Asianet News HindiAsianet News Hindi

गहलोत बोले- मोदी का अहंकार हारा, घबराकर कृषि कानून वापस लिए, BJP को UP समेत 5 राज्यों में हार का डर

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के बलिदान की जीत है और मोदी सरकार के अहंकार की हार है। आज प्रधानमंत्रीजी को मजबूर होकर आना पड़ा। देशवासियों को संदेश देना पड़ा। इन तीनों काले कानूनों को हमारी विधानसभा ने पहले ही खारिज कर दिया था।

three agriculture laws withdraw CM Ashok Gehlot Sachin Pilot Govind Dotasara has attacked PM Modi decision
Author
Jaipur, First Published Nov 19, 2021, 3:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने तीनों कृषि कानूनों ( Three Farm Law) को वापस लेने का ऐलान कर दिया है। इस फैसले को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने लोकतंत्र की जीत बताया और मोदी सरकार के अहंकार की हार कहा। उन्होंने कहा है कि उप चुनावों में हुई करारी हार के बाद केंद्र सरकार ने यूपी समेत 5 राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों में हार की आशंका और घबराहट के चलते यह फैसला लिया है। उन्होंने इस जीत के लिए किसानों को बधाई देते हुए इसे केन्द्र सरकार के अहंकार और घमंड की हार बताया है। वहीं, कांग्रेस नेता सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने कहा कि अन्नदाताओं के लंबे संघर्ष की आज जीत हुई है।

गहलोत ने कहा कि यह आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के बलिदान की जीत है। गहलोत ने ट्वीट किया- ‘तीनों काले कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा लोकतंत्र की जीत और मोदी सरकार के अहंकार की हार है। यह पिछले एक साल से आंदोलनरत किसानों के धैर्य की जीत है।’ उन्होंने कहा- देश कभी नहीं भूल सकता कि मोदी सरकार की अदूरदर्शिता और अभिमान के कारण सैकड़ों किसानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। उन्होंने आगे कहा कि मैं किसान आंदोलन में शहादत देने वाले सभी किसानों को नमन करता हूं। यह उनके बलिदान की जीत है। 

देश के किसानों की शानदार जीत
गहलोत ने कहा कि आज प्रधानमंत्री जी को मजबूर होकर आना पड़ा। देशवासियों को संदेश देना पड़ा। तीन काले कानूनों को हमारी विधानसभा ने तो पहले ही खारिज कर दिया था, उनको वापस लेने की घोषणा करनी पड़ी। ये मैं समझता हूं देश के किसानों की बहुत शानदार विजय है। मैं किसानों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

किसानों का संघर्ष रंग लाया: मील
इस बीच, भारतीय किसान यूनियन की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राजाराम मील ने भी इस घोषणा को किसानों की जीत बताया है। मील ने ट्वीट किया- ‘सरकार द्वारा काले कानून वापस ले लिए गए। किसानों की जीत हुई है। किसानों का संघर्ष रंग लाया। किसानों की एकता जिंदाबाद।’

किसानों के सामने हुकूमत को झुकना पड़ा : पायलट
सचिन पायलट ने ट्वीट किया कि अन्नदाताओं के लंबे संघर्ष की आज जीत हुई है। किसान शक्ति द्वारा उठाई गई सत्य और न्याय की आवाज के समक्ष हुकूमत के अहंकार को झुकना पड़ा और तीनों कृषि विरोधी कानून वापस लेने पड़े। किसानों के बहते लहू, त्याग व बलिदान ने एक ऐतिहासिक अध्याय लिखा है, जिसे सदैव याद किया जाएगा। 

सुप्रीम कोर्ट कमेटी में केंद्र के खिलाफ फैसला आने वाला है: डोटासरा
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की कमेटी में केंद्र सरकार के खिलाफ फैसला आने वाला था। जो केंद्र को पता चल गया। आखिर कोर्ट को कब तक मैनेज करते। उप चुनाव के परिणाम और आगामी विधानसभा चुनाव में हार की घबराहट में यह फैसला लिया गया है। अब केंद्र सरकार को किसानों की आय दोगुनी करने के वादे पर ध्यान देना चाहिए। आज किसानों की एकता की जीत हुई है। मोदी और अमित शाह का घमंड और षड्यंत्र हारा है। 

PM Modi repeals farm bills: PHOTOS में देखें किसानों का जश्न, कहीं खुशी में झूमे; कहीं अरदास और मिठाई बांटी

UP ELECTION 2022: पीएम मोदी का झांसी दौरा, बुंदेलखंड की जमीन से कर सकते हैं बड़ा ऐलान

PM Modi in Bundelkhand: प्रधानमंत्री मोदी आज बुंदेलखंड को देंगे 32 अरब की सौगात, जानिए पूरा कार्यक्रम

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios