Asianet News HindiAsianet News Hindi

केरल में भारी बारिश से हर ओर तबाही: दलाई लामा ने संवेदना प्रकट करते हुए 11 लाख रुपये रिलीफ फंड के लिए भेजा

बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने केरल में आई बाढ़ से मची तबाही पर अपनी संवेदना प्रकट करते हुए उन परिवारों के प्रति भी शोक जाहिर किया जिन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को इस आपदा में खो दिया है। 

Kerala Heavy rain and landslides, High alert by IMD, Dalai Lama donated 11 lakh rupees for relief fund
Author
Thiruvananthapuram, First Published Oct 18, 2021, 9:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इडुक्की। केरल (Kerala)में भारी बारिश (heavy rain) ने काफी अधिक तबाही मचाई है। करीब 27 लोगों की जान इस बारिश में चली गई है। राज्य में राहत कार्य जारी है। तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा ने केरल राज्य सरकार को 11 लाख रुपये की आर्थिक सहायता भेजी है। 

बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने केरल में आई बाढ़ से मची तबाही पर अपनी संवेदना प्रकट करते हुए उन परिवारों के प्रति भी शोक जाहिर किया जिन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को इस आपदा में खो दिया है। दलाई लामा ने केरल के सीएम पिनाराई विजयन और राज्य सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए 11 लाख रुपये की मदद भी की है। 

बता दें कि केरल में बारिश के दौरान कई जगहों पर भूस्खलन से तमाम जिंदगियां तहस-नहस हो गई। करोड़ों की क्षति हुई है। कई राज्यों में तबाही का मंजर बारिश खत्म होने के बाद विकराल हो चुका है। 

सेना बचाव कार्य में जुटी

डिफेंस पीआरओ ने बताया कि इंजीनियरिंग और मेडिकल यूनिट के साथ कन्नूर से सेना के जवानों का दल बचाव कार्यों के लिए वायनाड पहुंच गया है। सेना की ओर से अब तक कुल 3 टुकड़ियां तैनात की गईं हैं। राहत सामग्री के साथ नेवी चॉपर के जरिए बारिश प्रभावित इलाकों का दौरा जारी है। वायुसेना स्टेशन शंगमुघम में वायु सेना के 2 हेलिकॉप्टर MI-17 स्टैंडबाय पर हैं।

11 जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पठानमथिट्टा, कोट्टायम, अलाप्पुझा, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम और कोझीकोड जिलों में भारी बारिश के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। बारिश और भूस्खलन को देखते हुए भगवान अयप्पा के भक्तों को अगले दो दिनों तक सबरीमाला मंदिर जान से बचने के लिए कहा गया है। 

लगातार बढ़ रहा जलस्तर

बारिश और भूस्खलन की वजह से सबसे अधिक तबाही कोट्टायम, इडुक्की, पठानमथिट्टा में हुई है। केरल की मीनाचल और मनीमाला नदियां उफान पर हैं। तमाम क्षेत्रों को खाली करने के लिए रेस्क्यू टीम लगाई गई हैं। लोगों को सेफ जगहों पर पहुंचाया जा रहा है। राज्य के पहाड़ी इलाकों में कई छोटे कस्बे और गांव बाहरी दुनिया से पूरी तरह कट गए हैं। करीब 27 लोगों के मौत की सूचना है जबकि एक दर्जन के आसपास लोग लापता हैं। 

सीएम विजयन ने कहा स्थितियां गंभीर 

राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन बाढ़ और बारिश की तबाही के बाद बचाव कार्य के लिए लगातार अपने सहयोगियों के साथ लगे हुए हैं। विजयन ने कहा कि कोट्टायम सहित राज्य में भारी बारिश के कारण बाढ़ वाले क्षेत्रों में फंसे लोगों को निकालने के लिए हर संभव साधन का इस्तेमाल किया जाएगा। स्थितियां गंभीर हैं लेकिन हर स्तर पर पूर्ण प्रयास किया जा रहा कि लोगों तक राहत पहुंचे। 

अमित शाह ने रविवार को किया था ट्वीट- नजर बनाए हुए हैं

केरल की स्थिति पर गृहमंत्रालय और गृहमंत्री अमित शाह लगातार नजर बनाए हुए हैं। रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि केरल की स्थितियों पर वह नजर बनाए हुए हैं। 

राहुल गांधी ने ट्वीट कर संवेदना प्रकट की

वायनाड सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट किया, "मेरी संवेदनाएं केरल के लोगों के साथ हैं। कृपया सुरक्षित रहें और सभी सुरक्षा सावधानियों का पालन करें।"

यह भी पढ़ें:

राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले-किसानों की नहीं सुनी तो दुबारा सरकार नहीं बनेगी, मेरे जिले में तो बीजेपी नेता गांवों में नहीं घुस पा रहे

ओलंपियन विनेश फोगट परिजन के साथ मिलीं पीएम मोदी से, ट्वीट कर शेयर किया अनुभव

बुद्धिस्ट देशों से सीधे जुड़ेगा कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट, वीवीआईपी होगी पहली फ्लाइट, पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन

पूर्वोत्तर भारत की यात्रा आसान, छह नए रूट्स पर फ्लाइट की शुरूआत, सिंधिया बोले: पूर्वोत्तर का द्वार है मिजोरम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios