Asianet News HindiAsianet News Hindi

खेल मंत्री ने ओलंपिक 2024 और उसके बाद एथलीटों के प्रशिक्षण के लिए केंद्रीय एथलीट चोट प्रबंधन प्रणाली लॉन्च की

खेल मंत्री किरन रिजिजू ने केंद्रीय एथलीट चोट प्रबंधन प्रणाली (सीएआईएमएस) की शुरुआत की। यह युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा एथलीटों को दी जाने वाली स्पोर्ट्स मेडिसिन और स्वास्थ्यलाभ सहायता के लिए इस तरह की पहली पहल है। सीएआईएमएस की कोर कमेटी में डॉ. एसकेएस मरिया, डॉ. दिनशॉ पारदीवाला, डॉ. बी वी श्रीनिवास और श्रीकांत अयंगर जैसे विशेषज्ञ शामिल हैं।

Sports Minister launches CAI System for training of athletes for Olympics 2024 and beyond KPP
Author
New Delhi, First Published Jun 12, 2021, 10:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. खेल मंत्री किरन रिजिजू ने केंद्रीय एथलीट चोट प्रबंधन प्रणाली (सीएआईएमएस) की शुरुआत की। यह युवा मामलों और खेल मंत्रालय द्वारा एथलीटों को दी जाने वाली स्पोर्ट्स मेडिसिन और स्वास्थ्यलाभ सहायता के लिए इस तरह की पहली पहल है। सीएआईएमएस की कोर कमेटी में डॉ. एसकेएस मरिया, डॉ. दिनशॉ पारदीवाला, डॉ. बी वी श्रीनिवास और श्रीकांत अयंगर जैसे विशेषज्ञ शामिल हैं।

सीएआईएमएस का उद्देश्य एथलीट की खेल मैदान के पास उत्तम खेल चोट प्रबंधन सहायता प्रदान करना है। सीएआईएमएस देश भर के एथलीटों के लिए उपयुक्त चोट उपचार प्रोटोकॉल को एक समान बनाने में मदद करेगा। यह योजना उन एथलीटों की मदद के साथ शुरू होगी जो टारगेट ओलंपिक पोडियम योजना (टॉप्स) विकास समूह का हिस्सा हैं, जिनके ओलंपिक 2024 और उसके बाद भाग लेने की उम्मीद है।

"

रिजिजू ने सीएआईएमएस शुरू करने की पहल की तारीफ की। उन्होंने कहा, "यह लंबे समय से हर किसी की इच्छा थी कि हमारे देश में एक केंद्रीकृत एथलीट चोट प्रबंधन प्रणाली हो। मैंने कभी-कभी देखा है कि सामान्य चोटों के लिए भी समय पर इलाज नहीं मिल पता है जिससे एथलीट का करियर प्रभावित होता है। आज यह एक बहुत ही सादगीपूर्ण शुरुआत है, लेकिन यह हमें एक ऐसी प्रणाली की ओर ले जाएगी जहां हमारे पास एथलीट की चोट से निपटने के लिए प्रबंधन का एक बहुत ही पेशेवर तरीका होगा। 

इस पहल के महत्व के बारे में बताते हुए सचिव (खेल) श्री रवि मित्तल ने कहा, ''खेल बहुत प्रतिस्पर्धी हो गया है और जब हमारे एथलीट पदक जीतने के लिए अपना पूरा जोर लगाते हैं तो वे कभी-कभी घायल हो जाते हैं। इन चोटों का सही समय पर और सही तरीके से इलाज करना अनिवार्य है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हमारे एथलीट पूरी तरह स्वास्थ्य और फॉर्म में हैं।"

सीएआईएमएस से एथलीट की चोटों के प्रबंधन और इलाज के तरीके में क्रांतिकारी बदलाव की उम्मीद है। इसमें निम्नलिखित चार संरचनाएं होंगी: एथलीट वेलनेस सेल, ऑन-फील्ड स्पोर्ट्स मेडिसिन विशेषज्ञ, राष्ट्रीय संसाधन रेफरल टीम और एक केंद्रीय कोर टीम।

डॉ. एसकेएस मरिया, सेंट्रल कोर टीम के अध्यक्ष ने सीएआईएमएस की सराहना की और कहा कि यह एथलीट चोटों के इलाज में भौगोलिक बाधाओं को दूर करने की दिशा में एक लंबा सफर तय करेगा। "भारत एक बहुत बड़ा देश है और हमारा उद्देश्य एथलीटों की चोटों के प्रबंधन में भौगोलिक और प्रशासनिक बाधाओं को कम करना है।"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios