बरात निकलने के पहले घर में हो गया भयानक कांड, सिलेंडर ब्लास्ट में 5 की मौत, दूल्हा सहित 60 लोग झुलसे

| Dec 09 2022, 09:32 AM IST

बरात निकलने के पहले घर में हो गया भयानक कांड, सिलेंडर ब्लास्ट में 5 की मौत, दूल्हा सहित 60 लोग झुलसे

सार

राजस्थान के जोधपुर जिले के भूंगरा गांव में सिलेंडर फटने से एक घर में लगी आग में 5 लोगों की मौत हो गई। इस भीषण हादसे में दूल्हा सहित 60 लोग घायल हुए हैं। कलेक्टर हिमांशु गुप्ता के दौरान घर में शादी का कार्यक्रम चल रहा था, तभी यह हादसा हुआ। 

जोधपुर. राजस्थान के जोधपुर जिले के भूंगरा गांव में सिलेंडर फटने से एक घर में लगी आग में 5 लोगों की मौत हो गई। इस भीषण हादसे में दूल्हा सहित 60 लोग घायल हुए हैं। कलेक्टर हिमांशु गुप्ता के दौरान घर में शादी का कार्यक्रम चल रहा था, तभी यह हादसा हुआ। झुलसे लोगों में कइयों की हालत गंभीर है। 42 लोगों को एमजीएच अस्पताल में रेफर किया गया।

दूल्हा बरात के लिए तैयारी कर रहा था,तभी हुआ हादसा
हादसे में शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान तीन महिलाओं की मौत हो गई। हादसा गुरुवार को हुआ था। इसमें अब तक दो बच्चों सहित कुल 5 लोगों की मौत की खबर है। डॉक्टर एसएन मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल दिलीप कच्छावा के अनुसार, आग में झुलसीं धापू कंवर, कंवरू और चंदन कंवर की शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान मौत हो गई। जिस समय सिलेंडर फटा, उस समय वहां बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। हादसे में 20 परिवारों के 60 से ज्यादा लोग झुलस गए। हादसे के वक्त दूल्हा बरात के लिए तैयार हो रहा था।

Subscribe to get breaking news alerts

भूंगरा गांव जोधपुर से करीब 110 किलोमीटर दूर शेरगढ़ तहसील में आता है। हादसे में सिर्फ एक सिलेंडर नहीं फटा था, बल्कि पांच सिलेंडरों में ब्लास्ट हुआ था। सिलेंडर फटने की आवाज इतनी तेज थी कि पूरा गांव डर गया। हादसे के बाद से शादी वाले दोनों घरो में मातम पसरा हुआ है। शादी का पूरा सामान आग में जलकर राख हो गया।

ब्लास्ट के समय दूल्हा सुरेंद्र सिंह और उसका परिवार बरात की तैयारी कर रहे थे। मंगल गीत गाए जा रहे थे। बताया जाता है कि सिलेंडर में लीकेज होने से उसने आग पकड़ ली। इसके बाद पांचों सिलेंडर एक के बाद एक फटते चले गए। एक सिलेंडर आंगन में बैठीं महिलाओं के ऊपर आकर गिरा।

हादसे के बाद चीख-पुकार मच गई। गांववालों ने जान जोखिम में डालकर बाकी के सिलेंडरों को आग से दूर किया। शादी के लिए करीब 20 सिलेंडर लाए गए थे। गांववालों ने घर में फंसी महिलाओं और बच्चियों को सुरक्षित बाहर निकाला। बरात गुरुवार को पास के ही गांव खोखसर जानी थी। 

गैस रिसाव को किया नजरअंदाज
लोगों के मुताबिक, सुबह से किसी सिलेंडर से गैस रिसने की गंध महसूस हो रही थी। हलवाई ने भट्टी के पास रखे सभी सिलेंडर चेक किए, लेकिन दूर रखा वो सिलेंडर चेक करना भूल गया, जिससे गैस रिस रही थी। गैस पूरे घर में फैल चुकी थी। जैसे ही गैस भट्टी तक पहुंची, आग भड़क उठी। हादसे के चलते यहां दो शादियां टल गईं। दरअसल, सुरेंद्र सिंह की बारात बाड़मेर के खोखसर जानी थी। वहीं, उसके साले की बारात सुरेंद्र सिंह के बुआ के बेटे भालू राजवां निवासी पदम सिंह के यहां आनी थी। पदम सिंह की की बेटी की सगाई सुरेंद्र सिंह के साले से आटे-साटे में होना बताई गई। हादसे की खबर के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मामले पर नजर बनाए हुए हैं। अस्पताल प्रशासन द्वारा छुट्टी पर गए कर्मचारियों को वापस बुला लिय गया है।

यह भी पढ़ें
धमाकों से दहला राजस्थान: शादी वाले घर फटे 6 सिलेंडर, 60 लोग झुलसे-दूल्हे की हालत गंभीर
Horrific fire: इस्लामाबाद के इतवार बाजार में 300 दुकानें जलकर खाक, अब माल की चोरी रोकने टाइट सिक्योरिटी