Asianet News HindiAsianet News Hindi

5जी के शुभारंभ पर पीएम मोदी ने नाम लिए बिना पी.चिदंबरम पर किया कटाक्ष, कहा-वे डिजिटल इंडिया नहीं गरीब का...

पीएम मोदी ने कहा कि जब डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव की शुरूआत की गई थी तो कुछ लोग इस पर मजाक बना रहे थे। संसद में कहा गया कि मुट्ठी भर कुलीन वर्ग के लोगों को ही फायदा होगा। डिजिटल इंडिया से गरीबों को वंचित करने की साजिश थी। 

PM Modi takes on P Chidambaram for Digital India initiative, 5G services in India, DVG
Author
First Published Oct 1, 2022, 5:20 PM IST

PM Modi takes on P.Chidambaram for Digital India initiative: पीएम मोदी ने शनिवार को 5जी सर्विस का देश में शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री ने इस दौरान डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव के बारे में बात करते हुए पूर्व वित्तमंत्री पी.चिदंबरम पर परोक्ष रूप से कटाक्ष भी किया। हालांकि, अपने कमेंट के दौरान पीएम ने किसी का नाम नहीं लिया। पीएम मोदी ने कहा कि मुट्ठी भर अभिजात वर्ग के लोगों ने गरीब लोगों और डिजिटल इंडिया की क्षमता पर संदेह किया था। एक सीनियर लीडर ने संसद में डिजिटल इंडिया पर सवाल खड़े करते हुए अजीबोगरीब बातें कहीं थीं।

पीएम मोदी ने गिनाई डिजिटल क्रांति की उपलब्धियां...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिस तरह सरकार ने हर घर में बिजली पहुंचाने का अभियान शुरू किया या हर घर जल अभियान के माध्यम से या उज्ज्वला योजना के माध्यम से सभी को स्वच्छ पानी उपलब्ध कराने के मिशन पर काम किया, गैस सिलेंडर गरीब से गरीब या जुड़े लोगों तक पहुंचाया गया। जन धन योजना के माध्यम से बैंकिंग क्षेत्र में, इसी तरह हमारी सरकार सभी के लिए इंटरनेट के लक्ष्य पर काम कर रही है। 4जी सर्विस देने वाली कंपनियां कम कीमतों पर इंटरनेट लोगों को उपलब्ध करा पा रही हैं क्योंकि हमने ऐसी नीतियां बनाई हैं जो जनहितकारी हो।

कुछ लोग सोचते थे कि गरीब तक डिजिटल की पहुंच न हो

पीएम मोदी ने कहा कि जब डिजिटल इंडिया इनिशिएटिव की शुरूआत की गई थी तो कुछ लोग इस पर मजाक बना रहे थे। संसद में कहा गया कि मुट्ठी भर कुलीन वर्ग के लोगों को ही फायदा होगा। डिजिटल इंडिया से गरीबों को वंचित करने की साजिश थी। वे सोचते थे कि गरीब लोगों में कोई क्षमता नहीं है और वे डिजिटल चीजों को नहीं समझ सकते हैं। वे गरीब लोगों पर संदेह करते थे। उन्हें संदेह था कि गरीब लोग डिजिटल का अर्थ भी नहीं समझेंगे। लेकिन मुझे हमेशा विश्वास रहा है देश के आम आदमी की समझ में, उसके विवेक में, उसके जिज्ञासु मन में डिजिटल इंडिया की बेहतर समझ है। उन्होंने कहा कि आज भारत रीयल-टाइम डिजिटल भुगतान में दुनिया में सबसे आगे है। भारतीय रिज़र्व बैंक के डिजिटल भुगतान सूचकांक (DPI) ने दिखाया कि DPI मार्च 2022 तक बढ़कर 349.30 हो गया। यह सूचकांक सितंबर 2021 में यह 304.06 था।

चिदंबरम ने कही थी यह बातें...

दरअसल, पीएम मोदी ने राज्यसभा में कांग्रेस नेता पी चिदंबरम के भाषण पर कटाक्ष किया है। पूर्व वित्तमंत्री ने इस पर सवाल उठाए थे। चिदंबरम ने राज्यसभा में कहा था कि... गाँव के मेले में जाओ, आलू और टमाटर खरीदो और क्रेडिट कार्ड से 7.50 रुपये का भुगतान करो। गरीब महिला क्या करेगी? क्या उसके पास पीओएस मशीन है? क्या यह बिजली के स्रोत से जुड़ा है? क्या वाईफाई है? क्या वहां इंटरनेट काम कर रहा है...? इन सबकी व्यवस्था गांव में कैसे होगी। इसके बिना कैसे देश डिजिटल इंडिया का स्वरूप धारण कर सकेगा।

यह भी पढ़ें:

बेंगलुरू शहर में हेलीकॉप्टर सेवा शुरू, 120 मिनट की यात्रा अब महज 15 मिनट में, शिरडी में भी कंपनी की सर्विस

पाकिस्तान से उठी आवाज, शहीद-ए-आजम भगत सिंह को भारत-पाकिस्तान दें सर्वोच्च सम्मान, पाक में नाम पर हो सड़क

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios