15

लखनऊ: वजीर हसन रोड पर बना पांच मंजिला अलाया अपार्टमेंट मंगलवार की देर शाम अचानक ही गिर गया। इस अपार्टमेंट में काफी परिवार रहते थे। यह परिवार इमारत के गिरने के बाद मलबे में दब गए। मौके पर एनडीआरएफ और फायर ब्रिगेट की टीम को राहत बचाव करने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा। 

Subscribe to get breaking news alerts

25

हादसे के बाद कई लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल ले जाया गया। बेहोशी की हालत में ज्यादातर लोगों को वहां से निकाला गया। घटना इतनी भयावह थी कि हर तरफ चीख पुकार ही सुनाई दे रही थी। 

35

घायलों को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस तक की कमी मौके पर देखी गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार वजीर हसन रोड पर बनी इस बिल्डिंग को 2010 में याजदान बिल्डर ने बनाया था। यहां बेसमेंट में कई दिनों से काम चल रहा था। बेसमेंट में तकरीबन तीन फिट तक की खुदाई की गई थी। 

45

मौके पर मौजूद लोगों के द्वारा जानकारी दी गई कि शाम को भूकंप के झटके के बाद तकरीबन 6 बजकर 50 मिनट पर बिल्डिंग भरभराकर गिर गई। पांच मंजिला इस इमारत में 16 से 20 फ्लैट हैं। यहां कांग्रेस नेता जीशान हैदर और सपा नेता अब्बास हैदर का परिवार भी रहता है। शाम के वक्त ज्यादातर लोग घर पर ही थे। इसी के चलते बड़ी संख्या में लोग मलबे में दब गए। 

55

घटनास्थल पर दो दर्जन से अधिक बुलडोजर मलबा हटाने का काम कर रहे थे। इसके अतिरिक्त मौके पर 20 से अधिक एंबुलेंस भी थी। एनडीआरएफ और फायरब्रिगेड की टीम दबे हुए लोगों को बाहर निकालने के काम में लगी थी। हालांकि यह हादसा इतना भयानक था कि प्रशासन के इंतजाम कम पड़ गए। 

लखनऊ में 5 मंजिला बिल्डिंग गिरी, डीजीपी बोले-कोई कैजुएलिटी नहीं हुई, एसपी विधायक शाहिद मंजूर का बेटे हिरासत में