Asianet News Hindi

सूर्य दे रहा हो अशुभ फल तो पहनना चाहिए माणिक, जानें इसे किस धातु की अंगूठी में जड़वाना चाहिए?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कुंडली में अगर सूर्य अशुभ स्थिति में हो तो उससे बचने के लिए कई प्रकार के रत्न पहने जाते हैं। इन सभी में माणिक यानी रूबी सबसे उत्तम होता है।

Wear ruby for sun inauspicious effect, know in which metal it should be worn
Author
Ujjain, First Published Jul 7, 2021, 11:37 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. माणिक रत्न के भी कई प्रकार होते हैं। ये सभी अलग-अलग रूप से प्रभाव दिखाते हैं। आज हम आपको माणिक के प्रकार तथा इससे संबंधित विशेष जानकारी दे रहे हैं, जो इस प्रकार है…

माणिक के प्रकार: रंगभेद से माणिक पांच प्रकार का होता है।

पद्मराग: हल्की पीली आभा से युक्त गहरे लाल रंग का तप्त कंचन जैसा और प्रकाश किरणें देने वाला।
सौगन्धिक: अनार के दाने के रंग जैसे दूसरे नंबर का यह माणिक पद्मराग की अपेक्षा कम असर का होता है।
नीलागन्धी: इस रत्न का रंग हल्की और नीली आभा लिए है।
कुरुबिन्द: हल्की पीली आभा से युक्त यह रत्न चमक में अधिक होता है।
जामुनी: लाल कनेर या जामुन के रंग का यह रत्न सामान्य मूल्य का होता है।

माणिक से जुड़ी अन्य खास बातें…
1. वैसे तो माणिक्य के कई उपरत्न होते हैं लेकिन उनमें से प्रमुख हैं, रेड गार्नेट यानी तामड़ा, रेड टर्मेलाइन यानी लाल तुरमली, स्पिनील या स्पाइनल यानी कंटकिज़, रेड स्वरोस्की आदि।
2. माणिक रत्न का प्रमुख उपरत्न लालड़ी अथवा सूर्यमणि को माना है। लाल, लालड़ी, माणिक्य मणि यह सब एक ही हैं। रंगभेद से लालड़ी दस प्रकार की पायी जाती है। यह भेद बहुत ही सूक्ष्म होते हैं।
3. माणिक को तांबे या सोने की अंगूठी में जड़वाकर अनामिका में धारण करते हैं। माणिक के सभी उपरत्नों को चांदी में पहना जा सकता है। खालिस तांबे की अंगूठी से भी सूर्य पीड़ा को शांत किया जा सकता है।
4. माणिक को नीलम, हीरा और गोमेद के साथ पहनना नुकसानदायक हो सकता है। माणिक को मोती, पन्ना, मूंगा और पुखराज के साथ पहन सकते हैं।
5. माणिक्य को लोहे की अंगूठी में जड़वाकर पहनना नुकसानदायक है। माणिक्य का प्रभाव अंगूठी में जड़ाने के समय से 4 वर्षों तक रहता है, इसके बाद दूसरा माणिक्य जड़वाना चाहिए।

ज्योतिषीय उपायों के बारे में ये भी पढ़ें

केतु के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए पहनते हैं लहसुनिया, लेकिन जानिए कब पहनना हो सकता है नुकसानदायक

बिना ज्योतिषीय सलाह के न करें कोई उपाय, इससे आप फंस सकते हैं परेशानियों में, ध्यान रखें ये 10 बातें

मानसिक शांति और सुख-समृद्धि के लिए घर में रखें भगवान बुद्ध की प्रतिमा, इन बातों का भी रखें ध्यान

गोमेद के साथ इन ग्रहों से संबंधित रत्न भूलकर भी न पहनें, इससे बनते हैं दुर्घटना के योग

कुंडली के पहले भाव से नहीं मिल रहे शुभ फल तो करें मंगलवार का व्रत और मूंगा रत्न पहनें

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios