पोर्ट पर हेरोइन की बड़ी खेप पकड़ी गई थी। इस ड्रग्स की कीमत करीब 9000 करोड़ रुपये बताई जा रही है। दो कंटेनर्स में करीब 3000 किलो हेराइन मिली थी। बीते 20 सितंबर को इस अवैध ड्रग्स के साथ दो लोगों को भी अरेस्ट किया गया था। राजस्व खुफिया निदेशालय (DRI) और कस्टम के ऑपरेशन में हेरोइन की बरामदगी की थी।

यह भी पढ़ें
ASSAM RIFLES SIEZES NARCOTICS: भारत-म्यांमार बॉर्डर से 500 करोड़ की ब्राउन शुगर और अन्य DRUGS पकड़ी
Parliament Winter Session: नागालैंड फायरिंग और किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष फिर से सरकार के खिलाफ धरने पर
Kisan andolan: जब तक सरकार लिखित में भरोसा नहीं देती, किसान आंदोलन खत्म नहीं करेंगे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios