नई दिल्ली. देश में जारी कोरोना संकट के बीच संक्रमण को रोकने के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की दवा का प्रयोग किया जा रहा है। जिसको लेकर तमाम तरह के दावे किए जा रहे हैं। इन सब के बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने एक नया दावा किया है। आईसीएमआर की स्टडी के मुताबिक एचसीक्यू के 6 या ज्यादा डोज लेने वाले 80% हेल्थकेयर वर्कर इन्फेक्शन से बच गए।

रिसर्च के मुताबिक एचसीक्यू के 4 डोज लेने के बाद इन्फेक्शन का रिस्क घटने लगता है। लेकिन, बचाव के लिए पीपीई किट और दूसरे उपाय भी जरूरी हैं। हेल्थकेयर वर्कर्स को दो ग्रुप- कोरोना पॉजिटिव और कोरोना निगेटिव में बांटकर ये रिसर्च की गई। पहले ग्रुप में 378 और दूसरे में 373 लोग शामिल थे।

एक जैसे दिखे तीन साइड इफेक्ट

दोनों ग्रुप में एचसीक्यू के तीन साइड इफेक्ट लगभग एक जैसे थे। दोनों ग्रुप के लोगों में उल्टी, सिरदर्द और दस्त की शिकायत सामने आई। कुछ लोगों को स्किन रैशेज भी हो गए। आईसीएमआर ने रिसर्च रिपोर्ट में कहा है कि हेल्थकेयर वर्कर्स में इन्फेक्शन का खतरा ज्यादा होने की वजह से दुनियाभर में चिंता है। ऐसे में इस स्टडी की अहमियत और बढ़ गई है।

डब्ल्यूएचओ ने पिछले हफ्ते रोका एचसीक्यू का ट्रायल

पिछले दिनों विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा का साइड इफेक्ट बताकर इसके क्लीनिकल ट्रायल पर रोक लगा दी थी। हालांकि, आईसीएमआर ने कहा कि वो कोरोना के इलाज में एचसीक्यू का इस्तेमाल जारी रखेगा। आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉक्टर बलराम भार्गव ने कहा- काउंसिल ने इस टेबलेट को काफी कारगर पाया है। इसके साइड इफेक्ट्स भी कम देखे गए हैं। 

क्या है हाइड्रोक्सिक्लोरोक्वीन? 

इस दवा का मुख्य तौर पर इस्तेमाल मलेरिया के उपचार के लिए किया जाता है। इसके अलावा आर्थराइटिस के उपचार के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। भारत दुनिया में सबसे ज्यादा हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन दवा उत्पादन करने वाले देशों में से एक है। यह एंटी मलेरिया दवा है जो कई तरह के मलेरिया से लड़ने में सक्षम है। हालांकि यह दवा किस तरह लड़ती है इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है।

अमेरिकी पुलिस के तांडव से लेकर मां की ममता तक...वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें...

नए टीके से 99% खत्म हो जाएगा खत्म कोरोना वायरस

भारत को बर्बाद करने पाकिस्तान यूं बनाता है साजिश, रोंगटे खड़ने वाला खुलासा

जाते-जाते भी सलमान से दोस्ती निभा गए वाजिद खान

IAS बनना है तो ऐसे करें तैयारी, एक अटेम्प्ट में निकल जाएगा पेपर

दूसरे के बच्चों को छाती से चिपका दूध पिलाती दिखी बिल्ली

अमेरिकी पुलिस का कहरः लड़का हो या लड़की, सीधे चढ़ा दे रहे गाड़ियां, कर रहे जानवरों जैसी पिटाई

शेर और भैंसे की रेयर फाइट का वीडियो आया सामने, दोनों में हुई ऐसी जंग