Asianet News HindiAsianet News Hindi

रस्सी के 3 टुकड़े और शव जमीन पर: नरेंद्र गिरि की मौत का वीडियो आया सामने, जिसमें कई चौंकाने वाली बातें


अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (akhada parishad) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की संदिग्ध हालत में हुई मौत को लेकर  कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। अब मौत के बाद का एक वीडियो सामने आया है।

Narendra Giri shocking video surfaces after his death
Author
Prayagraj, First Published Sep 23, 2021, 11:14 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश). अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (akhada parishad) के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की संदिग्ध हालत में हुई मौत को लेकर  कई चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। यूपी सरकार (UP Government) की सिफारिश पर जांच सीबीआई को सौंप दी है। अब इस मामले में एक वीडियो सामने आया है। यह वीडियो उस वक्त है जब महंत का शव कमरे में लटका मिला था।

एक मिनट 45 सेकंड का है पूरा यह वीडियो
दरअसल, जब कमरे में पुलिस दाखिल हुई उस वक्त का यह वीडियो है। जिसमें दिखाई दे रहा है कि नरेंद्र गिरि का शव ज़मीन पर पड़ा है और पंखा चल रहा है। जिसको लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो हो रहे हैं। एक मिनट 45 सेकंड के इस वीडियो में पुलिस इस दौरान कमरे में मौजदू शिष्यों से पूछताछ करते दिख रही है। वहीं पास में नरेंद्र गिरि के सबसे प्रिय शिष्य बलबीर गिरि खड़े हुए हैं।

रस्सी के तीन हिस्से..खड़े हो रहे कई सवाल
बता दें कि वीडियो में मंहत की फंदे वाली रस्सी के तीन हिस्से दिख रहे हैं, जिससे मामला संदिग्ध दिखाई पड़ा रहा। रस्सी का पहला हिस्सा पंखे में फंसा था, दूसरा हिस्सा नरेंद्र गिरि के गले में लटका था। जबकि तीसरा हिस्सा जो था वह एक कांच की टेबल पर रखा हुआ था। जिसको लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं।

पुलिस ने आनंद गिरी से 12 घंटे तक पूछताछ
बता दें कि नरेंद्र गिरी के शिष्य आनंद गिरी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने के तहत  मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने सुसाइड नोट मिलते ही आनंद गिरी और  हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप को भी हिरासत में लिया था। पुलिस ने इस मामले में  आनंद गिरी से करीब 12 घंटे तक पूछताछ की। इस दौरान पुलिस ने आद्या तिवारी और आनंद गिरि को आमने-सामने बैठाया था। बुधवार को  आनंद गिरी और आद्या तिवारी को कोर्ट में पेश कर 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

एसआईटी भी गठित, जांच शुरू
बता दें कि यूपी सरकार ने सीबीआई जांच के पहले ही एसआईटी गठित कर दी है। एसआईटी ने जांच भी शुरू कर दी है। एसआईटी में 18 लोग शामिल हैं। प्रयागराज पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर तीन लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है।

महंत का सियासी कनेक्शन: मोदी से योगी-मुलायम से अखिलेश तक, देखें इनके सामने सिर झुकाते VIPs की फोटोज

कौन हैं आनंद गिरी जिनपर लग रहा संगीन आरोप, लग्जरी लाइफ के शौकीन-बुलेट और प्लेन से करते हैं सफर

समाधि में लीन महंत नरेंद्र गिरी: शिष्य बलवीर ने की पूरी क्रिया, 13 अखाड़ों के संत पहुंचे..जानिए महत्व
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios