Asianet News HindiAsianet News Hindi

Eyewitness से जानिए कैसे हुआ Bipin Rawat का Helicopter Crash, सामने आई रोंगटे खड़े कर देने वाली कहानी

Bipin Rawat Accident Eyewitness: MI-17v5 हेलिकॉप्टर क्रैश पर चश्मदीद ने बताया कि लोग जल रहे थे और गिर रहे थे। आग की लपटें मेरे घर से भी ऊपर पहुंच गई थीं। 
 

CDS Bipin Rawat mi 17 helicopter crash eyewitness told how the accident happened kpn
Author
Tamilnadu, First Published Dec 8, 2021, 4:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. तमिलनाडु के कुन्नुर में सेना का mi-17v5 हेलिकॉप्टर क्रैश (Mi-17V5 Helicopter Crashes) कर गया। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (Chief of Defense Staff (CDS) General Bipin Rawat), उनकी पत्नी मधुलिका रावत (Madhulika Rawat) सहित 14 लोग सवार थे। हेलिकॉप्टर सुलूर के ऊटी की ओर जा रहा था। नीलगिरी के जंगलों में हादसा हुआ। बिपिन रावत ऊटी के पास वेलिंगटन डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज (Wellington Defence Services Staff College) में लेक्चर देने जा रहे थे। हेलिकॉप्टर सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन जा रहा था। दोपहर 12.20 बजे विमान क्रैश हुआ। घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीद ने बताया कि हादसा लैंडिंग स्पॉट से सिर्फ 10 किलोमीटर की दूरी पर हुआ। जो विजुएल सामने आए हैं उसमें दिख रहा है कि वह पूरी तरह से जल चुका है। 

बेडशीट-कंबल से बनाया गया ट्रेचर
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हादसे के बाद सबसे पहले स्थानीय लोग पहुंचे। वे पास की जगहों से कंबल और रजाई मंगा रहे थे, जिससे की जले हुए लोगों को बचाया जा सके। वे कंबल और बेडशीट से स्ट्रेचर बना रहे थे। उन्हीं स्ट्रेचर से वे घायलों को बाहर निकाल रहे थे। अन्य लोग बाल्टी और घरों में इस्तेमाल होने वाली पाइप के जरिए आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे थे।

जहां हादसा हुआ, वहां पास में रहने वाले कुमार नाम का एक युवक ने हेलिकॉप्टर को दुर्घटनाग्रस्त होते हुए देखा। द न्यूज मिनट्स की रिपोर्ट के मुताबिक, हेलिकॉप्टर नानजप्पनचथिराम इलाके के कट्टेरी पार्क में दुर्घटनाग्रस्त हुआ। जमीन पर मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने एक तेज आवाज सुनी और हेलिकॉप्टर को आसमान से गिरते और आग की लपटों में देखा। इसके बाद उन्होंने देखा कि तीन से चार लोग हेलिकॉप्टर से जलते हुए गिर रहे थे।

"भयानक तेज आवाज सुनाई दी, आग के लपटें मेरे घर से भी ऊपर थीं"
चश्मदीद ने बताया, मैंने हेलीकॉप्टर को नीचे आते देखा। भयानक तेज आवाज सुनाई दी। यह एक पेड़ से टकराया और आग लग गई थी। चश्मदीद कृष्णस्वामी ने कहा, हेलिकॉप्टर जमीन पर गिरने से पहले पास के एक बड़े पेड़ से टकरा गया। कृष्णस्वामी ने बताया कि उनका घर दुर्घटनास्थल से करीब 100 मीटर दूर है। दुर्घटना दोपहर करीब 12.20 बजे हुई। दुर्घटना मेट्टुपालयम और कुन्नूर के बीच एक घाट रोड पर हुई। कृष्णास्वामी ने कहा, जब मैं भागा तो धुएं के गुबार थे। मिनटों में आग मेरे घर से भी ऊंचाई पर थी। कुमार नामक एक लड़का पुलिस और दमकल अधिकारियों को फोन करने के लिए दौड़ा। मैंने देखा कि कोई जल रहा है और गिर रहा है। तीन अन्य लोग जलते हुए नीचे गिर रहे थे।  

ये भी पढ़ें.

महिला ने विमान के अंदर बिल्ली को कराई Breastfeeding, क्रू मेंबर ने रोका तो ऐसा विवाद हुआ कि कहानी हो गई वायरल

Pakistan में मौत का तांडव: सैकड़ों लोगों ने श्रीलंकाई नागरिक को घेरकर मारा-हाथ पैर तोड़े, फिर जिंदा जलाया

मॉल के बीचो बीच खड़ी थी लड़की,ध्यान से देखने पर पता चला कि शरीर पर नहीं थे कपड़े-कराया था बॉडी पेंट

'मुझे पैदा ही क्यों होने दिया, मार देते..' लड़की ने मां के डॉक्टर पर लगाए आरोप, मिला करोड़ों रु का मुआवजा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios