Asianet News HindiAsianet News Hindi

अर्जुन अवॉर्ड विजेता को देखकर पाला बॉक्सर बनने का सपना, फिर ओलंपिक मेडल जीतकर बने करोड़ों के प्रेरणास्रोत

बॉक्सिंग में भारत के लिए पहला ओलंपिक मेडल (Olympic Medal) जीतने वाले बॉक्सर विजेंदर सिंह (Vijender Singh) 29 अक्टूबर को 37 साल के हो गए। 2008 के बीजिंग ओलंपिक गेम्स में विजेंदर सिंह ने भारत के लिए पहला मेडल जीतकर इतिहास रच दिया था।
 

happy birthday vijender singh first indian boxer win olympic medal mda
Author
First Published Oct 29, 2022, 9:50 AM IST

Happy Birthday Vijender Singh. ओलंपिक खेलों में भारत के लिए बॉक्सिंग का पहला मेडल जीतने वाले बॉक्सर विजेंदर सिंह का 29 अक्टूबर को जन्मदिन है। वे 37 साल के हो गए लेकिन अब 14 साल पहले विजेंदर सिंह भारत के लिए ओलंपिक का पहला मेडल जीतकर इतिहास रच दिया था। विजेंदर सिंह ने यह कारनामा 2008 के बीजिंग ओलंपिक गेम्स में किया था। बॉक्सिंग में ब्रांज मेडल जीतने वाले विजेंदर सिंह को किंग ऑफ द रिंग भी कहा जाता है।

कौन हैं विजेंदर सिंह
बॉक्सर, एक्टर और हरियाणा पुलिस के जवान विजेंदर सिंह का जन्म 29 अक्टूबर 1985 को हरियाणा के भिवानी जिले में हुआ था। विजेंदर के पिता महिपाल सिंह बेनीवाल हरियाणा रोडवेज में बस चालक हैं और विजेंदर की मां गृहिणी हैं। इस चैंपियन बॉक्सर की प्राथमिक शिक्षा उनके गांव कालूवास में हुई। माध्यमिक शिक्षा के लिए विजेंदर को भिवानी के स्कूल में प्रवेश कराया गया। भिवानी से ही विजेंदर ने डिग्री पूरी की। 

कैसे बने बॉक्सर
हरियाणा के रहने वाले विजेंदर सिंह सामान्य बच्चों की तरह पढ़ाई करते थे फिर एक पल ऐसा आया जब उन्होंने बॉक्सर बनने के बारे में सोचा। हुआ कुछ यूं कि 1990 में बॉक्सर राजकुमार सांगवान को अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया। यहीं विजेंदर के लिए प्रेरणा बन गया और उन्होंने अपने भाई से कहा कि वे भी बॉक्सर बनना चाहते हैं। फिर वे बॉक्सिंग सीखने में लग गए और पढ़ाई को पीछे छोड़कर बॉक्सिंग को ही करियर बनाने की ठान ली।

कैसे रचा विजेंदर ने इतिहास
2008 में बीजिंग ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने से पहले विजेंद्र सिंह के लिए बीजिंग का टिकट मिलना भी मुश्किल लग रहा था। उस वक्त विजेंदर पीठ की चोट से परेशान थे लेकिन उन्होंने फिटनेस के लिए कड़ी मेहनत की और बीजिंग पहुंचे। विजेंदर सिंह ने बीजिंग ओलंपिक में मिडिलवेट वर्ग में भाग लिया और शानदार पंच के दम पर कांस्य पदक जीतने में कामयबी हासिल की। वे भारत के लिए बॉक्सिंग में पहला पदक जीतने वाले प्लेयर भी बने।

विजेंदर की उपलब्धियां

  • 2008 में ओलंपिक मेडल जीता
  • 2009 में राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड
  • 2010 में पद्मश्री सम्मान दिया गया 

फिल्मों में भी किया ट्राई
बॉक्सिंग में नाम कमाने के विजेंदर सिंह ने फिल्मों में भी ट्राई किया। 2014 में विजेंदर की फिल्म फगली रिलीज हुई लेकिन वे ज्यादा कामयाब नहीं हो पाए। इसके बाद उन्होंने वापसी कर ली और बॉलीवुड को अलविदा कह दिया। विजेंदर सिंह इस वक्त राजनीति में भी सक्रिय हैं और वे हरियाणा पुलिस में डीजीपी के रैंक पर तैनात हैं।

यह भी पढें

T20 World Cup: कौन है पाकिस्तान को धूल चटाने वाला सिकंदर, भारत के इन दो दबंगों का रिकॉर्ड भी तोड़ा
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios