Asianet News HindiAsianet News Hindi

IAS ने सिंचाई के नए तरीके वाली इस वीडियो को कहा- शानदार, यूजर्स बोले- यह पशुओं का शोषण है

आईएएस अफसर अवनीश शरण ने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो पोस्ट किया है, जिस पर यूजर्स मिली-जुली प्रतिक्रिया दे रहे हैं। कुछ यूजर्स इसे पशुओं के शोषण का तरीका बता रहे हैं, तो कुछ इसे इनोवेशन का आइडिया बता रहे। 

IAS Officer Awanish Sharan shared Viral video of Creative Irrigation Technique apa
Author
First Published Sep 24, 2022, 10:54 AM IST

ट्रेंडिंग डेस्क। भारत के लोग अपनी हैरतअंगेज रचनात्मकता और जुगाड़ के कारण कई ऐसे किफायती तरीके ईजाद कर देते हैं, जो न केवल सफल होते हैं बल्कि, लोगों का चौंका भी देते हैं। उनका यह तरीका किसी को भी हरा सकता है, इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता। सोशल मीडिया पर  सक्रिय रहकर हमेशा चर्चा में रहने वाले आईएएस अधिकारी अवनीश शरण ने इस संबंध में एक वीडियो पोस्ट की है, जिसमें बैल को ट्रेडमिल जैसी मशीन पर चलते हुए दिखाया गया है। 

यह मशीन एक पंप से जुड़ी होती है, जो सिंचाई के लिए खेतों में पानी पहुंचाने में मददगार साबित होती है। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर अपने अकाउंट हैंडल से अवनीश शरण ने करीब डेढ़ मिनट का यह वीडियो पोस्ट किया है। वीडियो को करीब डेढ़ लाख बार देखा गया है और करीब आठ हजार यूजर्स ने इसे पसंद किया है। वहीं, करीब 13 सौ से अधिक यूजर्स ने इसे रीट्वीट किया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक आदमी एक इलेक्ट्रिक मोटर से जुड़े कई प्रकाश बल्बों पर स्विच कर रहा है। 

 

 

'रूरल इंडिया इनोवेशन, इट्स अमेजिंग'
यह अन्य मशीन से जुड़ा हुआ है और कई बैलों को ऐसी ट्रेडमिल जैसी मशीनों को चलाते हुए देखा जा सकता है। अवनीश शरण ने पोस्ट शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा, रूरल इंडिया इनोवेशन, इट्स अमेजिंग। शेयर किया गया यह वीडियो क्लिप कुछ घंटों में वायरल हो गया। जिस किसी ने भी जानवरों के अधिक शोषण के इन तरीकों को विकसित किया है, उसका ट्विटर यूजर्स पोस्ट के कमेंट बॉक्स में अपनी टिप्पणियों के जरिए मजाक उड़ा रहे हैं। 

यूजर्स की मिली-जुली प्रतिक्रिया, इनोवेशन की सराहना 
हालांकि, बहुत से सोशल मीडिया यूजर्स ने इस इनोवेशन की तारीफ और सराहना भी की है। एक यूजर ने लिखा, जानवरों के दर्द की अनदेखी नहीं की जा सकती। ऐसी जगहों पर उन्हें चलने के लिए मजबूर किया जा रहा है। एक यूजर ने कहा, यह धीमा लेकिन आगे बढ़ने का ठोस तरीका है। वहीं, तीसरे यूजर ने लिखा, ऐसे स्वदेशी इनोवेशन के जरिए पारंपरिक ज्ञान का भी उपयोग करते हुए देश की अर्थव्यवस्था में युवाओं को शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। वहीं, एक यूजर ने इसे पशु शोषण का खराब तरीका बताया है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

बुजर्ग पति का वृद्ध महिला कैसे रख रही खास ख्याल.. भावुक कर देगा यह दिल छू लेना वाला वीडियो 

मां ने बेटे को बनाया ब्वॉयफ्रेंड और साथ में किए अजीबो-गरीब डांस, भड़के लोगों ने कर दी महिला आयोग से शिकायत

कौन है PFI का अध्यक्ष ओमा सलाम, जानिए इस विवादित संगठन का अध्यक्ष बनने से पहले वो किस विभाग का कर्मचारी था

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios