Asianet News HindiAsianet News Hindi

Navratri 2021: कोरोना के असर से देवी मूर्तियों की डिमांड कम; कारीगर बोले-बस जैसे-तैसे पेट भर रहे

मां शक्ति की भक्ति का पर्व नवदुर्गा उत्सव(Navratri 2021) 7 अक्टूबर से शुरू होगा। लेकिन इस बार भी corona Virus के चलते मूर्ति बनाने वालों कारीगरों को धंधा मंदा है।

Navratri 2021, Festival affected due to corona epidemic
Author
New Delhi, First Published Oct 4, 2021, 10:25 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. नवदुर्गा उत्सव(Navratri 2021) 7 अक्टूबर से शुरू होगा। लेकिन इस बार भी corona Virus के चलते मूर्ति बनाने वालों कारीगरों को धंधा मंदा है। देशभर में मूर्तिकार अपने काम को अंतिम टच देने में जुटे हैं, लेकिन महामारी ने उनकी रोजी-रोटी पर संकट खड़ा कर दिया है। ये तस्वीरें दिल्ली की हैं, जिसे न्यूज एजेंसी ANI ने जारी किया है। दुर्गा पूजा से पहले सीआर पार्क में कारीगर देवी दुर्गा की मूर्तियां तैयार कर रहे एक कारीगर ने बताया कि पहले की तुलना में इस बार भी कम मांग है। इस बार 4-5 फीट ऊंची मूर्तियों के लिए ऑर्डर मिले हैं। मूर्तिकार ने चिंता जताई कि स्थिति ऐसी है कि हम जीवित रहने और खाने का प्रबंध भर कर पा रहे हैं। उम्मीद है कि स्थिति सुधरेगी।

pic.twitter.com/fHwHPR7JFV

Corona और पॉल्युशन का असर: इस बार भी सावर्जनिक जगहों पर त्यौहार मनाने की मनाही
corona Virus का असर दूसरे साल तीज-त्यौहारों पर पड़ रहा है। छठ पूजा को लेकर दिल्ली सरकार ने एक सख्त फैसला लिया है। इस बार भी दिल्ली में सावर्जनिक जगहों पर छठ पूजा का कार्यक्रम नहीं हो सकेगा। त्यौहारों को लेकर दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण(DDMA) नई गाइडलाइन जारी कर दी है। यह 15 नवंबर तक प्रभावी रहेगी। इस अवधि में छह पूजा से लेकर दशहरा-दीपावली सभी त्यौहार आ रहे हैं। दिल्ली में पॉल्युशन के चलते पहले से ही पटाखे बैन हैं। दिल्ली सरकार ने पिछले साल भी छठ पूजा सार्वजनिक जगहों पर नहीं होने दी थी। वहीं, पटाखे चलाने पर भी सख्ती दिखाई थी। बता दें छठ पूजा दीपावली के छह दिन बाद से शुरू होती है। इस बार यह 8 नवंबर से शुरू होगी, जो 4 दिनों तक चलेगी। क्लिक करके विस्तार से पढ़ें

देश में कोरोना का हाल
देश में पिछले दिनों corona के 21 हजार से अधिक नए केस मिले। इस दौरान 182 लोगों की मौत हुई। 26 हजार से अधिक लोग रिकवर भी हुए। इस समय देश में 2.58 लाख एक्टिव केस हैं। केरल में सबसे अधिक 12 हजार केस मिले। इसके बाद 2600 के आसपास महाराष्ट्र में केस आए। अब तक 4.49 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें
त्योहारी सीजन पर पीएम मोदी की अपील, कहा- आत्मनिर्भर भारत के लिए खरीदें ये चीज
कोरोना को मिटाने के लिए गेमचेंजर साबित होगी ये दवा, मरने से बचाने में है शानदार रिकॉर्ड

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios