Asianet News HindiAsianet News Hindi

बांग्लादेश में क्रिकेटर ने सोशल मीडिया पर दी दुर्गा पूजा की बधाई, पीछे पड़ गए कट्टरपंथी

बांग्लादेश में कुछ कट्टरपंथी मुस्लिम इस साल फिर दुर्गा पूजा पर माहौल बिगाड़ने की कोशिश में हैं। इस बार वे बांग्लादेश की ओर से खेलने वाले हिंदू क्रिकेटर  लिटन दास के पीछे पड़े हुए हैं और उन्हें खुलेआम धमकी दे रहे हैं। 

Bangladesh Hindu Cricketer Abused For Posting Goddess Durga Photo To Celebrate Mahalaya apa
Author
First Published Sep 27, 2022, 10:17 AM IST

ढाका। दुर्गा पूजा की बधाई देना एक हिंदू क्रिकेटर को भारी पड़ रहा है। यह शर्मनाक और भयावह मामला बांग्लादेश का है, जहां बांग्लादेश की ओर से खेलने वाले हिंदू क्रिकेटर लिटन दास को मुस्लिम कट्टरपंथियों ने सिर्फ इसलिए धमकी देना शुरू कर दिया, क्योंकि उन्होंने सोशल मीडिया पर मां दुर्गा की फोटो पोस्ट की और यूजर्स को दुर्गा पूजा की बधाई व शुभकामनाएं दी। 

अब तक बांग्लादेश में हिंदू धर्म से नफरत करने वाले कट्टरपंथी लोग हिंदू देवी-देवताओं के मंदिरों को निशाना बना रहे थे, मगर अब हिंदू धर्म से जुड़े नागरिकों को सेलिब्रिटिज पर भी हमला बोला जा रहा है। उन्हें धर्म परिवर्तन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। ताजा मामला बांग्लादेश में हिंदू क्रिकेटर लिटन दास का है, जिन्होंने हाल ही में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर अपने अकाउंट हैंडल से मां दुर्गा की फोटो शेयर करते हुए लोगों को दुर्गा पूजा की शुभकामनाएं दी हैं। 

Bangladesh Hindu Cricketer Abused For Posting Goddess Durga Photo To Celebrate Mahalaya apa

बता दें कि बांग्लादेश में नवरात्र से ठीक पहले महालया उत्सव मनाया जाता है। क्रिकेटर लिटन दास ने फेसबुक पेज से इस पर्व की शुभकामनाएं देते हुए मां दुर्गा की एक फोटो भी पोस्ट की। इस पोस्ट के सामने  आते ही बांग्लादेश के कट्टरपंथी मुस्लिम उनके पीछे पड़ गए। कट्टरपंथियों का कहना है कि वे जल्द ही धर्म परिवर्तन करके मुसलमान बन जाएं वरना उन पर हमले होंगे। यही नहीं, कट्टरपंथियों ने हिंदू धर्म और देवी-देवताओं के खिलाफ भी उल-जुलूल लिखना शुरू कर दिया है। 

कट्टरपंथियों को पसंद नहीं आई लिटन की पोस्ट 
लिटन कुमार दास ने अपने पोस्ट में लिखा था, सुभो महालय, मां दुर्गा आ रही हैं। हिंदू धर्म में महालय कैलाश  पर्वत से मां दुर्गा के धरती पर आगमन का प्रतीक माना जाता है। यही बात बांग्लादेशी कट्टरपंथियों को पसंद नहीं आई। वैसे, बांग्लादेश में बीते कुछ वर्षों में कट्टरपंथियों ने हिंदू धर्म पर हमले तेज किए हैं। देवी-देवताओं की मूर्तियां तोड़ना, धार्मिक स्थलों पर कब्जा करने की घटनाएं काफी हुईं, जिसके बाद दुनियाभर में इसकी निंदा होती रही है। हालांकि, वहां शेख हसीना के नेतृत्व वाली सरकार इन घटनाओं पर रोक लगा पाने में  असफल रही है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

बुजर्ग पति का वृद्ध महिला कैसे रख रही खास ख्याल.. भावुक कर देगा यह दिल छू लेना वाला वीडियो 

मां ने बेटे को बनाया ब्वॉयफ्रेंड और साथ में किए अजीबो-गरीब डांस, भड़के लोगों ने कर दी महिला आयोग से शिकायत

कौन है PFI का अध्यक्ष ओमा सलाम, जानिए इस विवादित संगठन का अध्यक्ष बनने से पहले वो किस विभाग का कर्मचारी था

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios