Asianet News HindiAsianet News Hindi

संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में शामिल नहीं हुए टिकैत, कहा- लखनऊ में उठाएंगे मुकदमे, मुआवजे और MSP का मुद्दा

किसान आंदोलन (Farmer,s Protest)  आगे बढ़ाने या खत्म करने पर रोज चर्चा हो रही है। रविवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक थी, लेकिन इसमें किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh tikait) शामिल नहीं हुए। वे लखनऊ चले गए। वहां किसानों पर मुकदमों, मृतकों के परिवारों को मुआवजे और एमएसपी (MSP) का मुद्दा उठाएंगे।

Uttar Pradesh Farmer Protest Rakesh Tikait Kisan panchayat MSP law UP Election 2022
Author
New Delhi, First Published Nov 21, 2021, 12:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) द्वारा तीन कृषि कानूनों (Three Farmer law) वापस करने के बाद भी किसान अपने मुद्दों को लेकर बैठकें कर  रहे हैं। संयुक्त किसान मोर्चा की एक बैठक आज होनी है, जिसमें आंदोलन के आगे चलने पर निर्णय होगा। हालांकि, किसान नेता राकेश टिकैत इसमें शामिल नहीं हुए। वे लखनऊ के लिए रवाना हो गए। वे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में किसान पंचायत में भाग लेंगे। इस बड़ी किसान पंचायत में किसानों पर लादे गए मुकदमे, मृत किसानों के परिवारों को मुआवजा और एमएसपी गारंटी कानून (MSP Guarantee Law) जैसे तमाम मुद्दे होंगे। कृषि कानून वापस लेने के दिन से ही टिकैत एमएसपी कानून (MSP Law) की बात कर रहे हैं। 

सरकार आंख दिखाएगी तो हम भी दिखाएंगे 
राकेश टिकैत ने रविवार को कहा कि सरकार हमारे मुद्दों को लेकर एक कदम आगे बढ़ी है। हम भी आगे बढ़ेंगे। हम समाधान चाहते हैं। यह दोनों तरफ के प्रयासों से ही संभव है। बातचीत की पहल किधर से हो, इस सवाल पर टिकैत का कहना है कि बातचीत दो पक्षों में होनी है। सरकार पहले जैसे बातचीत के लिए बुलाती रही है, उसी तरह से कोई जगह निर्धारित करे या फिर हम यहां बैठे हैं, यहीं आ जाए। हम बातचीत के लिए तैयार हैं। हमने कहा है कि पहल किसी की भी तरफ से हो। बैठना पड़ेगा। सरकार जितनी बात मान लेगी, हम भी मान लेंगे। वह आंख दिखाएगी तो हम भी दिखाएंगे।  

लखनऊ में लखीमपुर हिंसा का मुद्दा अहम 
टिकैत ने कहा कि लखनऊ महापंचायत में लखीमपुर हिंसा और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री 'अजय मिश्रा टेनी' का मुद्दा अहम रहेगा। इसके अलावा मृत किसानों के परिवारों को मुआवजे पर भी बात होगी। इस पंचायत में एमएसपी (MSP) का मुद्दा अहम होगा। 29 नवंबर को संसद घेरने के ऐलान के सवाल पर टिकैत ने कहा कि हमारे 29 तक के जो भी कार्यक्रम हैं, वे सब जारी रहेंगे। 

यह भी पढ़ें
Rajasthan Cabinet : गहलोत सरकार में दिखेगी जीजा-साले की जुगलबंदी, ऐसा होगा नया मंत्रिमंडल
दरिंदगी की हदें पार: 7 दिन बाद होनी थी शादी, रेप नहीं कर सका तो फोड़ी आंख, अश्लील वीडियो बना करता था ब्लैकमेल

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios