Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP TET CASE: यूपी STF की बड़ी कार्रवाई, प्रिंटिंग प्रेस डायरेक्टर के बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए यूपी टीईटी परीक्षा में हुए पेपर लीक मामले में मंगलवार को यूपी एसटीएफ टीम ने प्रश्न पत्र छापने वाले प्रिंटिंग प्रेस के डायरेक्टर को गिरफ्तार किया। वहीं, इसी मामले में निलंबित हुए परीक्षा नियामक अधिकारी संजय उपाध्याय को बुधवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया। आपको बता दें कि मामले में पूछताछ के लिए डायरेक्टर को नोएडा बुलाया गया था, जहां उसकी भूमिका संदिग्ध पाए जाने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। 

Director of printing press arrested in UP TET paper leak case, UP STF arrested 37 people
Author
Lucknow, First Published Dec 1, 2021, 8:43 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नोएडा/लखनऊ: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) का पेपर लीक (UPTET Paper Leak Case) किए जाने के मामले में मंगलवार को यूपी एसटीएफ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए यूपी टीईटी का प्रश्न पत्र छापने वाले प्रिटिंग प्रेस के डायरेक्टर राय अनूप प्रसाद को नोएडा से गिरफ्तार किया, जिसके बाद बुधवार सुबह परीक्षा नियामक  प्राधिकारी संजय उपाध्याय को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

आपको बता दें कि एक दिन पहले इसी मामले में दोषी पाए जाने के बाद संजय उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया गया था। इसके साथ ही दिल्ली के रहने वाले राय अनूप प्रसाद को पूछताछ के लिए नोएडा बुलाया गया था, पूछताछ के दौरान मामले में उसकी भूमिका संदिग्ध पाए जाने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। इस बीच मंगलवार को ही बस्ती जिले से एक सहायक अध्यापक समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया। इस तरह मामले में अब तक 37 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

पूछताछ के लिए डायरेक्टर को बुलाया गया था नोएडा
एसटीएफ को जांच के दौरान पता चला कि यूपीटीईटी 2021 के पेपर की छपाई का काम सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी प्रयागराज द्वारा 26 अक्तूबर 2021 को आरएसएम फिनसर्व लिमिटेड को दिया गया था। यह प्रिंटिंग प्रेस बी-2/68, मोहन कोआपरेटिव एरिया फेज-2, बदरपुर नई दिल्ली में है। पेपर लीक होने का मामला सामने आने पर इसके डायरेक्टर राय अनूप प्रसाद को पूछताछ के लिए सोमवार को एसटीएफ के नोएडा कार्यालय में बुलाया गया था।

डायरेक्टर ने स्वीकार की गलती, गंभीर धाराओं में FIR दर्ज कर भेजा गया जेल
राय अनूप प्रसाद ने स्वीकार किया कि पेपर (प्रश्नपत्र) की छपाई के दौरान गोपनीयता एवं सुरक्षा मानकों की अनदेखी हुई, जिससे परीक्षा से पहले ही पेपर लीक हो गया और सरकार को परीक्षा निरस्त करनी पड़ी। इस तरह लीक मामले में प्रथमदृष्ट्या संलिप्तता पाए जाने पर राय अनूप प्रसाद को हिरासत में ले लिया गया। इसके बाद मंगलवार को गौतमबुद्धनगर के सूरजपुर थाने में राय अनूप प्रसाद पुत्र राय परमेश्वरी प्रसाद एवं चार अन्य के विरुद्ध आईपीसी की धारा 420, 409 व 120 बी के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया। राय अनूप प्रसाद को इसी मुकदमे में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए भी टीमें सक्रिय हैं। 

मामले में सहायक अध्यापक समेत 5 अन्य भी हुए गिरफ्तार
पेपर लीक प्रकरण में बस्ती जिले में सहायक अध्यापक समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से बरामद मोबाइल में प्रश्नपत्र के साथ ही उत्तर पुस्तिका भी मिली है। एसटीएफ की लखनऊ व गोरखपुर यूनिट ने भी बस्ती के लालगंज थाने पर पहुंचकर आरोपितों से पूछताछ की। इनसे नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों के बारे में छानबीन की जा रही है। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि एंटी नॉरकोटिक्स व लालगंज थाने की संयुक्त टीम ने लालगंज थाने के गौराघाट पुल से गिरफ्तार किया। इसमें लालगंज थाने के तिघरा गांव निवासी सत्येन्द्र सिंह उर्फ सोनू बस्ती जिले के प्राथमिक विद्यालय भानपुर में सहायक अध्यापक के पद पर कार्यरत है।

UP-TET Paper Leak: एक्शन में CM योगी...हटाए गए परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय

UP TET Paper Leak: एसटीएफ खंगालने में जुटी सॉल्वर गैंग से जुड़े सभी तार, 20 और लोगों का नाम आया सामने

UP-TET Exam: 26 दिसंबर को हो सकती है TET की परीक्षा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios