Asianet News HindiAsianet News Hindi

जम्मू-कश्मीर: आतंकवादी ठिकानों पर जल्द किसी बड़े Action की तैयारी; उप राज्यपाल बोले-'बदला लिया जाएगा'

जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकवादियों के साथ हुए एनकाउंटर(Encounter) में दो जवान शहीद हो गए हैं। इस बीच उप राज्यपाल मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) ने कहा है कि आतंकवादियों से बदला लिया जाएगा। जल्द बड़े एक्शन की तैयारी है।

Encounter in Jammu and Kashmir, another army soldier martyred and Manoj Sinha statement
Author
Jammu and Kashmir, First Published Oct 15, 2021, 12:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जम्मू-कश्मीर. घाटी में हिंदुओं को टारगेट कर रहे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ सरकार कोई बड़ा एक्शन लेने की तैयारी कर रही है। जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) ने इसके संकेत दिए हैं। यह बयान ऐसे समय में आया है, जब घाटी में हफ्तेभर में 7 जवान शहीद हुए हैं। बता दें कि दशहरे पर सुबह नागपुर स्थित RSS के मुख्यालय में शस्त्र पूजन के दौरान डॉ. मोहन भागवत भी आतंकवादियों खिलाफ सख्त एक्शन की बात कह चुके हैं। भागवत ने कहा कि वे जम्मू-कश्मीर होकर आए हैं। धारा 370 हटने से आम जनता को फायदा हुआ है। घाटी में हिन्दुओं की टारगेट किलिंग की जा रही है। जैसा वे पहले चुन-चुनकर करते थे। मनोबल गिराने वे हिंसा कर रहे हैं। उनका बंदोबस्त करना होगा।

क्या आतंकी ठिकानों पर फिर से हो सकती है एयरस्ट्राइक
सीएनएन न्यूज18 के साथ बातचीत में उप राज्यपाल ने कहा कि आतंकवादियों की ओर से घाटी में हुईं दुर्भाग्यपूर्ण हत्याओं की वे जिम्मेदारी लेते हैं। घाटी में आतंकवादी गतिविधियों पर सख्ती से रोक लगाने सरकार प्लान तैयार कर रही है। बहुत जल्द इसे धरातल पर लाया जाएगा। सिन्हा ने कहा कि टारगेट किलिंग करके आतंकवादी डर का माहौल पैदा कर रहे हैं। आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इन मौतों का बदला लिया जाएगा। केंद्र सरकार, खुफिया एजेंसियों और सुरक्षाबलों ने मौजूदा हालात से निपटने पूरी रणनीति तैयार कर ली है। जल्द एक्शन होगा। आतंकवादियों के पारिस्थतिकी तंत्र(Ecosystem) को नष्ट किया जाएगा। सिन्हा का इशारा पाकिस्तान से मिल रही मदद और आतंकी ठिकानों से है। सिन्हा ने कहा कि 2 साल में घाटी में पर्यटन बढ़ा है। विकास तेजी से हुआ है। यही बात आतंकवादियों को सहन नहीं हो रही है।

यह भी पढ़ें-Bangladesh हिंसा: रूपसा के एक मंदिर के पास RAB को मिले 18 बम; 100 से अधिक अरेस्ट; ये हैं मौजूदा हालात

शहीद के परिजनों से मिलने गए थे सिन्हा
उप राज्यपाल मनोज सिन्हा 2 दिन पहले जम्मू के पटोली मंगोट्रियन में शहीद शिक्षक दीपक चंद के परिवार से मुलाकात करने गए थे। सिन्हा ने tweet करके कहा था कि परिवार को केंद्र शासित प्रदेश सरकार की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया गया है। इस दुख की घड़ी में प्रशासन परिवार के साथ पूरी तरह से खड़ा है।

यह भी पढ़ें-RSS मुख्यालय में बोले भागवत-'जनसंख्या का असंतुलन देश की एक बड़ी समस्या, आतंकवादियों का बंदोबस्त करना होगा'

हफ्तेभर में 7 जवान शहीद
घाटी में आतंकवादियों से लगातार मुठभेड़ जारी है। पुंछ जिले के भिंबर गली में ऑपरेशन के दौरान एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर (जेसीओ) सहित दो जवान शहीद हो गए। आर्मी के दो जवान गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं।

pic.twitter.com/IAsSluTi9O

यह भी पढ़ें-Kisan Andolan: सिंघु बॉर्डर पर युवक का तालिबानी तरीके से कत्ल, हाथ काटकर शव को मंच के सामने लटकाया

सोमवार को हुए थे पांच जवान शहीद
इससे पहले सोमवार को पीर पंजाल रेंज में राजौरी सेक्टर में आतंकवाद विरोधी अभियान के दौरान कार्रवाई में एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) और चार सैनिक शहीद हो गए थे। डिफेंस पीआरओ (Defence PRO) ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के पुंछ में सोमवार को आतंकवाद विरोधी अभियान (anti terrorist activities) के दौरान भारतीय सेना (Indian Army) के एक जेसीओ और 4 जवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें निकटतम चिकित्सा सुविधा ले जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। उन्होंने बताया कि सेना ने जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के सुरनकोट अधिकार क्षेत्र में डीकेजी के करीब के गांवों में ऑपरेशन शुरू किया था। इंटेलिजेंस इनपुट था कि उस इलाके में आतंकियों की मौजूदगी है। इसी सर्च अभियान के दौरान आतंकियों ने घात लगाकर सैनिकों पर हमला कर दिया था। 

ISI की POK में आतंकी संगठनों के साथ मीटिंग
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी (ISI) ने पाक अधिकृत कश्मीर(POK) के मुजफ्फराबाद में आतंकवादी संगठनों के लीडर्स के साथ मीटिंग की है। इसका मकसद जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देना है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios