Asianet News HindiAsianet News Hindi

लड़की के शरीर में नहीं था प्राइवेट पार्ट, डॉक्टर्स ने रोबोटिक सर्जरी की मदद से किया चमत्कार

एक रिपोर्ट के मुताबिक, मेयर-रोकिटांस्की-कुस्टरहॉसर सिंड्रोम (Mayer Rokitansky Kuster Hauser syndrome) एक जन्मजात विसंगति है। इससे प्राइवेट पार्ट या तो बंद हो जाता है। या फिर विकसित ही नहीं होता। 

Mumbai doctors treat Mayer Rokitansky KusterHauser syndrome with the help of robotic surgery kpn
Author
Mumbai, First Published Dec 2, 2021, 7:28 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. रोबोटिक सर्जरी (Robotic Surgery) । नाम सुनने में थोड़ा अजीब लग सकता है। लेकिन ये खुद में एक चमत्कार जैसा है। मुंबई के डॉक्टर्स ने ऐसा ही एक चमत्कार कर दिखाया। उन्होंने रोबोटिक सर्जरी के जरिए वजाइना का रिकंस्ट्रक्शन किया। दरअसल, मुंबई के एक हॉस्पिटल और मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट के डॉक्टरों ने मेयर-रोकिटांस्की-कुस्टरहॉसर (Mayer Rokitansky KusterHauser Syndrome) (MRKH) सिंड्रोम नाम की दुर्लभ बीमारी से पीड़िता महिला की सर्जरी की। उसकी उम्र 22 साल की है। 

क्या है मेयर-रोकिटांस्की-कुस्टरहॉसर सिंड्रोम
आसान भाषा में कहें तो इस सिंड्रोन की वजह से प्राइवेट पार्ट ठीक से विकसित नहीं होता है। इस सिंड्रोन के होने पर महिलाओं में जननांग और यूट्रस अविकसित होता है। हालांकि बाहरी जननांग सामान्य होते हैं। इस सिंड्रोन की वजह से 5000 में से एक महिला ही प्रभावित होती है। इससे महिलाओं का मासिक धर्म भी नहीं होता है। ये इसके लक्षणों में से एक है।

कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी हॉस्पिटल और मेडिकल रिसर्च के डॉक्टर संजय पांडे ने कहा कि अक्सर एमआरकेएच सिंड्रोम का पहला ध्यान देने योग्य संकेत यही होता है कि मासिक धर्म 16 साल की उम्र से शुरू नहीं होता है। आमतौर पर लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डॉक्टरों ने इस सिंड्रोम से पीड़ित 22 साल की महिला के इलाज के लिए रोबोटिक सर्जरी की मदद ली, जिसके जरिए प्राइवेट पार्ट और अंदर के पार्ट को फिर से सही किया।  

एक रिपोर्ट के मुताबिक, एमआरकेएच सिंड्रोम एक जन्मजात विसंगति है। इससे प्राइवेट पार्ट या तो बंद हो जाता है। या फिर विकसित ही नहीं होता। हालांकि गर्भाशय मौजूद होता है। दोनों स्थितियों में माता-पिता या डॉक्टर्स को इस बीमारी के बारे में तुरन्त जानकारी नहीं मिल पाती है। जब उम्र 16 साल तक होती है, तब ही इस सिंड्रोम का पता चलता है। इसके कई लक्षणों में से मुख्य लक्षण है कि महिलाओं में मासिक धर्म रुक जाता है।

ये भी पढ़ें...

पति ने क्यों कहा, डिलीवरी के वक्त लेबर रूम में तुम्हारा देवर भी रहेगा, ये सुनकर भड़क गई पत्नी

मेरा चेहरा-होंठ सबकुछ कॉपी कर लिया, एडल्ट डॉल के लिए खुद के चेहरे के इस्तेमाल पर भड़की मॉडल

नेता हो तो ऐसी: लेबर पेन हुआ तो साइकिल चलाकर हॉस्पिटल पहुंची, इसके बाद जो हुआ पूरी दुनिया कर रही सलाम

गजब का ऑफर: रोबोट में लगाने के लिए चेहरे की जरूर, छोटी सी शर्त पूरी करने पर मिलेंगे 1.5 करोड़ रुपए

Shocking: बेघर लड़की ठंड से बचने के लिए अपना जिस्म बेचती है, रात बीत जाए इसलिए पुरुषों के साथ सोती ह

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios