Asianet News HindiAsianet News Hindi

ये है भारत का इस्पाइडर मैन : जिसे मौत भी इस तरह छू नहीं सकती..बिजली के तारों पर यूं लगाता है दौड़

 उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एक ऐसा शख्स है, जो बिजली के तारों को पकड़कर नंगे पैर बड़े आराम से चलता है। जैसे वह सड़क पर मॉनिंग वॉक कर रहा हो। उसे कोई करंट भी नहीं लगता है और मौत से भी नहीं डरता। 

Uttar Pradesh, man in Raebareli do not feel electric current, people call him India spiderman
Author
Raebareli, First Published Oct 26, 2021, 6:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रायबरेली (उत्तर प्रदेश). अक्सर लोगों से सुना है कि 'आग, पानी और बिजली' इनसे दूर रहना चाहिए, क्योंकि जरा सी गलती पर जान जा सकती है। लेकिन उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एक ऐसा शख्स है, जो बिजली के तारों को पकड़कर नंगे पैर बड़े आराम से चलता है। जैसे वह सड़क पर मॉनिंग वॉक कर रहा हो। उसे कोई करंट भी नहीं लगता है और मौत से भी नहीं डरता। तभी तो लोग उसको देसी स्पाइडर मैन के नाम से पुकारते हैं।

यह भी पढ़िए-ये UP है भैया: श्राद्ध कार्यक्रम में बार बालाओं ने लगाए ठुमके, लोग तमंचा लहराकर नाचे..फिर रोते रहे

रेलवे के लिए करता है काम
दरअसल, अनोखा कारनामा करने वाला यह युवक भारतीय रेलवे का एक कर्मचारी है। जो विभाग के लिए इलेक्ट्रिक लाइन चौड़ीकरण में काम करता है। जब कभी पटरियों के पाल वाली तारों में कोई परेशानी होती है तो इस युवक को बुलाया जाता है। वह नंगे पैर खंभो पर चढ़कर तारों पर जाता है और वायर को सही कर देता है। 

यह भी पढ़ें-Bihar Panchayat Chunav: कहीं बाप ने बेटे को हराया, कहीं विधायकों के घरवालों को निराशा, जानिए कौन बने मुखिया?

तारों पर बंदरों की तरह टहलता है
युवक इतनी आसानी से इन करंट वाले तारों पर चलता है, जैसो कोई बंदर घूम रहा हो। जिस तरह से हम आप ने हॉलीवुड फिल्मों में स्पाइडर मैन को दीवारों पर चढ़ते-कूदते सुना और देखा है। ठीक उसी तरह यह युवक भी तारों पर टहलता है। उसे मौत का कोई डर नहीं लगता है। युवक को पर करंट का भी कोई  असर नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें - शिखर जमीन पर..महाराजा ने जब लगाया झाड़ू, देखिए सिंधिया ने पहली बार पब्लिक प्लेस में इस तरह की सफाई..

युवक ने ना तो सेफ्टी गार्ड पहन रखा है और ना ही जूता
वहीं यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जब मीडिया ने विभाग के संबंधित अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। आप देख सकते हैं कि युवक ने ना तो सेफ्टी गार्ड पहन रखा है और ना ही सेफ्टी गार्ड जैसी कोई चीज। ना तो रेलवे के कानूनों का पता है ना ही सुरक्षा मानकों की कोई देखी। ऐसे हालातों में कभी कोई हादसा हो सकता है। इसकी जिम्मेदारी आखिर कौन लेगा।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios