Asianet News HindiAsianet News Hindi

सत्यपाल मलिक का दावा, जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल रहते मिला 150-150 करोड़ का ऑफर, अंबानी-संघ से जुड़ी थी फाइलें

मलिक ने राजस्थान के झुंझनू में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, कश्मीर में मेरे सामने दो फाइलें मंजूरी के लिए लाई गईं। एक अंबानी और दूसरी RSS पदाधिकारी की थी, जो महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली (पीडीपी-भाजपा) सरकार में मंत्री थे। इसके लिए 150-150 करोड़ की घूस का ऑफर मिला। 

Rajsthan former jammu and kashmir governor satyapal malik claimed he was offered 300 crore rupees for approving a file related to ambani and rss
Author
Jaipur, First Published Oct 22, 2021, 8:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जयपुर : मेघालय (Meghalaya) के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने बड़ा दावा करते हुए कहा कि जब वे जम्मू-कश्मीर के गवर्नर थे तब उन्हें 300 करोड़ रुपये की रिश्वत देने की पेशकश की गई थी। यह पेशकश 'अंबानी' और 'RSS से संबंधित व्यक्ति' की दो फाइलों को मंजूरी देने के एवज में दी जाना थी, लेकिन उन्होंने यह डील निरस्त कर दी। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (narendra modi) की तारीफ करते हुए कहा कि उस वक्त पीएम ने उनसे कहा था कि वह भ्रष्टाचार से कोई समझौता ना करें।

PDP सरकार में मंत्री की फाइलें
सत्यपाल मलिक केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि किसानों का प्रदर्शन जारी रहा तो वह अपने पद से इस्तीफा देकर उनके साथ खड़े होने के लिए तैयार हैं। मलिक ने राजस्थान के झुंझनू में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, कश्मीर जाने के बाद मेरे सामने दो फाइलें मंजूरी के लिए लाई गईं। एक अंबानी और दूसरी संघ से संबद्ध व्यक्ति की थी, जो महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली तत्कालीन (पीडीपी-भाजपा) सरकार में मंत्री थे। उनके प्रधानमंत्री के बहुत करीबी होने का दावा किया गया था।

इसे भी पढ़ें-महंगाई डायन खाए जात है! MP में उपचुनाव के बीच शिवराज और BJP का वीडियो वायरल, जानिए पूरा मामला...

150-150 करोड़ का था ऑफर
उन्होंने कहा कि दोनो विभागों के सचिवों ने मुझे बताया था कि उनमें अनैतिक कामकाज जुड़ा हुआ है, लिहाजा दोनों सौदे रद्द कर दिए गए। सचिवों ने मुझसे कहा था कि आपको प्रत्येक फाइल को मंजूरी देने के लिए 150-150 करोड़ रुपये मिलेंगे। लेकिन मैंने उनसे कहा कि मैं 5 जोड़ी कुर्ता-पायजामा लेकर आया था और केवल उन्हें ही वापस लेकर जाऊंगा। उनके भाषण का एक वीडियो सोशल मीडिया पर देखा गया।

ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी से जुड़ी फाइल 
मलिक ने इन दोनों फाइलों के बारे में विस्तार से नहीं बताया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सत्यपाल मलिक सरकारी कर्मचारियों, पेंशनर्स और पत्रकारों के लिए लाए गए ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी से जुड़ी एक फाइल का जिक्र कर रहे थे। इसमें अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी शामिल थी।

..तो  ईडी, इनकम टैक्स वाले घर पर होते
इस वीडियो में मलिक पीएम मोदी को ईडी या इनकम टैक्स रेड की भी चुनौती दे रहे हैं। मलिक इस वीडियों में कह रहे हैं, वीपी सिंह ने मुझे एक बार कहा था कि संभलकर काम करना। बेईमानी करके प्रधानमंत्रियों से नहीं लड़ा जा सकता है। इसलिए पाक साफ रहना। मैंने कश्मीर से लौटने के बाद किसानों समर्थन में जिस तरह से बेधड़क बातें कह दीं, अगर कश्मीर में कुछ कर लिया होता तो इस वक्त तक ईडी, इनकम टैक्स वाले मेरे घर पहुंच जाते। मलिक ने कहा कि मैं सीना ठोक कर कह सकता हूं कि प्रधानमंत्री के पास सारी संस्थाएं हैं, वो मेरी सारी जांच करा लें, मैं इसी तरह बेधड़क रहूंगा, मेरे पास कुछ नहीं है।

कांग्रेस का हमला
इस वीडियो के सामने आने के बाद विपक्ष के नेता पीएम मोदी पर निशाना साध रहे हैं। महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने नितिन राउत ने ट्वीट कर लिखा, मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मिलक जी ने प्रधानमंत्री और उनके मित्रों की पोल खोल दी।

 

इसे भी पढ़ें-काम नहीं आई योगी की नसीहत, आगरा में महिला ने खुद को जमीन में गाड़ लिया, कारण जानकर हो जाएंगे हैरान..

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios