Asianet News HindiAsianet News Hindi

Black Money: 4 बैग में भरे थे 10 और 20 रुपए के 24.5 लाख के नोट; तभी किसी को लग गई भनक

ओडिशा के कटक में रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने राजधानी एक्सप्रेस से 24.5 लाख रुपये के 4 बैग ज़ब्त किए। बैग में से 10 और 20 रुपये मूल्य के नोट मिले हैं। ये भुवनेश्वर से दिल्ली ले जाए जा रहे थे। RPF ने इस संबंध में जांच शुरू कर दी है। आयकर विभाग को भी सूचना दे दी है। 

RPF seized four bags containing Rs 24.5 lakh from a passenger at Cuttack Railway Station  KPA
Author
New Delhi, First Published Dec 9, 2021, 7:33 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कटक. ओडिशा. आमतौर पर बड़े नोट यानी काला धन(Black Money) छुपाने की वजह बनते रहे हैं। इसी वजह से 8 नवंबर, 2016 की रात से भारत सरकार ने 500 और 1000 रुपए के नोटों का चलन बंद कर दिया था। यानी नोटबंदी(विमुद्रीकरण- Demonetisation) कर दी थी। लेकिन ओडिशा के कटक में 4 बैग से मिले 10 और 20 रुपए के 24.5 लाख के नोटों ने आयकर विभाग(Income tax department) को चौंका दिया है।  रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने राजधानी एक्सप्रेस से 24.5 लाख रुपये के 4 बैग ज़ब्त किए। बैग में से 10 और 20 रुपये मूल्य के नोट मिले हैं। ये भुवनेश्वर से दिल्ली ले जाए जा रहे थे। RPF ने इस संबंध में जांच शुरू कर दी है। इसकी सूचना आयकर विभाग को भी दी गई।

दिल्ली ले जाए जा रहे नोट
RPF को अपने मुखबिर के जरिये सूचना मिली धी राजधानी एक्सप्रेस में भुवनेश्वर से एक व्यक्ति सवार हुआ है। उसके पास 4 बैग हैं, जिनमें नोट भरे हुए हैं। सूचना के बाद पुलिस ने 8 दिसंबर को कटक रेलवे स्टेशन पर सर्चिंग की और उस व्यक्ति को ट्रेन से उतार लिया। तलाशी लेने पर बैग में नोट मिले। RPF ने अरुण कुमार स्वाई नामक व्यक्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। हालांकि अभी उसने ज्यादा कुछ नहीं बताया है।

RPF ने ये बताया
RPF के इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार के मुताबिक, अरुण कुमार स्वाई नामक यह व्यक्ति भुवनेश्वर से उदय बिस्वाल नामक व्यक्ति से रुपयों से भरे चार बैग लेकर दिल्ली जा रहा था। वो ये नोट दिल्ली में किसे देने जा रहा था, इस बारे में अभी पता नहीं चल पाया है। अरुण कुमार स्वाई का कहना है कि वह रेल में सामान लाने आने का काम करता है और उसे पहुंचाने के बाद कुछ रकम मिल जाती है। हालांकि वो इतने छोटे नोट किसे पहुंचाने जा रहा था, इसका पता किया जा रहा है। फिलहाल उसे  हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

असम में ड्रग्स की खेप पकड़ी थी
इधर, ड्रग्स माफिया(drugs mafia) के खिलाफ एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। मणिपुर पुलिस और सुरक्षा बल ने मिलकर भारत-म्यांमार बॉर्डर से सटे शहर मोरेह के एक घर में छापा मारकर 500 करोड़ रुपये से ज़्यादा का प्रतिबंधित नारकोटिक्स पदार्थ(NARCOTICS) का बड़ा जखीरा ज़ब्त किया है। इसे देश के विभिन्न हिस्सों में सप्लाई किया जाना था। बता दें कि ड्रग्स तस्करी के जरिये आतंकवादी फंड जुटाते हैं। असम राइफल्स(ASSAM RIFLES) की मोरेह बटालियन(Moreh Battalion)ने  6 दिसंबर को  सटीक खुफिया जानकारी के आधार पर मणिपुर के सीमावर्ती शहर मोरेह में मणिपुर पुलिस के साथ एक संयुक्त अभियान शुरू किया। यहां से 500 करोड़ रुपये से अधिक की अनुमानित मात्रा में नशीले पदार्थों का पता लगाया। टीम ने म्यांमार मूल के एक तस्कर को पकड़ा है। जब्त किए गए नशीले पदार्थों में लगभग 54 किलोग्राम ब्राउन शुगर (Brown Sugar) और 154 किलोग्राम मेथामफेटामाइन (Methamphetamineआइस मेथ) शामिल हैं। 

यह भी पढ़ें
ASSAM RIFLES SIEZES NARCOTICS: भारत-म्यांमार बॉर्डर से 500 करोड़ की ब्राउन शुगर और अन्य DRUGS पकड़ी
Parliament session: धारा 370 हटने के बाद J&K में 366 आतंकवादी मारे गए, मुंद्रा पोर्ट के बारे में कही ये बात
Shocking accident: पहले स्पीड के साथ पीछे से ऑटो को ठोंका और फिर कई गाड़ियों से जा भिड़ी बेकाबू Mercedes

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios